scorecardresearch
 

धारा और विचारधारा के विपरीत जाकर मुलायम की बहु ने क्यों फूंका बगावत का बिगुल?

धारा और विचारधारा के विपरीत जाकर मुलायम की बहु ने क्यों फूंका बगावत का बिगुल?

UP Election 2022: कहानी उसी समाजवाद और समाजवादी परिवार की जो जुड़ता है तो भी खबर बनता, टूटता है तो भी सुर्खियां पाता है. 1979 में अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी जैसे नेताओं के खिलाफ, जनता पार्टी और आरएसएस दोनों की दोहरी सदस्यता रखने का मुद्दा उठाकर समाजवादी नेता जनता पार्टी से अलग हो गए थे. 43 साल बाद उसी समाजवाद की नर्सरी से निकले मुलायम सिंह के परिवार की बहू ने समाजवादी पार्टी का परिवार छोड़ दिया. अपर्णा बिष्ट यादव भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं. पंचायत से संसद तक जिस परिवार के सबसे ज्यादा सदस्य राजनीति में सक्रिय हैं. वहां धारा और विचारधारा दोनों के विपरीत जाने वाली पहली सदस्य छोटी बहू बनी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें