scorecardresearch
 

Bob Biswas Review: किलर के किरदार में अभिषेक बच्चन की दमदार एक्टिंग, बॉब बिस्वास बन कर जीता दिल

अभिषेक बच्चन बॉलीवुड के उन एक्टर्स में से हैं, जिन्होंने हमेशा अपने कैरेक्टर्स के साथ एक्सपेरीमेंट किया है. फिल्म में भी अभिषेक ने बॉब बिस्वास के रोल के साथ न्याय किया है. अभिषेक ने एक किलर, पति और पिता तीनों के रूप में काफी सही नेचुरल एक्टिंग की है.

X
बॉब बिस्वास बॉब बिस्वास
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बॉब बिस्वास रिव्यू
  • अभिषेक बच्चन की दमदार एक्टिंग
फिल्म:बॉब बिस्वास
3.5/5
  • कलाकार : अभ‍िषेक बच्चन, चित्रांगदा सिंह
  • निर्देशक :सुजॉय घोष

Bob Biswas Review: अभिषेक बच्चन और चित्रागंदा सिंह स्टारर फिल्म बॉब बिस्वास रिलीज हो चुकी है. लंबे इंतजार के बाद फिल्म को OTT प्लेटफॉर्म Zee5 पर रिलीज किया गया है. इस फिल्म की कहानी 2012 में आई विद्या बालन स्टारर फिल्म 'कहानी' के एक  किरदार पर आधारित है. आइये अब जानते हैं कि फिल्म की कहानी दर्शकों की उम्मीदों पर कितना खरा उतरी और कहां क्या कमी रह गई. 

कहानी
फिल्म की कहानी का मुख्य किरदार बॉब बिस्वास (अभिषेक बच्चन) है, जो कि एक किलर होता है. बॉब बिस्बास की एक छोटी सी फैमिली है. जिसमें बीवी मैरी बिस्बास (चित्रागंदा सिंह) और दो प्यारे-प्यारे बच्चे हैं. फिल्म की शुरुआत में दिखाया जाता है कि बंगाली बाबू बॉब बिस्वास कई सालों तक कोमा में थे और अब उन्हें पिछली जिंदगी का कुछ याद नहीं है. इसलिये वो बार-बार अपनी पिछली जिंदगी के बारे में जानने की कोशिश करता रहता है. 

घर पर रजिस्ट्रार को बुलाकर कोर्ट मैरिज की तैयारी में Vicky-Katrina, ऐसी है चर्चा

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Abhishek Bachchan (@bachchan)

पर वो कहते हैं कि बुरी चीजें इतनी जल्दी पीछा कहां छोड़ती हैं. बॉब के साथ भी वैसे ही होता है. अतीत के लोग उसका पीछा नहीं छोड़ते और वो वापस से लोगों को शूट करने का काम करने लगता है. पर एक दिन बॉब को एहसास होता है कि वो अपनी पत्नी और बच्चों से बहुत से प्यार करता है. इसलिये वो इस धंधे में नहीं रहेगा. वहीं से उसकी जिंदगी अतीत के पन्नों में उलझती चली जाती है और इस लड़ाई में बॉब अपनी पत्नी मैरी और बच्चे को खो देता है. इसके बाद शुरु होती है बदले की कहानी, जिसका अंत जानने के लिये आपको फिल्म देखनी पड़गी.

अभिषेक बच्चन का शानदार अभिनय 
अभिषेक बच्चन बॉलीवुड के उन एक्टर्स में से हैं, जिन्होंने हमेशा अपने कैरेक्टर्स के साथ एक्सपेरीमेंट किया है. फिल्म में भी अभिषेक ने बॉब बिस्वास के रोल के साथ न्याय किया है. अभिषेक ने एक किलर, पति और पिता तीनों के रूप में काफी सही नेचुरल एक्टिंग की है. फिल्म देखते हुए बॉब बिस्बास के कैरेक्टर में उनकी मेहनत साफ दिख रही है. वहीं चित्रागंदा सिंह ने भी अपने किरदार के साथ पूरा न्याय किया है. चित्रागंदा का रोल थोड़ा छोटा, लेकिन दिलचस्प था. 

Vicky Kaushal की शादी पर Kiara Advani की चुप्पी, बोलीं 'मुझे तो बुलाया नहीं है'

क्यों देखें फिल्म?
सुजॉय घोष के निर्देशन में बनी फिल्म का डायरेक्शन काफी बेहतरीन है. फिल्म के छोटे से छोटे सीन में रियलिटी झलकती है. सबसे बड़ी बात ये है कि ओटीटी प्लेटफॉर्म पर देखते हुए आपको मूवी में एक भी गाना नहीं दिखेगा, लेकिन फिर भी आप पूरी फिल्म देखे बिना नहीं उठ पायेंगे. मूवी की कहानी तो है ही अच्छी. बाकी अगर आप अभिषेक बच्चन की दमदार एक्टिंग देखना चाहते हैं, तो फिल्म मिस करने वाली नहीं है. 

क्यों न देखें?
अगर आप कॉमेडी-ड्रामा फिल्मों के शौकीन हैं, तो ये फिल्म आपके नहीं है. फिल्म के अंत में बॉब बिस्बास और विद्या बालन का कनेक्शन भी दिखाया गया है. जिसे देख कर लगता है कि फिल्म का अगला सीक्वल भी रिलीज किया जायेगा. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें