scorecardresearch
 

कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण का VRS के लिए आवेदन, BJP से लड़ सकते हैं चुनाव

कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण बीजेपी के साथ अपनी नई पारी शुरू कर रहे हैं. उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में इस बात पर दुख भी जाहिर किया कि वे अब पुलिस की वर्दी दोबारा नहीं पहन पाएंगे. उन्होंने कहा कि अपने साथियों से विदा लेते हुए वचन देता हूं कि इस वर्दी के सम्मान के लिए सबसे आगे खड़ा मिलूंगा.

X
BJP की टिकट से चुनाव लड़ सकते हैं कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण BJP की टिकट से चुनाव लड़ सकते हैं कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीजेपी के साथ कानपुर पुलिस कमिश्नर की नई पारी
  • कन्नौज से चुनावी मैदान में उतर सकते हैं कमिश्नर
  • सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया पार्टी में आने का ऑफर

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में चुनाव का ऐलान हो गया है. सात चरण में होने वाले इस चुनाव के नतीजे 10 मार्च को सामने आ जाएंगे. सभी पार्टियां बड़े-बड़े दावे कर रही हैं. सभी पार्टियां अपने संगठन को और ज्यादा मजबूत करने की कवायद में लगी हैं. अब इस बीच कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने VRS (एच्छिक सेवा निवृत्ति) लेने का फैसला किया है. वे अपनी राजनीतिक पारी भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ शुरू कर रहे हैं.

सीएम योगी का आभार, बापू के सिद्धांतों पर काम करने का वादा

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए असीम अरुण ने बताया है कि उन्हें सीएम योगी आदित्यनाथ की तरफ से बीजेपी ज्वाइन करने का ऑफर मिला है. उन्होंने इस बात पर खुशी जाहिर की है कि उन्हें इस काबिल समझा गया. वे अब अपना पूरा अनुभव राजनीति में लगाना चाहते हैं. जोर देकर कहा गया कि वे महात्मा गांधी के सिद्धांतों पर काम करने वाले हैं. समाज के हर वर्ग के सम्मान के लिए मेहनत करेंगे. अपनी पोस्ट में असीम अरुण ने इस बात पर दुख भी जाहिर किया कि वे अब पुलिस की वर्दी दोबारा नहीं पहन पाएंगे. उन्होंने कहा कि अपने साथियों से विदा लेते हुए वचन देता हूं कि इस वर्दी के सम्मान के लिए सबसे आगे खड़ा मिलूंगा. आपको मेरी ओर से जोरदार सैल्यूट.

असीम अरुण की फेसबुक पोस्ट

चुनावी मैदान में उतरेंगे कमिश्नर?

वैसे अब अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं कि बीजेपी असीम अरुण को चुनाव लड़ने के लिए कह सकती है. उन्हें कन्नौज से प्रत्याशी बनाया जा सकता है. आधिकारिक ऐलान तो नहीं हुआ है लेकिन टाइमिंग को देखते हुए ऐसे कयास जरूर लगाए जा रहे हैं. जानकारी के लिए बता दें कि असीम अरुण कन्नौज के ही रहने वाले हैं. इस क्षेत्र में उन्होंने अपनी एक अलग ही पहचान बना रखी है. अब चुनावी मैदान में वे उसी पहचान और अनुभव का पूरा लाभ उठाना चाहते हैं. वैसे असीम अरुण के पिता स्वर्गीय श्री राम अरुण उत्तर प्रदेश के दो बार डीजीपी रह चुके हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें