scorecardresearch
 

अयोध्या से सीएम योगी के चुनाव लड़ने पर विश्व हिंदू परिषद एक्टिव, UP में भुनाएगी राम मंदिर का मुद्दा

सीएम योगी आदित्यनाथ के अयोध्या से चुनाव लड़ने का ऐलान करते ही विहिप और आरएसएस सहित सभी बीजेपी समर्थक संगठन एक्टिव हो गए हैं. विहिप चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को पूरे राज्य में लेकर जाने वाली है.

स्टोरी हाइलाइट्स
  • अयोध्या की सदर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं योगी
  • राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट ने जारी किया 5 मिनट का वीडियो
  • वीडियो में एनिमेशन के जरिए दिखाई गई है निर्माण प्रक्रिया

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अयोध्या से चुनाव लड़ने की चर्चा के बीच हिंदुवादी संगठन सक्रिय हो गए हैं. योगी अयोध्या की सदर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं. इसी कड़ी में विश्व हिंदू परिषद अयोध्या समेत यूपी के अलग-अलग इलाकों में भव्य राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को भुनाने जा रही है. इसकी शुरुआत बीते दिन हो चुकी है.

अयोध्या में गुरुवार को राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने प्रबुद्ध वर्ग गोष्ठी आयोजित की. इसमें कहा गया कि आम दर्शनार्थियों को किस तरह से अयोध्या में भव्य श्री राम जन्मभूमि मंदिर के निर्माण की जानकारी देनी है. इसमें बताया गया कि अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं को अयोध्या के अलग-अलग स्थानों पर एलईडी स्क्रीन के जरिए दर्शन मार्ग समेत जन्मभूमि मंदिर निर्माण को लेकर बनाई गई फिल्म दिखाई जाएगी.

विहिप के शीर्ष पदाधिकारी रहे और अब श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय कहते हैं, हर श्रद्धालु इसके जरिए श्रीराम मंदिर निर्माण की तकनीकी, भव्यता से परिचित हो सकेगा. अयोध्या में आने वाले समय में भक्तों की और भीड़ बढ़ेगी और राम नगरी की आर्थिक तरक्की का भी मार्ग प्रशस्त होगा. इसीलिए सरकार जन सुविधाएं विकसित कर रही है. मंदिर के आकार का भव्य रेलवे स्टेशन बन रहा है, बस स्टेशन और एयरपोर्ट भी बन रहा है. इस तरह अयोध्या कायाकल्प की ओर तेजी से बढ़ रही है. हमारी योजना है कि अयोध्या आने वाले भक्तों को राम मंदिर निर्माण की पूरी जानकारी मिल सके. 

चंपत राय ने बताया कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए भी लोगों को मंदिर निर्माण के बारे में बताया जाएगा. ट्रस्ट ने यूट्यूब पर 5 मिनट का वीडियो भी अपलोड किया है. 5 मिनट के वीडियो में मंदिर की नींव का निर्माण शुरू होने से लेकर मंदिर निर्माण पूरा होने तक सब एनिमेशन के जरिए दिखाया है. 700 व्हाट्सऐप ग्रुप और देशभर के आरएसएस कार्यकर्ताओं को वीडियो भेजा गया है. 

अयोध्या में कुछ दिनों पहले तक दीपोत्सव के कारण रोजाना भीड़ रही और अब श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के कारण लाखों श्रद्धालु रोज आ रहे हैं. नए साल के पहले दिन सुबह 7 बजे से 11 बजे तक 4 घंटों में 53 हजार से ज्यादा लोगों ने दर्शन किए थे. दोपहर 2 बजे से शाम 6 बजे दूसरी पाली के श्रद्धालुओं को भी जोड़ दें तो दर्शन करने वालों की संख्या 1 लाख 12 हजार से ज्यादा थी.

लंबे समय तक चली कानूनी लड़ाई के कारण अयोध्या में देश-विदेश के लोगों की गहरी आस्था है. विहिप के अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और दूसरे सहयोगी संगठन भी श्रीराम जन्म भूमि मंदिर के जरिए हिंदुत्व के मुद्दे को उभारना चाहते हैं. 
 
कितना तैयार हुआ है मंदिर
चंपत राय ने बताया कि मंदिर निर्माण का पहला चरण पूरा हो चुका है. दूसरे चरण में ग्रेनाइट के पत्थरों से 21 फीट ऊंची प्लिंथ बनेगी. इसमें पत्थरों के 18000 ब्लॉक होंगे. फरवरी में निर्माण शुरू होगा और 5 महीनों में प्लिंथ बन जाएगी. प्लिंथ का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद गर्भगृह आकार लेना शुरू हो जाएगा. दिसंबर 2023 में मंदिर दर्शनार्थियों के लिए खोले जाने के की बात कही गई है, जबकि 2025 में भव्य और दिव्य श्री राम जन्मभूमि मंदिर बनकर तैयार होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×