scorecardresearch
 

सफलता की गारंटी बने पंकज त्रिपाठी, कहीं मुसीबत न बन जाए एक जैसे रोल्स!

पिछले कुछ समय में पकंज सिर्फ कागज नाम की एक फिल्म में लीड रोल निभाते दिखे हैं. बाकी लगभग हर फिल्म में वो सपोर्टिंग किरदार ही करते नजर आ रहे हैं. अभी के लिए पकंज का ये अंदाज पसंद किया जा रहा है और हिट भी है, मगर इंडस्ट्री में एक्टर्स को टाइप कास्ट होते देर नहीं लगती.

पंकज त्रिपाठी पंकज त्रिपाठी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मिमी में पकंज का अहम रोल
  • स्ट्रगलभरी रही पकंज की जर्नी
  • पकंज के हाथ में कई प्रोजेक्ट

एक्टर पकंज त्रिपाठी के सितारें फिलहाल बुलंद हैं. पकंज आज के समय में ऐसे एक्टर हैं जिनके पास काम की कोई कमी नहीं हैं. वो लगातार फिल्मों और वेब सीरीज में नजर आ रहे हैं. फिल्मों में पंकज को लेना मेकर्स की पहली पसंद बन गई है. मगर पंकज को फिल्मों और वेब सीरीज में देख एक बात जरूर खटकती है और वो है उनकी एक जैसी एक्टिंग. वो अपनी एक्टिंग में कुछ अलग करते नहीं दिख रहे हैं?

एक जैसे रोल्स में नजर आ रहे पंकज
पकंज को पिछले काफी समय से फिल्मों और वेब सीरीज में एक स्टाइल में एक्टिंग और साइड रोल करते देखा जा रहा. मिमी, गुंजन सक्सेना, अंग्रेजी मीडियम, स्त्री, लूडो, सुपर 30, लुका छिपी सहित कई फिल्मों में पकंज का एक्टिंग करने का स्टाइल एक ही. कॉमेडी रोल्स तक तो ठीक है, लेकिन विलेन के रोल्स में भी पकंज का वो ही सेम फनी अंदाज दिख रहा है.

वेब सीरीज में हो रहा ऐसा हाल
वेब सीरीज की बात की जाए तो पकंज को फिल्मों की तुलना में अच्छा काम कर रहे हैं. मिर्जापुर, सेक्रेड गेम्स में उनके रोल पसंद किए गए. हालांकि, सेक्रेड गेम्स में नवाजुद्दीन ज्यादा तारीफ बटोर ले गए. वहीं मिर्जापुर भी एक मल्टीस्टारर वेब सीरीज बन गई. जिसमें अली फजल, देवेंदु, रसिका दुग्गल, विक्रांत मेसी, श्वेता त्रिपाठी जैसे स्टार्स को भी बराबर का रिसपॉन्स मिला.

वहीं पंकज की क्रिमिनल जस्टिस की बात की जाए तो इसमें वो एक वकील के रोल में हैं. वेब सीरीज को पकंज के नाम पर भले ही हिट कराया गया है लेकिन वेब सीरीज में पकंज कुछ खास और अलग कमाल करते नहीं दिखे हैं. 

'हॉलीवुड मॉडल की तरह करो एक्सपोज, HotShot के लिए राज कुंद्रा ने किया था अप्रोच' शर्लिन चोपड़ा का दावा

 

कढ़ी चावल-आम का अचार, देसी अंदाज में मलाइका अरोड़ा का लंच, देखकर आएगा मुंह में पानी

लीड हीरो वाली कैटेगरी से बाहर हो रहे पंकज?
पिछले कुछ समय में पकंज सिर्फ कागज नाम की एक फिल्म में लीड रोल निभाते दिखे हैं. बाकी लगभग हर फिल्म में वो सपोर्टिंग किरदार ही करते नजर आ रहे हैं. अभी के लिए पकंज का ये अंदाज पसंद किया जा रहा है और हिट भी है, मगर इंडस्ट्री में एक्टर्स को टाइप कास्ट होते देर नहीं लगती. ऐसे में पकंज को भी लॉन्ग टर्म में खामियाजा भुगतना पड़ सकता है. क्योंकि एक जैसे रोल्स के चलते पकंज लीड हीरो वाली कैटेगरी से बाहर होते जा रहे हैं. अगर पकंज लगातार इसी तरह के रोल करते रहे तो आने वाले वक्त में मूवीज में कॉमेडी के नाम पर 10 मिनट का रोल देकर उन्हें साइड किए जाने में मेकर्स देर नहीं करेंगे.

पंकज के सामने अलग साबित होने चुनौती

पकंज त्रिपाठी को एक वर्सेटाइल एक्टर की लिस्ट में रखा जाता है. वो एक्टर जिसने फर्श से अर्श तक का सफर तय किया. पहली फिल्म रन में उन्हें क्रेडिट तक नहीं मिला था. लेकिन अब उन्हें हर कोई पहचानता है. मगर इतनी पॉपुलैरिटी के बाद भी पकंज लीड हीरो की रेस से कहीं न कहीं बाहर हैं.

उन्हीं के साथ के एक्टर्स मनोज बाजपेयी, नवाजुद्दीन सिद्धीकी जैसे स्टार्स लीड हीरो वाले प्रोजेक्ट कर हिट हो रहे हैं. द फैमिली मैन, सैक्रेड गेम्स, रात अकेली है, डायल 100 इसके उदाहरण है. दिवंगत एक्टर इरफान खाने ने भी डिफरेंट-डिफरेंट रोल कर इंडस्ट्री में अपने पैर जमा लिए थे और सक्सेस की सीढ़ी चढ़े थे. इस लिहाज से पंकज को इंडस्ट्री में खुद को बनाए रखना है तो रोल्स के साथ एक्सपेरिमेंट्स करने की जरुरत है.

फिल्म मिमी की बात करें तो इसे लक्ष्मण उटेकर ने बनाया है. कृति सेनन इस फिल्म में लीड रोल निभा रही हैं. 


  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें