scorecardresearch
 

यूपी चुनाव: रणनीति को धार देने के लिए BJP की नई कोर टीम, जानिए किन्हें किया शामिल

अब खबर है कि यूपी बीजेपी की तरफ से एक कोर टीम बना दी गई है. चुनावी प्रचार की जिम्मेदारी भी ये टीम ही देखने वाली है. इस टीम में धर्मेंद्र प्रधान, अनुराग ठाकुर, भूपेंद्र यादव, अश्विनी वैश्नव, राजीव चंद्रशेखर, मुख्तार नकवी और ज्तोरादित्य सिंधिया को शामिल किया है.

बीजेपी की यूपी तैयारी में नया प्लान ( पीटीआई) बीजेपी की यूपी तैयारी में नया प्लान ( पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीजेपी की यूपी तैयारी में नया प्लान
  • रणनीति को धार देने के लिए BJP की नई कोर टीम
  • प्रधान-सिंधिया को किया गया शामिल

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में चुनाव दस्तक देने जा रहे हैं. अगले साल होने वाले चुनाव के लिए तमाम पार्टियों ने अपनी तैयारी करना शुरू कर दिया है. बीजेपी की तरफ से भी बड़े स्तर पर समीकरण साधने का प्रयास शुरू हो चुका है. कई बैठकों का दौर तो जारी है ही, इसके अलावा कई कमेटियां भी बना दी गई हैं.

बीजेपी की यूपी तैयारी में नया प्लान

अब खबर है कि यूपी बीजेपी की तरफ से एक कोर टीम बना दी गई है. चुनावी प्रचार की जिम्मेदारी भी ये टीम ही देखने वाली है. इस टीम में धर्मेंद्र प्रधान, अनुराग ठाकुर, भूपेंद्र यादव, अश्विनी वैष्णव, राजीव चंद्रशेखर, मुख्तार नकवी और ज्योतिरादित्य सिंधिया को शामिल किया है. पूरे यूपी चुनाव के दौरान ये कोर टीम एक सक्रिय भूमिका निभाने जा रही है.

कोर टीम का गठन, क्या मायने?

वैसे भी कुछ दिन पहले धर्मेंद्र प्रधान को यूपी चुनाव का प्रभारी बना दिया गया है. ऐसे में अब इस कोर टीम का सक्रिय होना बता रहा है कि प्रधान द्वारा यूपी चुनाव के लिए रणनीति बनाने पर काम शुरू हो गया है. जानकारी मिली है कि इस कोर टीम द्वारा कुछ बैठकें पहले ही की जा चुकी हैं. ऐसे में गठन के साथ ही ये टीम सक्रिय मोड में आ चुकी है. अब आने वाले दिनों में किस तरह से ये टीम बीजेपी की रणनीति को दिशा देती है, ये देखने वाली बात रहेगी.

बूथ स्तर पर बीजेपी की तैयारी

खबर ये भी है कि बीजेपी कल से पूरे प्रदेश में बूथ शिविर अभियान की शुरुआत करने जा रही है. पार्टी का प्रयास है कि चुनाव शुरू होने से पहले सभी बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को साथ में जोड़ लिया जाए. ऐसा होने पर चुनाव के दौरान बेहतरीन तालमेल देखने को मिल सकता है जिससे तमाम तरह के समीकरण साधने में मदद रहे. ऐसा कहा जा रहा है कि इस मुहिम के तहत खुद जेपी नड्डा यूपी के 27 हजार केंद्रों का जिम्मा अपने ऊपर ले सकते हैं. जिस तरह से 2014 में अमित शाह ने यूपी जीत में सक्रिय भूमिका निभाई थी, अब कुछ ऐसा ही नड्डा भी करने का प्रयास कर सकते हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×