scorecardresearch
 

जानिए कौन हैं आशा वर्कर पूनम पांडेय, जिन्हें कांग्रेस ने दिया शाहजहांपुर से टिकट; पुलिस से मारपीट के बाद आई थीं चर्चा में

पूनम पांडेय की महिला पुलिसकर्मियों ने पिटाई की थी. इतना ही नहीं पूनम समेत कई आशा वर्कर्स को भी हिरासत में लिया गया था. पूनम पांडेय के साथ मारपीट का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इसके बाद प्रियंका गांधी ने उनसे मुलाकात की थी. प्रियंका गांधी ने पीड़ित पूनम पांडेय को उस वक्त इंसाफ दिलाने का आश्वासन देकर हर संभव मदद का भरोसा दिया था.

शाहजहांपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस ने पूनम पांडेय को बनाया उम्मीदवार शाहजहांपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस ने पूनम पांडेय को बनाया उम्मीदवार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कांग्रेस ने 125 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट की जारी
  • इस लिस्ट में 40% महिलाओं के नाम

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए 125 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी. इस लिस्ट में प्रियंका गांधी के वादे के मुताबिक 40% महिलाओं को टिकट दिया गया. इस लिस्ट में कुछ ऐसे भी नाम हैं, जिन्होंने सभी को चौंका दिया है. कांग्रेस की लिस्ट में उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मां आशा सिंह, पत्रकार निदा अहमद, एक्ट्रेस और एक्टिविस्ट सदफ जफर, आशा वर्कर पूनम पांडेय जैसे नाम शामिल हैं.  

इनमें से ही एक नाम शाहजहांपुर विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाई गईं आशा वर्कर पूनम पांडेय का भी है. पूनम पांडेय के साथ पुलिस ने मारपीट की थी, उसके बाद वे चर्चा में आई थीं. आईए जानते हैं कि आखिर कौन हैं पूनम पांडेय. 

कौन हैं पूनम पांडेय?

दरअसल, कोरोना काल में आशा वर्कर्स ने जी जान से काम किया. अपने स्वास्थ्य की परवाह किए बिना लगकर अपनी ड्यूटी दी. आशा वर्कर्स ने मानदेय बढ़ाने की मांग को लेकर सीएम आवास के सामने प्रदर्शन किया था. इस दौरान पुलिस पर पूनम पांडेय और अन्य आशा वर्कर्स के साथ पिटाई का आरोप लगा. इसके बाद पूनम पांडेय चर्चा में आई थीं.  

पूनम पांडेय की महिला पुलिसकर्मियों ने पिटाई की थी. इतना ही नहीं पूनम समेत कई आशा वर्कर्स को भी हिरासत में लिया गया था. पूनम पांडेय के साथ मारपीट का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इसके बाद प्रियंका गांधी ने उनसे मुलाकात की थी. प्रियंका गांधी ने पीड़ित पूनम पांडेय को उस वक्त इंसाफ दिलाने का आश्वासन देकर हर संभव मदद का भरोसा दिया था. 

क्या कहा प्रियंका गांधी ने?

प्रियंका गांधी ने कहा, आशा बहनों ने कोविड के समय अपनी जान की परवाह न करके देश की सेवा की। उनका मानदेय नहीं बढ़ाया तो बहनों ने आवाज उठायी। शाहजहांपुर की आशा कार्यकर्ता पूनम पांडेय को पुलिस ने बुरी तरह पीटा था। वे भी हमारी प्रत्याशी होंगी। 

क्या कहा पूनम पांडेय ने?

वहीं, उम्मीदवार बनाए जाने के बाद कांग्रेस प्रत्याशी पूनम पांडेय ने कहा, प्रियंका गांधी ने उन पर भरोसा जताया है. जिस पर वह पूरा खरा उतरेंगी. प्रियंका गांधी का जो नारा है लड़की हूं लड़ सकती हूं, उनका कहना है कि उनकी लड़ाई उस सरकार से है जिस सरकार ने उन पर लाठी चलवाई थी. आशा बहू से राजनीति में उतरीं कांग्रेस प्रत्याशी पूनम पांडे का दावा है कि वह शाहजहांपुर विधानसभा में जीत हासिल करेंगी और कांग्रेस को आगे ले जाएंगी. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×