scorecardresearch
 

Taliban का नाम लेकर नेताओं को हो रहा फायदा, या कर रहे अपना ही नुकसान?

Taliban का नाम लेकर नेताओं को हो रहा फायदा, या कर रहे अपना ही नुकसान?

राजनीति में कहा जाता है कि कुछ भी यूं ही नहीं घटता, यूं ही नहीं होता. राजनीति में कहा जाता है कि पास के नुकसान की बजाए दूर का फायदा देखो. तो अभी उत्तर प्रदेश में पास का नुकसान ये है कि तालिबान के नाम पर होती चर्चा से समाज में एक कटुता फैलती है, लेकिन इसमें दूर का फायदा किसका है? तालिबान का नाम जो लोग यूपी में ले रहे हैं, क्या सिर्फ अपनी सीट, अपने लोग, अपने मजहब का वोट पाने के लिए वास्तविकता में अपनी पार्टी का दूर का नुकसान करा रहे हैं? तालिबान की ये यूपी वाली चर्चा में वोट किस करवट जाएंगे? क्या उत्तर प्रदेश की राजनीति में आने वाले विधानसभा चुनावों से पहले चर्चा-ए-तालिबान का सीधा संबंध मुस्लिम वोट को एकजुट करने और इससे बहुसंख्यक वोट के भी एक तरफा होने से जुड़ा है? देखिए ये रिपोर्ट.

After the takeover of the Taliban on Kabul, the whole of Afghanistan except Panjshir is now in the hands of a terror organisation. But around two thousand kilometres away, here in Uttar Pradesh, the Taliban is at the centre of political discussion. Assembly elections are to be held in few months and several leaders are trying to polarise the voters in the name of the Taliban. But will these efforts benefit or may harm them instead? Watch this report.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें