scorecardresearch
 

'मोदी' घोड़ा बिका 3 लाख का, 'मायावती' 2 लाख और 'अखिलेश' 1.30 लाख में

उत्तर प्रदेश में शनिवार को पहले चरण के मतदान के साथ ही करीब एक महीने का चुनावी संग्राम शुरू हो जाएगा. वोटों की दौड़ में किस राजनीतिक दल का घोड़ा सबसे तेज दौड़ा, ये तो 11 मार्च को मतगणना के नतीजे आने के बाद ही साफ होगा. लेकिन अभी हम आपको बता सकते हैं कि अमरोहा में चल रहे घोड़ा मेले में किस नेता के नाम का घोड़ा सबसे अधिक महंगा बिका.

सबसे महंगा बिका मोदी घोड़ा सबसे महंगा बिका मोदी घोड़ा

उत्तर प्रदेश में शनिवार को पहले चरण के मतदान के साथ ही करीब एक महीने का चुनावी संग्राम शुरू हो जाएगा. वोटों की दौड़ में किस राजनीतिक दल का घोड़ा सबसे तेज दौड़ा, ये तो 11 मार्च को मतगणना के नतीजे आने के बाद ही साफ होगा. लेकिन अभी हम आपको बता सकते हैं कि अमरोहा में चल रहे घोड़ा मेले में किस नेता के नाम का घोड़ा सबसे अधिक महंगा बिका.

यूपी में हर कोई चुनाव के रंग में हैं तो अमरोहा में चल रहा घोड़ा मेला इससे अछूता कैसे रह सकता था. घोड़ों को बेचे जाने के लिए होने वाली नीलामी में उनकी नस्ल, कद-काठी बहुत अहमियत रखती है लेकिन घोड़े को किस नेता के नाम से बेचा जा रहा है, ये भी मायने रखता है.

अमरोहा के खाता गांव में चल रहे घोड़ा मेले में सियासत का असर इस हद तक छाया कि घोड़े बेचने वालों ने उनके नाम ही राजनीतिक दलों के मुखियाओं पर रख दिए. घोड़ा मेले के आयोजक साजिद के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर रखा गया घोड़ा सबसे ज्यादा कीमत वसूलने में कामयाब रहा. इसकी नीलामी 80,000 रुपये से शुरू होकर 3 लाख रुपये पर जाकर खत्म हुई.

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के नाम पर रखे गए घोड़े को अधिकतम बोली 1 लाख 30 हजार रुपये ही मिल सकी. घोड़ा मेले में बीएसपी मुखिया मायावती के नाम पर रखी गई घोड़ी ने दो लाख रुपये की अधिकतम बोली हासिल की. यानी घोड़ा मेले में तो बीएसपी का नाम समाजवादी पार्टी से अधिक बिका.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें