scorecardresearch
 

मोनिका बेदी के लिए प्रोड्यूसर्स को धमकाता था अबू सलेम, ऐसे मिली फिल्में

जब मोनिका बॉलीवुड में आई थीं, तब अबू सलेम प्रोड्यूसर-डायरेक्टर को डरा-धमकाकर मोनिका को फिल्म में काम दिलवाता था. सलेम मोनिका को टॉप इंडियन एक्ट्रेस में शामिल करना चाहता था. उसे लगता था कि एक बार मोनिका सफल अभिनेत्री बन गई, फिर कभी वह शादी के लिए इंकार नहीं करेगी.

X
संजय दत्त, मोनिका बेदी
संजय दत्त, मोनिका बेदी

बॉलीवुड में अबू सलेम की कैसी चलाती थी इसे बताने की जरूरत नहीं है. प्रोड्यूसर्स में उसका इतना खौफ था कि एक फोन भर से फिल्म की कास्टिंग बदल जाती थी. अपनी प्रेमिका मोनिका बेदी को उसने धमकाकर कई फ़िल्में दिलाई थी. इन बातों का खुलासा एस हुसैन जैसी ने अबू सलेम के ऊपर अपनी एक किताब 'माय नेम इज अबू सलेम' में किया था. कुछ साल पहले किताब के अंश अंग्रेजी वेबसाइट 'डेली यो' में प्रकाशित हुए थे.

हालांकि अबू की तमाम कोशिशों के बावजूद बतौर एक्ट्रेस मोनिका ज्यादा कुछ नहीं कर पाई. वैसे वह उस जमाने के सुपरस्टार संजय दत्त के अपोजिट भी नजर आई थी. बता दें कि मोनिका, अबू सलेम के साथ पुर्तगाल में थी. उसे 2002 में प्रत्यर्पण के बाद भारत लाया गया था. मोनिका को भोपाल जेल में भी रहना पड़ा. जेल से निकलने के बाद उसने अबू से अपने रिश्ते तोड़ लिए और एक इंटरव्यू में उससे मुलाक़ात को एक हादसा करार दिया.

इस फ्लॉप हीरोइन के बॉयफ्रेंड रहे अबू सलेम को टाडा की विशेष अदालत ने 1993 मुंबई बम धमाकों के मामले में दोषी पाते हुए गुरुवार को उम्र कैद की सजा सुनाई है.

डेली यो में छपे जैदी के लेख के मुताबिक, 'जब मोनिका बॉलीवुड में आई थीं, तब अबू सलेम प्रोड्यूसर-डायरेक्टर को डरा-धमकाकर उन्हें फिल्म में काम दिलवाता था. सलेम, मोनिका से शादी कर उसे यूएस ले जाना चाहता था, लेकिन उससे पहले वह मोनिका को टॉप इंडियन एक्ट्रेस में शामिल करना चाहता था. उसे लगता था कि एक बार मोनिका सफल अभिनेत्री बन गई, फिर कभी वह शादी के लिए इंकार नहीं करेगी.'

वो 7 मौके, जब अंडरवर्ल्ड गैंगस्टर्स के साथ नजर आए सितारे

मोनिका को पहला बड़ा ब्रेक अबू सलेम के कारण ही मिला था. ये फिल्म थी 'जानम समझा करो'. अप्रैल 1999 में रिलीज हुई इस फिल्म को राजकुमार संतोषी ने लिखा था और अंदालेब सुल्तानपुरी ने डायरेक्ट किया था. फिल्म में सलमान खान और उर्मिला मतोड़कर थीं. सलेम के दबाव बनाने के बाद मोनिका को एक छोटा सा रोल फिल्म में दिया गया था.

इसके बाद मोनिका को दूसरी बड़ी फिल्म मिली थी जोड़ी नंबर वन. इसे डेविड धवन ने निर्देशित किया था. इस फिल्म में गोविंदा का लव इंटरेस्ट थीं ट्विंकल खन्ना और संजय दत्त के अपोजिट थीं मोनिका बेदी. संजय ने इस बात पर आपत्ति जताई थी कि जब गोविंदा को टॉप एक्ट्रेस ट्विंकल के अपोजिट साइन की जा रही हैं, तो वे बी ग्रेड की एक्ट्रेस मोनिका के साथ कैसे काम कर सकते हैं. लेकिन अबू सलेम के एक फोन कॉल के बाद संजय दत्त ने अपना इरादा बदल लिया. संजय ने फिल्म में मोनिका को भाभी की तरह ट्रीट किया और रोमांटिक सीन में भी दूरी बनाए रखी.

सलेम ने उस समय के सबसे सम्मानित डायरेक्टर राजीव राय को भी मोनिका को साइन के लिए धमकाया था. नतीजतन, उन्हें भी अपनी फिल्म 'प्यार इश्क और मोहब्ब्त' में मोनिका को साइन करना पड़ा, जबकि फिल्म में एक और एक्ट्रेस के लिए कोई जगह नहीं थी. राय पहले ही कीर्ति रेड्डी को साइन कर चुके थे. ये फिल्म 2001 में रिलीज हुई. फिल्म फ्लॉप होने के कारण राय का काफी नुकसान हुआ था. हालांकि अबू की इतनी कोशिशों के बावजूद बॉलीवुड में मोनिका का करियर नहीं बन पाया.

 (डेली यो से साभार)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें