scorecardresearch
 

सदाबहार रेखा जिनकी आंखों की मस्ती के आज भी मस्ताने हजारों हैं

तमाम कठिनाइयों से लड़ते हुए रेखा अपनी रहस्यमयी शख्सियत के जरिए आज जिस मकाम पर हैं, वहां तक पहुंचना किसी के लिए भी एक बड़ी उपलब्धि हो सकती है.

रेखा रेखा

भानुरेखा गणेशन उर्फ रेखा. करोड़ों लोगों के लिए जो एक दौर में रहस्य की प्रतिमूर्ति बनीं रहीं. तमाम कठिनाइयों के बावजूद जो शिखर तक का सफर तय करने में कामयाब रही लेकिन इस जबरदस्त सफलता के बाद भी प्यार के खेल में मात ही खाती रहीं. तमिल एक्ट्रेस पुष्पावल्ली और एक्टर जेमिनी गणेशन की लव चाइल्ड रेखा का ज्यादातर महान आर्टिस्ट्स की तरह ही बचपन भी कठिनाईयों में बीता. पांच बहनें और दो भाईयों के बीच पली बढ़ी रेखा के पिता ने उन पर कभी ध्यान नहीं दिया. आर्थिक मंदी के चलते उन्हें अपनी मां का हाथ बंटाना पड़ा.

रेखा की मां के पास जब नौकरी नहीं थी तो उन्हें अपनी पढ़ाई छोड़कर काम करना शुरू किया. अपने करियर के शुरुआती दौर में वे तेलुगू की बी और सी ग्रेड फिल्मों में काम करती थीं लेकिन उन्होने 15 साल की उम्र में साउथ की फिल्मों को अलविदा कह कर बॉलीवुड में एंट्री की थी. बॉलीवुड में उनके लिए चुनौतियां आसान नहीं थीं.

रेखा ने कहा कि 'साउथ इंडियन होने की वजह से उन्हें बॉडीशेम किया गया, काली और बदसूरत कहा गया. उन्हें 15 साल की उम्र में एक एक्टर द्वारा फिल्म के सेट पर मोलेस्ट करने की भी कोशिश की गई, उन्हें अपना एक्सेट छोड़कर हिंदी को भी दुरुस्त करना था. लेकिन बचपन में कई कठिनाईयां झेल चुकीं रेखा के लिए इन चुनौतियों का डटकर मुकाबला किया. वे अपने क्रिटिक्स को इसके चलते धन्यवाद देती हैं क्योंकि उनके सहारे वे अपने आपको इंप्रूव करने में कामयाब रहीं.'

रेखा से जुड़ी तस्वीरों के लिए यहां क्लिक करें...

रेखा का प्रोफेशनल करियर भले ही सफलता की ऊंचाईयों तक पहुंचा लेकिन उनकी पर्सनल लाइफ में दुख और त्रासदियों का ही आलम रहा. उन्हें एक्टर विनोद मेहरा से प्यार हुआ लेकिन उनकी मां से उन्हें काफी शर्मिंदगी झेलनी पड़ी. एक रिपोर्ट के अनुसार, विनोद मेहरा की मां उनके रिश्ते से इतना नाखुश थीं कि एक बार रेखा, विनोद मेहरा के साथ उनके घर पहुंची तो मेहरा की मां ने रेखा को मारने के लिए चप्पल उठा ली थीं. एक मशहूर एक्ट्रेस होने के बाद भी उन्हें इस तरह जलील होना पड़ा था. विनोद और रेखा की शादी भी ज्यादा दिन नहीं चली थी.

फिर अमिताभ बच्चन और रेखा के इश्क के किस्से 80 के दौर में काफी चर्चा में रहे. अमिताभ की जया से शादी हो चुकी थी लेकिन इसके बावजूद कई मौकों पर उनके बीच की केमिस्ट्री लोगों के चर्चा का केंद्र रहती थी. रिपोर्ट्स के अनुसार, काफी ज्यादा मीडिया अंटेशन और अमिताभ जया में बढ़ती टेंशन के चलते अमिताभ ने रेखा के साथ फिल्में करना बंद कर दिया. साल 1980 में ऋषि कपूर और नीतू की शादी में रेखा सिंदूर लगाकर पहुंच गईं और अमिताभ से मुलाकात भी की. इसके अलावा बोल्ड एंड बिंदास रेखा जया बच्चन के मना करने के बाद भी साल 83 में घायल अमिताभ से मिलने पहुंच गई थी.

अंत तक नहीं रुका त्रासदियों का सिलसिला

इसके बाद उनकी लाइफ में एक बिजनेसमैन की एंट्री हुई जो उनसे बेतहाशा मोहब्बत करने का दावा करता था लेकिन शादी के एक साल के अंदर ही इस शख्स ने फिल्मी स्टाइल में रेखा के दुपट्टे से फांसी लगा ली थी. इस मौत को लेकर रेखा को ब्लेम किया गया. इंडस्ट्री के लोगों तक उन्हें इस दौरान बेरुखी दिखाई. हालांकि हर बार की तरह इस बार भी रेखा इस त्रासदी से निकलने में कामयाब रहीं. एक ट्रेंडसेटर के तौर पर ना केवल उन्होंने फिल्मों में महिलाओं के लीड कैरेक्टर्स इंडस्ट्री में सबसे पहले करने शुरु किए थे बल्कि रेखा पहली ऐसी एक्ट्रेस भी हैं जिन्होंने एक्ट्रेसेस मेंं जिम कल्चर की शुरुआत की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें