scorecardresearch
 

Assembly election results 2022: लोगों के आशीर्वाद ने मुझे यूपी वाला बना दिया, चुनाव में मिली जीत पर बोले PM मोदी

Assembly election results 2022: चार राज्यों में हुई जीत को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को नई दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया.

X
दिल्ली बीजेपी कार्यालय में PM मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. दिल्ली बीजेपी कार्यालय में PM मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली BJP कार्यालय में हुआ PM मोदी का स्वागत
  • पांच में से 4 राज्यों में बीजेपी सरकार बनाने के करीब

Assembly election results 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) कार्यकर्ताओं ने मुझसे वादा किया था कि इस बार होली 10 मार्च से ही शुरू हो जाएगी और यह वादा उन्‍होंने पूरा करके दिखा दिया. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने दिन-रात मेहनत करके यह जीत हासिल करवाई. यूपी ने देश को कई मुख्यमंत्री दिए, लेकिन पांच साल का कार्यकाल पूरा करने वाले सीएम को पहली बार दोबारा चुना है.   

नई दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में गुरुवार शाम पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए PM मोदी ने कहा, गोवा में सारे एग्जिट पोल गलत निकल गए, वहां की जनता ने BJP को तीसरी बार सेवा करने का मौका दिया है. 10 साल सरकार रहने के बाद भी वहां बीजेपी की सीटों की संख्या बढ़ी है. उत्तराखंड में भी लगातार दूसरी बार किसी पार्टी को सरकार बनाने का मौका मिला है.

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में आगे कहा कि सरकार की योजनाओं और नीतियों पर मतदाताओं ने मुहर लगाई है. हमने योजनाओं के डिलीवरी सिस्टम को दुरूस्त किया है, और मैं गरीब के घर तक उसका फायदा पहुंचाए बिना चैन से बैठने वाला नहीं हूं. योजनाओं को शत प्रतिशत तक हर गरीब पहुंचाने के लिए बहुत हिम्मत की जरूरत पड़ी, लेकिन मैंने यह कर दिखाया. 

हमारा सौभाग्य है कि महिलाओं-बेटियों ने बीजेपी को बंपर वोट दिया है. स्त्री शक्ति बीजेपी की जीत की सारथी बनी हैं. पीएम ने बताया कि जहां जहां पार्टी प्रत्याशियों को जीत मिली, वहां वहां महिला और बेटियों के वोट ज्यादा मिले. पीएम ने कहा कि मां-बहनें निरंतर बीजेपी पर विश्वास जता रही हैं.  

ज्ञानियों से कहता हूं कि यूपी की जनता को जातिवादी नजरिए को देखना बंद करें. कुछ लोग यूपी को कहकर बदनाम करते हैं कि यहां सिर्फ जाति ही चलती है, लेकिन राज्य की जनता 2014, 2017, 2019 और 2022 में सिर्फ और  सिर्फ विकासवाद की राजनीति को चुना है. अब जनता ने सबक सिखा दिया था कि जाति का मान देश को जोड़ने के लिए होना चाहिए न कि तोड़ने के लिए.  

मैं आज ये भी कहूंगा कि 2019 के चुनाव नतीजों के बाद, कुछ पॉलिटिकल ज्ञानियों ने कहा था कि 2017 के नतीजों ने 2019 के नतीजे तय कर दिए. मैं मानता हूं इस बार भी वो यही कहेंगे कि 2022 के नतीजों ने 2024 के नतीजे तय कर दिए.

वहीं, पंजाब में चुनावी परिणाम को लेकर पीएम ने कहा कि बीजेपी एक शक्ति के रूप में उभर रही है. सीमावर्ती राज्य होने के नाते पंजाब को अलगाववादी राजनीति से सतर्क रखने के लिए बीजेपी का कार्यकर्ता जान की बाजी लगा देगा. उन्होंने विपरीत परिस्थितियों में जिस प्रकार पार्टी का झंडा बुलंद किया है, वो आने वाले समय में पंजाब में भाजपा की और देश की मजबूती को एक अहम स्थान के रूप में विकसित करेंगे. बता दें कि पंजाब में आम आदमी पार्टी को बहुमत हासिल हुआ है. 

लोकतंत्र भारतीयों की रगों में

इस समय जो युद्ध चल रहा है, उसका प्रभाव प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूस से दुनिया के हर देश पर पड़ रहा है. भारत शांति के पक्ष में है. जो देश युद्ध लड़ रहे हैं, उनके भारत के आर्थिक हित जुड़े हुए हैं. युद्ध के कारण पूरी दुनिया में महंगाई बढ़ रही है, लेकिन भारत के इस बार के बजट पर नजर डालें तो देश आत्मनिर्भर होकर आगे बढ़ रहा है. मैं मानता हूं कि दुनियाभर में उथल पुथल से भरे माहौल में यूपी जैसे राज्य ने अपनी दूर दृष्टि का परिचय दिया है. भारत के मतदाताओं ने जिस तरह स्थिर सरकार के लिए वोट दिया, वो इस बात का प्रतीक है कि लोकतंत्र भारतीयों की रगों में हैं.

देश का सामान्य नागरिक राष्ट्र निर्माण में जुटा है और अपनी जिम्मेदारियों को बहुत अच्छे तरीके से निभा रहा है. लेकिन कुछ लोग राजनीति के स्तर को गिराते जा रहे हैं. कोरोना के समय देखा जाए तो भारत के वैक्सीनेशन की दुनिया तारीफ कर रही थी, लेकिन ये लोग सवाल उठा रहे थे. यही लोग यूक्रेन में फंसे लोगों की चिंता बढ़ा रहा थे. इन्हीं लोगों ने ऑपरेशन गंगा को भी प्रदेशवाद की बेड़ियों में बांधने की कोशिश की. हर योजना को प्रांतवाद, क्षेत्रवाद, जातिवाद, सांप्रदायवाद देना बहुत ही चिंता का विषय है. 

परिवारवाद को जनता ने नकारा

इस चुनाव में मैंने लोगों को बताया कि कैसे परिवारवाद प्रदेश देश को पीछे ले जा रहा है. इस बात को लोगों ने समझा और इससे उठकर वोट दिया. जिन मुद्दों को मैं उठा रहा हूं, उन पर बहस होनी जरूरी है. एक दिन ऐसा आएगा कि इस देश में परिवारवादी राजनीति का सूर्यास्त लोग करके रहेंगे. इसी चुनाव से मतदाताओं ने इस बात का इशारा कर दिया है. 

BJP साल 2014 में ईमानदारी का वादा करके चुनाव जीती थी, जब हमने यह कर दिखाया तो साल 2019 में भी हमें जनता ने आशीर्वाद दिया. लेकिन आज हम देख रहे हैं कि जो निष्पक्ष संस्थाएं भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई करती हैं तो भ्रष्टाचारियों का पूरा ईको सिस्टम जांच एजेंसियों पर दबाव बनाने लगे हैं. इन लोगों को न्यायपालिका पर भी भरोसा नहीं है. पहले हजारों करोड़ों का भ्रष्टाचार करो, फिर जांच न होने दो और अगर जांच हो तो फिर दबाव बनाओ. किसी माफिया के खिलाफ अदालत फैसला सुना देती है तो ये लोग उसे धर्म और राजनीति से जोड़ देते हैं. मैं सभी संप्रदायों और जाति धर्मों से आग्रह करना चाहता हूं कि भ्रष्टाचारी और माफियों से दूरी बनाएं ताकि सबको भला होगा. 

'मुझे भी यूपी वाला बना दिया'

यूपी में ऐसी ही राजनीति का नुकसान लोगों ने सहा है. यूपी के लोगों के प्यार और आशीर्वाद ने मुझे भी यूपी वाला बना दिया है. बनारस का सांसद होने के नाते कह सकता हूं कि राज्य के लोगों ने समझ लिया है कि अब भ्रष्टाचारी और माफियाओं से दूर रहना है. ये चुनाव परिणाम आने वाले 25 वर्षों के लिए देश के मिजाज को प्रतिबंबित करते हैं. आजादी महोत्सव को देखते हुए हम दो पटरियों पर गांव, गरीब, किसान, युवाओं से के लिए काम तेज करना चाहते हैं.   

आज एक ऐसे भारत का निर्माण हो रहा है, जहां आपकी पहचान आपके काम से होती है, न कि आपके परिवार से. सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास सभी राज्यों को आगे ले जाने का काम करेगा. युवाओं की इसमें महती भूमिका है. उन्होंने कहा कि एक पल बिना गंवाए हमें जुट जाना है, चुनौतियां कितनी भी कठिन क्यों न हों, हमें सामना करना है. भारत के उज्जवल भविष्य के लिए जनता ने जो निर्णायक मतदान किया है, इसके लिए सभी मतदाताओं का अभिनंदन जरूरी है. 


PM की नीतियों पर जनता ने लगाई मुहर: जेपी नड्डा
 
इस मौके पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि आज जो नतीजे आए हैं, जिसमें हमें एकतरफा भारत की जनता का आशीर्वाद मिला है, वो इस बात को बताता है कि पीएम मोदी के द्वारा चलाए कार्यक्रम और नीतियों पर चार राज्यों की जनता ने मुहर लगाई है. पूरी बीजेपी की तरफ से मैं पार्टी कार्यकर्ताओं और मतदाताओं को धन्यवाद देता हूं. 

नड्डा ने कहा है कि लोकसभा और विधानसभा चुनावों में लगातार 4 बार मोदी जी को प्रचंड आशीर्वाद दिया है. यह 37 साल बाद हो रहा है कि यूपी में लगातार दूसरी बार किसी पार्टी की सरकार आई है. 

उत्तराखंड में भी पहली बार ही दोबारा सरकार बनाई है. इससे पहले उत्तराखंड में सरकार रिपीट नहीं हो पाती थी.  मणिपुर में पहली बार पूरे बीजेपी के बहुमत से सरकार बन रही है. गोवा में इस बार हैट्रिक बनाने जा रहे हैं.  चार राज्यों के अलावा असम के स्थानीय चुनावों में 80 में से 77 सीटों पर जीत हासिल की है. इसलिए हमारी जनता ने मोदी जी को भरपूर आशीर्वाद दिया है.  

भारतीय जनता पार्टी (BJP) उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में लगातार दूसरी बार जीत की ओर बढ़ गई है और तीन अन्य राज्यों  मणिपुर, उत्तराखंड और गोवा के रुझानों में बढ़त बनाए हुए है. उधर, आम आदमी पार्टी (AAP) पंजाब में जबरदस्त जीत के साथ इतिहास रचती दिखाई दे रही है. 

देश के 5  राज्यों में फरवरी और मार्च में मतदान हुआ था. केंद्र में सत्तारूढ़ पार्टी BJP इनमें से चार राज्यों में विजय पताका फहराने के करीब है. चुनाव आयोग के ताजा आंकड़ों के अनुसार, यूपी के साथ-साथ उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में बीजेपी आगे है. 

उल्लेखनीय है कि दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर जाता है, इसलिए सभी की निगाहें सियासी तौर पर अहम स्थान रखने वाले सूबे उत्तर प्रदेश पर टिकी हैं. इस राज्य में 37 साल बाद  इतिहास दोहराया जाएगा. मतलब तकरीबन साढ़े तीन दशक बाद यूपी में किसी पार्टी की लगातार दूसरी बार  सरकार बनने जा रही है. 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें