scorecardresearch
 

UP Result AajTak: बीजेपी नेताओं ने बताया मोदी के नेतृत्व की जीत

बीजेपी के नेताओं ने यूपी में मिल रही जबर्दस्त जीत को नरेंद्र मोदी, अमित शाह के नेतृत्व और यूपी की जनता की जीत बताया है. उधर कांग्रेस के लोगों का कहना है कि यह कम्युनल और कास्ट इंजीनियरिंग की जीत है. UP election result आने के बाद पूरे देश के बीजेपी कार्यकर्ताओं में जबर्दस्त खुशी का माहौल है.

पीएम नरेंद्र मोदी पीएम नरेंद्र मोदी

बीजेपी के नेताओं ने यूपी में मिल रही जबर्दस्त जीत को नरेंद्र मोदी, अमित शाह के नेतृत्व और यूपी की जनता की जीत बताया है. उधर कांग्रेस के लोगों का कहना है कि यह कम्युनल और कास्ट इंजीनियरिंग की जीत है. UP election result आने के बाद पूरे देश के बीजेपी कार्यकर्ताओं में जबर्दस्त खुशी का माहौल है. AajTak से बातचीत में नेताओं ने अपनी खुशी का इजहार किया.

केशव प्रसाद मौर्य, अध्यक्ष यूपी बीजेपी
यूपी की जीत नरेंद्र मोदी और अमित शाह के नेतृत्व की जीत है. उत्तर प्रदेश की जनता के चरणों मे सिर रखकर इतनी बड़ी जीत दिलाने के लिए वंदन करता हूं और हर कार्यकर्ता को बधाई देता हूं कि उन्होंने दिन रात मेहनत करके इतनी बड़ी जीत हासिल की है. सीएम कौन बनेगा यह विषय केंद्रीय संसदीय बोर्ड का है. यह नरेंद्र मोदी, अमित शाह की विजय है और उत्तर प्रदेश की विजय है. मुझे अपने कार्यकर्ताओं, उत्तर प्रदेश की जनता और मोदी जी के नेतृत्व पर भरोसा था. हम 2019 में और बड़ी विजय लेकर मोदी जी को फिर से प्रधानमंत्री बनाएंगे. बीजेपी यूपी के मतदाताओं के प्रति आभारी है.

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में किसे मिल रही है जीत, देखिए India Today पर Live

 शाहनवाज हुसैन, बीजेपी नेता

डेमाक्रेसी में जनता सब कुछ तय करती है. जनता ने तय किया कि नरेंद्र मोदी सबसे अच्छे नेता हैं और बीजेपी सबसे अच्छी पार्टी है. समाज के पिछले, दलित, आदिवासी हर वर्ग में बीजेपी का काम बढ़ा है. हमने किसी वर्ग को छोड़ा नहीं है. सबका साथ, सबका विकास जरूरी है. पंजाब चुनावों में बीजेपी और सरकार में रहने की वजह से जो एंटी इनकम्बेंसी होता है, उसका असर होता है. इसलिए पंजाब में हमारी अपेक्षा के परिणाम नहीं आए. पंजाब में लोकसभा के चुनाव में भी अपेक्षित परिणाम नहीं आए थे.

श्रीकांत शर्मा, बीजेपी नेता
ये ब्रजवासियों की जीत है. ब्रजरज की आंधी पूरे प्रदेश में चल रही है. ये एक कामयाब जोड़ी का कमाल है, जो देश के लिए सोचती है. दूसरी ओर एक और जोड़ी है जो सिर्फ अपने परिवार के लिए सींचती है. जनता दोनों जोड़ियों में अंतर समझ गई है. मैं पार्टी का वफादार सिपाही हूं. हिमाचल जैसे राज्य का प्रभारी तो हूं ही. पार्टी ने चुनाव लड़ने का आदेश दिया और ब्रजवासियों ने अगाध प्यार। मेरी प्राथमिकता ब्रज का विकास रहेगा। जनता का ये भरोसा याद रहेगा. पार्टी के आदेश का हमेशा पालन करूंगा.

नितिन गडकरी, बीजेपी नेता
यूपी में जिस तरह के नतीजे आए हैं उतने कि उम्मीद हमें भी नहीं थी. ये जीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की ग़रीब कल्याण योजनाओं और उनके विज़न सबका साथ सबका विकास के कारण मिली है. हमें इस तरह की भी जानकारी मिल रही है कि तीन तलाक़ पर सरकार के रूख के बाद मुस्लिम महिलाओं ने भी हमें भारी संख्या में वोट किया है. आज कांग्रेस की हालात हिंदी फ़िल्मों के एक गाने की जैसे होगी है "हम तो डूबेंगे सनम तुम्हें भी ले डूबेंगे " और उस विषकन्या की जैसी हो गई है जिसके साथ जाएंगी, उसका डूबना तय है. जब मुलायम सिंह को ये साथ पसंद नहीं था तो जनता को कैसे पसंद कर सकती थी. गोवा में हमें जितनी उम्मीद थी उतनी सीट नहीं मिली है लेकिन हम सरकार ज़रूर बनाने जा रहे है हमें निर्दलीय और एक गोवा की रीजनल पार्टी के समर्थन से सरकार बनाएंगे. गोवा में मुख्यमंत्री कौन होगा ये बीजेपी संसदीय दल तय करेगा.

योगी आदित्य नाथ, बीजेपी नेता
आदित्य नाथ ने कहा, लोगों ने एसपी-कांग्रेस गठबंधन को जनता ने पूरी तरह से नकार दिया है. यह यूपी की जनता का आशीर्वाद और बीजेपी कार्यकर्ताओं की मेहनत है. एक सांसद के रूप में मुझे जो भूमिका दी गई थी, मैंने उसे निभाया.

मीम अफजल, कांग्रेस नेता
यूपी में कम्युनल और कास्ट इंजीनि‍यरिंग की जीत हुई है और यह आने वाले समय के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं. अगर हमारी कमजोरी यह है कि हम हर वर्ग को साथ लेकर चलते हैं तो यह हमें स्वीकार है.

कैलाश विजयवर्गीय, बीजेपी नेता
यूपी के जो नतीजे जो सामने आ रहे है उससे ये साफ़ हो गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो काम किया है, जनता ने उसका इनाम दिया है. यह साबित हो गया है की यूपी जनता को अखिलेश-राहुल का साथ पसंद नहीं है, क्योंकि अखिलेश के पिताजी को ये साथ पसंद नहीं था, राहुल की मां को ये साथ पसंद नहीं था, तो भला जनता को कैसे पसंद आता. मोदी जी का जादू का पहले से भी ज़्यादा है जनता के मन में. ये जीत प्रधानमंत्री के काम की है और अमित शाह की रणनीति की जीत है. मुख्यमंत्री कौन होगा यह विधायक दल और संसदीय बोर्ड तय करेगा.

मीनाक्षी लेखी
यूपी की जनता ने प्रधानमंत्री के काम पर बीजेपी को ये बहुमत दिया है. जनता को ये साथ पसंद नहीं आया और काम नहीं कारनामा बोलता है, यह यूपी की जनता ने बता दिया. इन नतीजों के बाद अखिलेश और राहुल अपना भविष्य ख़ुद तय करें. इस जीत का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह दो लोगों की जीत को जाता है. मोदी जी का करिश्मा अगले कई दशकों तक रहने वाला है.

राजीव शुक्ला
चुनावों में हार-जीत लगी रहती है, इसलिए घबराने की जरूरत नहीं. हम विकास की राजनीति करते रहे और bjp ने धर्म जाति मजहब और वोट बैंक की राजनीति की. दोनों की लड़ाई में हम हार गए. हम आगे भी विकास की राजनीति ही करेंगे, लेकिन यूपी में हमारा संगठन निचले स्तर पर बहुत कमजोर है, उसे मजबूत करने की कोशिश भी करेंगे. हार के लिए राहुल गांधी को जिम्मेदार ठहराना गलत है. राहुल राष्ट्रीय नेता हैं, पंजाब में भी राहुल ने कैंपेन किया, वहां हम जीत रहे हैं. इसलिए जहां हारे उसके लिए राहुल को जिम्मेदार ठहराना पूरी तरह गलत हैं. वह हमारे नेता हैं. जहां तक समाजवादी पार्टी के कुछ नेताओं का सवाल है तो कुछ लोगों ने गठबंधन पर सवाल खड़े किए हैं, लेकिन सपा नेतृत्व की ओर से ऐसा कुछ भी नहीं कहा गया, इसलिए इसको तूल देने की जरूरत नहीं है. हम हार से सबक लेंगे और आगे बढ़ेंगे.

रीता बहुगुणा जोशी
मैं बहुत खुश हूं लोगों ने मेरा काम देखा और मुझे वोट किया. मैंने यह नारा दिया था पैसा बनाम पसीना और लोगों ने उस नारे को पसंद किया सपा ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी थी. अखिलेश, मुलायम, डिंपल से लेकर कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेताओं ने अपर्णा यादव के लिए प्रचार किया पर लोग अब रसूख नहीं देखते, वह काम देखते हैं. लोग परिवारवाद से त्रस्त आ चुके है. मुलायम सिंह ने तो हद ही कर दी थी. किसी को अपने परिवार में नहीं छोड़ा, सभी को टिकट दे दिया. राहुल और अखिलेश को मैं कहूंगी कि मोदी जी की आलोचना बंद करें और नकारात्मक सियासत ना करें. यह लोग जमीन से जुड़ना भूल गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें