scorecardresearch
 

अखिलेश यादव IT छापों को लेकर राष्ट्रपति और EC से मिलेंगे, कार्रवाई में हस्तक्षेप की करेंगे मांग

दरसअसल, उत्तर प्रदेश में कारोबारी पीयूष जैन के ठिकानों बाद अब आयकर विभाग ने शुक्रवार को कानपुर, कन्नौज के साथ-साथ लखनऊ और मुंबई में भी छापेमारी की. बताया जा रहा है कि ये छापे इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन उर्फ पंपी के ठिकानों पर मारे गए. पुष्पराज जैन समाजवादी पार्टी से MLC हैं. इन्होंने हाल ही में अखिलेश यादव के हाथों समाजवादी इत्र लॉन्च कराया था.

X
अखिलेश यादव ने कन्नौज में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भाजपा सरकार पर साधा निशाना अखिलेश यादव ने कन्नौज में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भाजपा सरकार पर साधा निशाना
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुष्पराज जैन के ठिकानों पर आईटी के छापे
  • सपा से एमएलसी हैं पुष्पराज जैन

उत्तर प्रदेश में सपा नेताओं के यहां छापेमारी के बाद पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने केंद्र की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा. इतना ही नहीं अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई को लेकर वे राष्ट्रपति और चुनाव आयोग से भी मिलेंगे और हस्तक्षेप की मांग करेंगे.  

दरसअसल, उत्तर प्रदेश में कारोबारी पीयूष जैन के ठिकानों के बाद अब आयकर विभाग ने शुक्रवार को कानपुर, कन्नौज के साथ-साथ लखनऊ और मुंबई में भी छापेमारी की. बताया जा रहा है कि ये छापे इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन उर्फ पंपी के ठिकानों पर मारे गए. पुष्पराज जैन समाजवादी पार्टी से MLC हैं. इन्होंने हाल ही में अखिलेश यादव के हाथों समाजवादी इत्र लॉन्च कराया था.  पुष्पराज कन्नौज में उसी इलाके में रहते हैं जहां पीयूष जैन का पुश्तैनी घर है.

अखिलेश बोले- विपक्ष को टारगेट किया जा रहा

अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि केंद्र ने पहले गलत आदमी के यहां छापे मारे थे. अब सपा एमएलसी के ठिकानों पर छापे पहली गलती को छिपाने के लिए मारे गए हैं. अखिलेश यादव ने कहा, मैं चुनाव आयोग और राष्ट्रपति को पत्र लिखूंगा कि विपक्ष को टारगेट करने और लोकतंत्र का मजाक बनाने के लिए किस तरह केंद्रीय एजेंसियों का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है.  

सीएम योगी पर भी साधा निशाना

अखिलेश यादव ने कहा, बीजेपी हार रही है. ऐसे में असली मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ मथुरा में मंदिर बनाने की बात कर रहे हैं. पूर्व सीएम ने कहा, दिल्ली (भाजपा) में इस बात का अहसास है कि योगी चुनाव हार जाएंगे. और इसीलिए छापेमारी और अन्य इस तरह के कामों से सीएम योगी को और अधिक संकट में डाला जा रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें