scorecardresearch
 

सुशील मोदी का पलटवार- वोट के लिए गोमांस भी खा सकते हैं लालू

बीजेपी नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव पर पलटवार किया है. मोदी ने ट्वीट कर कहा कि लालू प्रसाद वोट के लिए गोमांस भी खा सकते हैं. लालू यादव ने अपने बयान से करोड़ों लोगों का अपमान किया है.

X

बीजेपी नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव पर पलटवार किया है. मोदी ने ट्वीट कर कहा कि लालू प्रसाद वोट के लिए गोमांस भी खा सकते हैं. लालू यादव ने अपने बयान से करोड़ों लोगों का अपमान किया है.

ये कैसे यदुवंशी
सुशील कुमार मोदी ने एक ट्वीट कर लालू के यादव वंश का होने पर ही सवाल खड़ा किया और कहा ये कैसे यदुवंशी गोपालक हैं जो गाय का मांस खाने की बात करते हैं?

दिनभर चली बीफ पर बहस
दरअसल, RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद ने गोमांस को लेकर कुछ ऐसी बातें कहीं, जो केंद्रीय मंत्री और BJP नेता ग‍िरिराज सिंह को नागवार लगी. इसके बाद गिरिराज ने लालू पर हमला बोलने में थोड़ी भी देर नहीं लगाई. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी लालू को आड़े हाथों लिया.

लालू ने कहा था हिंदू भी खाते हैं बीफ
लालू प्रसाद ने कहा कि मांस खाने वाले को इससे क्या फर्क पड़ता है कि वह गाय का मांस खा रहा है या बकरे का? हिंदू भी बीफ खाते हैं. दादरी मामले को सांप्रदायिक रंग दिया जा रहा है.

हालांकि लालू ने आगे यह भी जोड़ दिया कि मांस किसी को नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इससे कई तरह की बीमारियां होती हैं.

अपने शब्द वापस लें लालू: गिरिराज
लालू प्रसाद के बयान के बाद गिरिराज सिंह ने उनसे तुरंत बयान वापस लेने की मांग की. गिरिराज ने ट्वीट करके चेतावनी देते हुए कि कहा कि अगर लालू ने शब्द वापस नहीं लिए, तो इस पर आंदोलन किया जाएगा.

'अपने पिछले काम से ध्यान हटाने में जुटे लालू'
केंद्रीय गृहमंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि लालू ने अपने 15 साल के शासन के दौरान जो किया है, उससे ध्यान हटाने के लिए ही वे बीफ का मुद्दा उठा रहे हैं.

गौरतलब है कि यूपी के दादरी में बीफ की अफवाह के बाद इखलाक नाम के एक शख्स का मर्डर हो गया, जिससे इलाके में तनाव है. अब इस मसले पर जमकर बयानबाजी हो रही है.

लालू यादव ने कहा था कि हिंदू भी तो बीफ खाते हैं. मांस खाने वाले को इससे क्या फर्क पड़ता है कि वह गाय का मांस खा रहा है या बकरे का? हालांकि बाद में वह अपने बयान से पलट भी गए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें