scorecardresearch
 
बॉलीवुड

Marilyn Monroe dark secret: तीन शादियों के बाद भी प्यार को तरसी ये एक्ट्रेस, नाम बदला, शोहरत मिली, राज़ बनकर रह गई मौत

मर्लिन मुनरो
  • 1/15

कहते हैं जो दिखता है हमेशा वो सच नहीं होता. कैमरा की चकाचौंध और पर्दे के पीछे एक कहानी होती है, जिसे सिर्फ वही जानता है जो उस कहानी से जुड़ा है या उसे जी रहा है. दूर से देखने वाले इंसान की हंसी को खुशी मान लेते हैं. लेकिन उस हंसी के पीछे का दर्द ना तो कभी कोई देख पाता है और ना ही कोई समझ पाता है. ऐसी ही हंसी थी मर्लिन मुनरो (Marilyn Monroe) की.

हॉलीवुड की सबसे खूबसूरत हसीना, जिसने लाखों दिलों पर राज किया. लेकिन अपनी पूरी जिंदगी प्यार पाने के लिए तरसती रही. ऐसा नहीं है कि मर्लिन की जिंदगी में खुशियां नहीं आईं, लेकिन गम इतने ज्यादा थे कि उन खुश पलों को समेटकर अपने पास रखने के बावजूद वो हवा में धुआं बनकर उड़ गए.

मर्लिन मुनरो
  • 2/15

कुछ लोग मर्लिन मुनरो को साईडवॉक पर अपनी उड़ती स्कर्ट संभालते हुए दिल खोलकर हंसती लड़की के रूप में जानते हैं. किसी के लिए वह वो लड़की हैं, जिसने अमेरिका के राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी के लिए अपनी पतली सी आवाज में हैप्पी बर्थडे गाया था.

लेकिन सच तो यह है कि मर्लिन इन दोनों में से कोई भी नहीं थी. बल्कि मर्लिन मुनरो कभी कोई असली इंसान थी ही नहीं. वो नोर्मा जीन नाम की लड़की का बनाया एक दिलचस्प और खूबसूरत किरदार थी, जिससे वो कभी चाहकर भी बाहर नहीं निकल पाईं और जिसने अंत में शायद उसकी जान ले ली.

मर्लिन मुनरो
  • 3/15

नोर्मा जीन बेकर (Norma Jeane Baker) का जन्म 1 जून 1926 को ग्लेडिस बेकर (Gladys Baker) और चार्ल्स स्टेनली जिफॉर्ड (Charles Stanley Gifford) के यहां हुआ था. ग्लेडिस एक उलझी हुई महिला थी. दो बार शादी कर चुकी ग्लेडिस के घर पर नन्ही नोर्मा आई तब वह जिंदगी में अकेली थीं. समाज में सिंगल मां को इज्जत नहीं दी जाती थी. ऐसे में वो बच्ची के जन्म के दो हफ्ते बाद ही उसको लेकर अपनी मां डेला मुनरो (Della Monroe) के पड़ोसियों बोलेंडर परिवार के घर चली गई.

यहां नोर्मा जीन ने अपनी जिंदगी के सात साल बिताए. बोलेंडर परिवार, नन्हीं नोर्मा को गोद लेना चाहता था, जो उसकी मां को गंवारा नहीं था. अपने तलाक में पहले पति के हाथ दो बच्चे खो चुकी ग्लेडिस, नोर्मा को भी खोना नहीं चाहती थीं. तो 1933 तक वह बेटी को लेकर मिस्टर और मिसेज एटकिनसन के घर रहने लगी थीं. एटकिनसन एक इंग्लिश कपल था, जो फिल्मों में काम करता था. 

मर्लिन मुनरो
  • 4/15

यहीं से नोर्मा जीन की जिंदगी में इनसिक्योरिटी और कंफ्यूजन की शुरुआत हुई. पहले से परेशान ग्लेडिस की जिंदगी में कुछ बड़ी और ट्रैजिक चीजें होने के बाद उन्हें नर्वस ब्रेकडाउन का सामना करना था. इसके बाद उन्हें अपनी पूरी जिंदगी के लिए मेंटल हेल्थ इंस्टीटूशन्स में भेज दिया गया.

नोर्मा जीन के लिए मां का जिंदगी से यूं गायब हो जाना सहने लायक नहीं था. इसके बाद उसके घर में आए नए शख्स ने उनका यौन शोषण किया. ऊपर से कोई उसे बताने को तैयार नहीं था कि आखिर उसकी मां के साथ क्या हुआ है. नोर्मा को लगा उसकी मां मर गई है. उसकी इस सोच को उसकी मां की दोस्त ग्रेस गोडार्ड (Grace Goddard) ने विश्वास में तब बदला जब वो नोर्मा को लॉस एंजलिस के एक अनाथालय में छोड़ आई. इस जगह नोर्मा जीन ने एक साल बिताया था.

मर्लिन मुनरो
  • 5/15

इसके बाद उसे एक घर से दूसरे घर रहने भेजा गया. नोर्मा की जिंदगी में उसे सबसे प्रभावित आंटी एना ने किया था. लेकिन उनकी तबीयत ठीक न रहने की वजह से नॉर्मा को एक बार फिर रहने के लिए दूसरा घर तलाशना पड़ा. 1942 में अनाथालय में दिक्कत झेलने के बाद नॉर्मा जीन ने जिम डोएरटी (Jim Dougherty) से शादी कर ली. दोनों कुछ समय से एक दूसरे को डेट कर रहे थे.

उस समय नोर्मा, ग्रेस के साथ रह रही थी. ग्रेस का परिवार अपना घर शिफ्ट कर रहा था और चाहता था कि कोई नोर्मा का ध्यान रखने वाला मिल जाए. इस बारे में ग्रेस ने जिम की मां से बात की और फिर दोनों ने कपल को शादी करने का आईडिया दिया. जिम ने नोर्मा को 'बचाने' के इस चांस को देखते हुए झट से हां कह दी. लेकिन नोर्मा जीन तैयार नहीं थी. इस बारे में बाद में उसने कहा था- यह चिड़ियाघर में बंद होने जैसा था.

मर्लिन मुनरो
  • 6/15

यह शादी महज चार साल चली थी. इस बीच जिम को युद्ध पर जाना पड़ा था, जिसके बाद नोर्मा ने अपने अकेलेपन और बोरियत को मिटाने के लिए एक डिफेंस प्लांट में नौकरी ले ली थी. यही एक फोटोग्राफर ने उसे डिस्कवर किया था. इन्हीं फोटोज की बदौलत नोर्मा ने अपने मॉडलिंग करियर की शुरुआत की.

जिम को इससे कोई दिक्कत नहीं थी. लेकिन उसने अपनी पत्नी के सामने यह भी साफ कर दिया था कि जब वो युद्ध से वापस आएगा तो उसे ये सब नहीं करने देगा. इसका जवाब नोर्मा ने लास वेगस जाकर तलाक के अर्जी डालने से दिया था. जिम को इससे बड़ा झटका लगा था.

मर्लिन मुनरो
  • 7/15

लॉस वेगस से लॉस एंजलिस लौटने के बाद नॉर्मा जीन को ट्वेंटिएथ सेंचुरी फॉक्स (Twentieth Century Fox) ने एक स्क्रीन टेस्ट के लिए बुलाया. उसे एक कॉन्ट्रैक्ट में साइन किया गया. लेकिन नोर्मा जीन का दिल तब टूटा जब उसे पता चला कि उसे अपना नाम बदलना होगा. उसका नाम आज के बाद नॉर्मा जीन नहीं बल्कि मर्लिन मुनरो होगा.

अपना सरनेम मुनरो में बदलने से उसे दिक्कत नहीं थी. लेकिन मर्लिन? उसे तो यह शब्द लिखना तक नहीं आता था. ये बात मर्लिन ने अपने दोस्तों से कही थी. लेकिन उसके पास कोई रास्ता नहीं था. उसे पसंद हो या न हो, लेकिन अब से वो दुनिया के लिए मर्लिन मुनरो (Marilyn Monroe) थी.
 

मर्लिन मुनरो
  • 8/15

अपने करियर में मर्लिन मुनरो ने कई दिक्कतों का सामना किया. कई बार उसके करियर की गाड़ी रुकी और कई कॉन्ट्रैक्ट उसके हाथ से गए. फिर एजेंट जॉनी हाईड (Johnny Hyde) के रूप में उसके करियर के लिए मसीहा और जिंदगी में प्यार आया. अफवाहें उड़ीं की मर्लिन, हाईड के साथ सिर्फ उसके पैसों के लिए है.

हाईड ने कई बार उसे शादी के लिए प्रपोज किया, लेकिन मर्लिन ने हर बार मना कर दिया. हाईड की मौत के बाद मर्लिन मुनरो ने अपना सारा फोकस अपने करियर पर शिफ्ट कर दिया था. इसके बाद उसने 'लव नेस्ट', 'क्लैश बाय नाईट' और 'डोंट बॉदर टु नॉक' जैसी फिल्मों में काम किया.
 

मर्लिन मुनरो
  • 9/15

मर्लिन आसमान की ऊंचाइयों पर थी, जब उसके पर काटने लायक दो बड़ी बातें दुनिया में सामने आईं. पहली कि उसने न्यूड फोटोशूट करवाया था. और दूसरी कि जिस मां को वो सालों से मरा हुआ बताती आ रही थी वो असल में जिंदा थी और इंस्टीटूशन में रह रही थी. ये बातें सामने आने के बाद मर्लिन मुनरो का करियर लगभग खत्म ही हो गया था.

लेकिन उसने गहरी सांस ली और अपना सच दुनिया को अपने मुंह से बताने का फैसला किया. उसने दावा किया कि पैसों की जरूरत के चलते उसने न्यूड फोटो खिंचवाई थीं. जहां तक मां की बात है तो उसने मां के जिंदा होने की बात अपने नहीं बल्कि मां की सुरक्षा के लिए छुपाकर रखी थी. लोगों को उसकी ईमानदारी पसंद आई और एक बार फिर मर्लिन ऊंचाइयों को छूने लगी.
 

मर्लिन मुनरो
  • 10/15

1952 में मर्लिन मुनरो की मुलाकात जो डीमागियो (Joe DiMaggio) से हुई थी. इसके बाद उसने 'नाएग्रा' और 'जेंटलमेन प्रिफर ब्लॉन्ड्स' जैसी हाई प्रोफइल फिल्मों में काम किया. 1953 तक मर्लिन परेशान हो गई थी. वो बेहतर रोल्स चाहती थीं. ऐसे में जब उसे एक ऐसे रोल के लिए स्टूडियो बुलाया गया जो उसे बिल्कुल भी पसंद नहीं था. वो सान फ्रांसिस्को भाग गई और वहां जाकर जो डीमागियो से शादी कर ली.

स्टूडियो ने उसे सस्पेंड कर दिया था. हालांकि 1954 में सब ठीक हो गया, जब उसे 'द सेवन ईयर इच' नाम की फिल्म में देखा गया. यही वो फिल्म थी जो आगे चलकर मर्लिन की दूसरी शादी टूटने का कारण बनी.
 

मर्लिन मुनरो
  • 11/15

इस फिल्म के पब्लिसिटी सीन में मर्लिन मुनरो की स्कर्ट को हवा में उड़ते हुए देखा गया था. जब यह सीन शूट हो रहा था तो ऑडियंस में उसका पति भी मौजूद था. अनजान फोटोग्राफर और लोगों को अपनी बीवी को देखते देख जो अपना गुस्सा नहीं रोक पाया. बाद में उसने काफी हिंसक तरीके से मर्लिन से बहस की. इसके बाद मर्लिन ने अपनी शादी को खत्म करने का फैसला किया था.

1955 का समय मर्लिन के लिए खुद को जानने का था. वो न्यूयॉर्क में रहने लगी थी और उसने फोटोग्राफर मिल्टन ग्रीन (Milton Greene) के साथ अपनी प्रोडक्शन कंपनी खोली थी. साथ ही वो एक्टिंग और साइकोएनालिसिस की क्लास भी लिया करती थी. वो रोज थिएटर जाती और बैकस्टेज कई बढ़िया एक्टर्स-एक्ट्रेसेज से मिलती. यहीं उसकी मुलाकात अपने तीसरे पति और प्लेराइटर आर्थर मिलर (Arthur Miller) से हुई थी. दोनों ने 1956 में शादी की.
 

मर्लिन मुनरो
  • 12/15

इस शादी में खुशी के पल कम ही थे. खासकर मर्लिन मुनरो के लिए. उसने अपने पति आर्थर की नोटबुक देख ली थी, जिसमें प्लेराइटर आर्थर ने उसके बारे में कई दिल को चुभने वाली बातें लिखी थीं. दोनों ने नॉर्मल जिंदगी जीने की कोशिश की. लेकिन अफसोस ऐसा नहीं हो पाया.

मर्लिन मां बनना चाहती थी. लेकिन उसे कई मिसकैरिज का दर्द सहना पड़ा. जिसमें से एक उसकी सबसे सफल फिल्मों में से एक 'सम लाइक इट हॉट' की शूटिंग के दौरान हुआ था. इसके बाद उसने मां बनने के लिए कई ऑपरेशन करवाए, जो फेल हो गए. 1959 में अपनी आखिरी सर्जरी के बाद मर्लिन ने मां बनने का ख्वाब देखना छोड़ दिया था.
 

मर्लिन मुनरो
  • 13/15

मिलर के साथ मर्लिन का रिश्ता तब खत्म हुआ जब उसने एक्ट्रेस के लिए फिल्म 'द मिसफिट्स' में रोजलिन का रोल लिखा. इस फिल्म में एक्टर क्लार्क गेबल उसके साथ थे. यह फिल्म बहुत रॉ थी. इसके किरदार बहुत पर्सनल थे. और जब तक इसकी शूटिंग खत्म हुई मर्लिन मुनरो एक बार फिर जिंदगी का सामना अकेले कर रही थी.

इसके बाद आने वाले साल डिप्रेशन से भरे थे. उसके लिए सबसे बुरा वक्त शायद तब था जब गेबल की पत्नी ने एक्टर की मौत का इल्जाम कथित रूप से मर्लिन पर लगाया था. इसके बाद मर्लिन मर जाना चाहती थी. उसने अस्पताल में अपना इलाज करवाने के लिए मंजूरी दी थी. लेकिन उसे नहीं पता था कि वह गलत जगह जा रही है. 
 

मर्लिन मुनरो
  • 14/15

जिस जगह पर मर्लिन को भर्ती करवाया गया था, वो गंभीर रूप से परेशान मरीजों के लिए थी. अस्पताल ने तब मर्लिन को जाने दिया था जब जो डीमागियो ने लड़ाई कर बिल्डिंग को तोड़ने की धमकी दी थी. अगले साल तक जो, मर्लिन का वो दोस्त बन गया था जिसके उसने सपने देखे थे.

साथ में दोनों ने फ्लोरिडा का सफर तय किया, बीच पर आराम किया और साथ में बेसबॉल खेला. खबरें आईं कि दोनों फिर एक हो सकते हैं. लेकिन मर्लिन मुनरो को कुछ और ही मंजूर था. अगस्त 4/5 1962 की रात को मर्लिन को मृत पाया गया. कहा गया कि ओवरडोज की वजह से उसकी जान गई है. 
 

मर्लिन मुनरो
  • 15/15

उस दिन हंसती खिललाती मर्लिन मुनरो और दर्द से भरी नॉर्मा जीन हमेशा के लिए दुनिया को अलविदा कहकर चली गई. और साथ ले गई अपनी जिंदगी से जुड़े राज, अपनी सच्चाई और प्यार पाने की चाहत.
 

फोटो सोर्स: गेटी इमेज