scorecardresearch
 

UP Elections: अखिलेश के फरसा थामने के पीछे क्या है सियासत? समझें यूपी में ब्राह्मण वोटों का गणित

UP Elections: अखिलेश के फरसा थामने के पीछे क्या है सियासत? समझें यूपी में ब्राह्मण वोटों का गणित

सपा प्रमुख अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के चुनावी इतिहास में ब्राह्मणों को साधने में जुट गए हैं. इसलिए अखिलेश यादव ने लखनऊ के गोसाईंगंज में परशुराम की मूर्ति की स्थापना कराई. अखिलेश ने एक हाथ में फरसा तो दूसरे हाथ में चक्र को लेकर ब्राह्मण समाज से सपा को समर्थन करने का आग्रह किया. आपको बता दें उत्तर प्रदेश में करीब 2 करोड़ ब्राह्मण वोटर हैं. हर सीट पर औसत 50 हजार ब्राह्मण वोटर माने जा सकते हैं. 60 सीटों पर सीधे हार जीत का फैसला करने की ताकत ब्राह्मण वोटर के पास मानी जाती है. इसके अलावा 14 जिलों में ब्राह्मण वोटर की तादाद 20 फीसदी से ज्यादा बताई जाती है. तो ये कहना गलत नहीं होगा कि अब उन्हीं ब्राह्मण वोटरों के लिए अखिलेश यादव भी जय परशुराम कर रहे हैं. देखें ये वीडियो.

With an eye on Brahmin votes in 2022, Samajwadi Party chief Akhilesh Yadav performs puja at Parshuram Temple, just before UP assembly elections. On sunday Akhilesh Yadav unveild Lord Parshuram idol and sixty eight feet high Farsa installed in Gosaiganj area of Lucknow. Watch video to know more.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें