scorecardresearch
 

अखिलेश यादव का निशाना, बोले- OBC को जनसंख्या के अनुपात में हक नहीं देना चाहती बीजेपी

शनिवार को अखिलेश यादव ने ट्वीट करके लिखा कि भाजपा सरकार ने लंबे समय से चली आ रही ‘ओबीसी’ समाज की गणना की मांग को ठुकरा कर साबित कर दिया है कि वो ‘अन्य पिछड़ा वर्ग’ को गिनना नहीं चाहती है.

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखिलेश यादव बीजेपी पर हमलावर
  • अब OBC जनसंख्या को लेकर घेरा

उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव बीजेपी पर हमलावर हैं. उन्होंने कहा है कि बीजेपी ओबीसी को जनसंख्या के अनुपात में उनका हक नहीं देना चाहती है. 

शनिवार को अखिलेश यादव ने ट्वीट करके लिखा- 'भाजपा सरकार ने लंबे समय से चली आ रही ‘ओबीसी’ समाज की गणना की मांग को ठुकरा कर साबित कर दिया है कि वो ‘अन्य पिछड़ा वर्ग’ को गिनना नहीं चाहती है क्योंकि वो ओबीसी को जनसंख्या के अनुपात में उनका हक़ नहीं देना चाहती है. धन-बल की समर्थक भाजपा शुरू से ही सामाजिक न्याय की विरोधी है. 

इससे पहले गुरुवार को बीजेपी को घेरते हुए अखिलेश यादव ने कहा था कि यूपी सरकार गाय, गंगा और गड्ढे के मामले में फेल है. प्रदेश में अगले साल कई अन्य राज्यों के साथ फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. आम लोगों की बीजेपी से काफी नाराजगी है और इस वजह से सपा को 400 सीटें मिलने जा रही हैं.

बता दें कि समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की 2022 की चुनावी जंग जीतने के लिए 'नई हवा है, नई सपा है' का नारा दिया है. अखिलेश इस नारे के -साथ मुलायम सिंह यादव के एम-वाई (मुस्लिम-यादव) समीकरण की परिभाषा भी बदल दी है.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें