scorecardresearch
 

यूपी चुनाव: 8432 मस्जिदों के बाहर संकल्प पत्र बांटेगी कांग्रेस, 25 लाख लोगों को करेगी टारगेट

यूपी में कांग्रेस शुक्रवार से सभी मस्जिदों के बाहर संकल्प पत्र बांटेगी. इसे मुस्लिम वोटों को साधने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है. ये संकल्प पत्र 24 सितंबर 15 अक्टूबर तक एक महा अभियान के तहत बांटे जाएंगे.

X
सभी 403 विधानसभा की मस्जिदों के बाहर बांटेगी संकल्प पत्र (प्रतीकात्मक तस्वीर)
सभी 403 विधानसभा की मस्जिदों के बाहर बांटेगी संकल्प पत्र (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सभी मस्जिदों के बाहर बांटेगी संकल्पर पत्र
  • 24 सितंबर से 15 अक्टूबर तक महा अभियान

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) की तैयारियां शुरू हो गई हैं. सभी पार्टियों ने वोटरों को साधने की कोशिश शुरू कर दी है. इसी बीच कांग्रेस (Congress) ने शुक्रवार से सभी मस्जिदों के बाहर संकल्प पत्र बांटने का फैसला लिया है. इसे मुस्लिम वोटों को साधने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है. ये संकल्प पत्र 24 सितंबर से 15 अक्टूबर तक महा अभियान के तहत बांटे जाएंगे.

यूपी में अल्पसंख्यक कांग्रेस मस्जिद तक पहुंच कर लोगों को संकल्प पत्र बांटने की शुरुआत करने जा रही है जिसमें 24 सितंबर से आने वाले अगले चार शुक्रवार जब जुमे की नमाज पढ़ी जाती है उस दौरान मस्जिदों के बाहर ये संकल्प पत्र बांटे जाएंगे. कांग्रेस का ये अभियान 15 अक्टूबर तक चलेगा. ये संकल्प पत्र सभी 403 विधानसभा सीटों की बड़ी मस्जिदों के बाहर बांटे जाएंगे.

अल्पसंख्यक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज आलम ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस में 6 सितंबर को परिवर्तन संकल्प सम्मेलन में इस 16 सूत्रीय संकल्प पत्र को पास किया गया था, जिसको मुस्लिम मोहल्ले तक पहुंचाया जाएगा.

ये भी पढ़ें-- यूपी के मुसलमान, किसपर होंगे मेहरबान? 20 फीसदी वोटों के लिए पार्टियों में घमासान

शाहनवाज आलम के मुताबिक, प्रदेश की सभी विधानसभा सीटों पर बड़ी मस्जिदों तक ये संकल्प पत्र पहुंचाया जाएगा. इसके लिए 8 हजार 432 मस्जिदों को चुना गया है. इन मस्जिदों के जरिए 25 लाख लोगों तक इस संकल्प पत्र को पहुंचाया जाएगा. हालांकि इसके लिए वहां के प्रभारी जिलों में रुककर इसे मॉनिटर भी करेंगे. 

कुछ ही महीनों में होंगे चुनाव

उत्तर प्रदेश में अगले साल फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं. 2017 के चुनाव में बीजेपी ने यहां की 403 में से 312 सीटों पर जीत दर्ज की थी. सपा और कांग्रेस ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. सपा ने 47 और कांग्रेस ने 7 सीटें ही जीती थीं. मायावती की बसपा 19 सीटें जीतने में कामयाब रही थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें