scorecardresearch
 

मेड इन चाइना Review: कॉमेडी के सहारे सोशल मैसेज, बोमन-राजकुमार की उम्दा एक्टिंग

मेड इन चाइना एक साधारण गुजराती शख्स के एंटरप्रन्योर बनने की दिलचस्प कहानी है. राजकुमार राव और बोमन ईरानी की दमदार अदाकारी से सजी फिल्म मेड इन चाइना कैसी बनी है चलिए जानते हैं.

राजकुमार राव राजकुमार राव
फिल्म:मेड इन चाइना
3/5
  • कलाकार :
  • निर्देशक :मिखिल मुशले

स्त्री के बाद एक बार फिर फिल्ममेकर दिनेश विजान और राजकुमार राव साथ आए हैं. मेड इन चाइना एक साधारण गुजराती शख्स के एंटरप्रन्योर बनने की दिलचस्प कहानी को कॉमेडी के तड़के के साथ दिखाती है. मेड इन चाइना पुरुषों की सेक्सुअल प्रॉब्लम और समाज में सेक्स को लेकर बने टैबू-संकोच को दूर करने का मैसेज देती है. राजकुमार राव और बोमन ईरानी की दमदार अदाकारी से सजी फिल्म मेड इन चाइना कैसी बनी है चलिए जानते हैं.

क्या है कहानी

फिल्म रघु मेहता (राजकुमार राव) की कहानी है. तंगी के माहौल में जिंदगी बसर कर रहा रघु जीवन में कुछ बड़ा करना चाहता है. वो एक सक्सेसफुल एंटरप्रन्योर बनने का सपना देखता है. अपने सपनों को उड़ान देने के लिए रघु नए नए बिजनेस आइडिया पर काम करता है. लेकिन उसका कोई भी बिजनेस नहीं चलता. इस बीच रघु अपने कजिन देवराज (सुमित व्यास) संग खानदानी बिजनेस के सिलसिले में चीन जाता है. वहां जाकर रघु की जिंदगी यू-टर्न लेती है. रघु की मुलाकात चीन के नामी बिजनेसमैन से होती है जो कि मैजिक सूप (सेक्स पावर बढ़ाने की दवा) बेचता है. चीनी बिजनेसमैन रघु को अपने साथ बिजनेस करने के लिए धमकाता है. इस बिजनेस में मुनाफा देखा रघु भारत आकर सेक्सोलॉजिस्ट डॉ. वर्दी (बोमन ईरानी) संग मिलकर इस बिजनेस को करने की ठानता है. अब रघु घरवालों से छुपकर मैजिक सूप का बिजनेस करता है. धीरे धीरे रघु की किस्मत करवट लेती है.

लेकिन तब आता है कहानी में टविस्ट. अहमदाबाद में इंडो चाइना फेस्टिवल में बतौर गेस्ट पहुंचे चीनी अफसर की रघु का मैजिक सूप पीने से मौत हो जाती है. पुलिस रघु को गिरफ्त में ले लेती है. अब क्या रघु के मैजिक सूप से ही चाइनीज जनरल की मौत हुई थी? क्या रघु का एंटरप्रन्योर बनने का सपना जेल की सलाखों तक सिमट कर रह जाएगा? रघु के बिजनेसमैन बनने की एंटरटेनिंग कहानी और बाकी ट्विस्ट्स को जानने के लिए आपको ये फिल्म देखनी पड़ेगी.

एक्टिंग

फिल्म में मौजूद सभी कलाकारों ने बढ़िया एक्टिंग की है. राजकुमार राव और बोमन ईरानी हर फ्रेम में जचे हैं. बोमन को देख थ्री इडियट्स का साइरस याद आता है. एक्टिंग के मामले में कुछ सीन्स में बोमन राजकुमार राव पर भारी पड़े हैं. मौनी रॉय इस फिल्म में भी रॉ और गोल्ड जैसी ही नजर आई हैं. सुमित वयास, गजराज राव और परेश रावल कम सीन्स में भी अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहे हैं. राजकुमार राव का काम अच्छा है लेकिन अब उन्हें अपने रोल्स में थोड़ी वैरायटी जोड़ने की जरूरत है.

डायरेक्शन

डायरेक्टर मिखिल मुशले मेड इन चाइना में फन एलिमेंट, कॉमेडी के अलावा हमारे समाज में सेक्स को लेकर बनी धारणा को दिखाने में कामयाब रहे हैं. फिल्म की कहानी और दमदार हो सकती थी. फर्स्ट हाफ को और क्रिस्प किया जा सकता था. फिल्म का सॉन्ग ओढ़नी, सनेड़ो पहले से चार्टबस्टर पर ट्रेंड कर रहा है. मूवी में कई सीन्स ऐसे हैं जो आपको हंस हंसकर लोटपोट कर देंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें