scorecardresearch
 

तनुश्री के आरोपों पर बोले अजय देवगन, 'हालात मेरे बस में नहीं थे'

कुछ दिनों पहले तनुश्री दत्ता ने अजय देवगन पर आलोकनाथ संग फिल्म दे दे प्यार दे में काम करने को लेकर तंज कसा था. इस बात से नाराज अजय देवगन ने अपनी सफाई में कहा कि फिल्म की शूटिंग आलोकनाथ पर आरोप लगने से पहले ही पूरी हो चुकी थी.

दे दे प्यार दे फिल्म में एक सीन के दौरान अजय और आलोकनाथ दे दे प्यार दे फिल्म में एक सीन के दौरान अजय और आलोकनाथ

कुछ दिनों पहले तनुश्री दत्ता ने अजय देवगन पर आलोकनाथ संग फिल्म दे दे प्यार दे में काम करने को लेकर तंज कसा था. तनुश्री के अलावा कंगना की बहन रंगोली ने भी सिलेसिलेवार ट्वीट्स में अजय देवगन पर दिखावी होने का आरोप लगाया. इस बात से नाराज अजय देवगन ने हाल ही में एक आधिकारिक बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि फिल्म की शूटिंग आलोकनाथ पर आरोप लगने से पहले ही पूरी हो चुकी थी. उस वक्त हालात मेरे बस में नहीं थे.

फिल्म 'दे दे प्यार दे' में आलोकनाथ संग काम करने के सवालों पर आखिरकार अजय ने अपनी चुप्पी तोड़ी. उन्होंने कहा कि 'यह फिल्म पिछले साल अक्टूबर में रिलीज होनी चाहिए थी क्योंकि इसकी शूटिंग सितंबर में पूरी हो चुकी थी. आलोकनाथ के साथ जो भी सीन शूट किए गए थे उनकी शूटिंग अगस्त में पूरी हो चुकी थी. यह सभी सीन 40 दिन के अंदर अलग अलग सेट पर शूट किए गए थे जिसमें एक आउटडोर लोकेशन भी था. इसमें 10 एक्टर्स शामिल थे. आलोकनाथ के साथ शूटिंग पूरी होने के बाद उनपर आरोप सामने आए.'

उन सीन्स में आलोकनाथ को हटाकर सभी एक्टर्स से दोबारा डेट और कांबीनेशन लेकर री-शूट करना लगभग नामुमकिन था. इससे प्रोड्यूसर्स के काफी पैसों का नुकसान भी होता. आलोकनाथ को रिप्लेस करने का फैसला केवल मेरा नहीं हो सकता था. पूरी यूनिट के फैसले के साथ मुझे जाना ही पड़ता. मैं मीटू अभियान को लेकर बेहद संवेदनशील हूं. लेकिन ऐसे हालात में जब उसपर मेरा काबू नहीं है तो पता नहीं क्यों लोग मुझे एक असंवदेनशील और झूठा इंसान बतलाने की कोशिश कर रहे हैं.

दे दे प्यार दे फिल्म के ट्रेलर लांच के दौरान आलोकनाथ से जुड़े किसी भी सवाल का जवाब देने से अजय बचते रहे. इन सवालों पर अजय ने कहा था कि आलोकनाथ पर आरोप लगने से पहले ही फिल्म की शूटिंग पूरी हो चुकी थी. गौरतलब है कि पहले अजय देवगन ने सोशल मीडिया पर मीटू अभियान का सपोर्ट किया था. अजय ने कहा था कि वे ऐसे किसी व्यक्ति के साथ काम नहीं करेंगे जिनपर इस तरह के गलत काम करने का आरोप हो.

पिछले साल ट्वीटर पोस्ट के जरिए उन्होंने लिखा था वे इस तरह की घटनाओं से बहुत परेशान हैं. वो और उनकी कंपनी महिलाओं को इज्जत और सुरक्षा देने में विश्वास रखती है. अगर किसी ने किसी भी महिला के साथ कुछ गलत किया है तो ना एडीएफ और ना ही वे उस आरोपी के साथ हैं. हालांकि बाद में पीटीआई के साथ एक इंटरव्यू के दौरान अजय ने कहा कि बहुत से ऐसे नाम हैं जिनका नाम सामने आने पर उन्हें झटका लगा है, मगर मैं किसी के साथ तब तक जजमेंटल नहीं हो सकता जब तक कि वह आरोप सिद्ध नहीं हो जाते.

हाल ही में अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने मीटू के आरोपित आलोकनाथ संग काम करने पर अजय देवगन और फिल्म के निर्माताओं की जमकर खिंचाई की थी. उन्होंने पोस्ट के जरिए अजय देवगन की ओर इशारा करते हुए कहा था कि पूरा शहर झूठे, दिखावी लोगों और पाखंडियों से भरा है. बता दें कि आलोकनाथ पर लेखिका विनता नंदा ने रेप का आरोप लगाया है. तनुश्री ने कहा कि एक बार आलोकनाथ पर लगे आरोप सार्वजनिक हो जाते तो आलोकनाथ के सभी सीन री-शूट किए जा सकते थे. मगर एक दुष्कर्म आरोपी को फिल्म में रखकर सिर्फ विनता नंदा ही नहीं बल्कि हम सभी पर उन्होंने जीत हासिल की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें