scorecardresearch
 

गिले-शिकवे भुला मोदी बोले- आडवाणी जी की उंगली पकड़कर चलने का सौभाग्य मिला

बीजेपी के पीएम कैंडिडेट और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में शनिवार को पार्टी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी ने गांधीनगर सीट से नामांकन दाखिल किया. इस मौके पर दोनों नेताओं ने एक दूसरे की जमकर तारीफ की. आडवाणी ने कहा बीजेपी जीतेगी और मोदी एक अच्छे प्रधानमंत्री साबित होंगे.

नामांकन दाखिल करते वक्त आडवाणी के साथ थे मोदी नामांकन दाखिल करते वक्त आडवाणी के साथ थे मोदी

बीजेपी के पीएम कैंडिडेट और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में शनिवार को पार्टी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी ने गांधीनगर सीट से नामांकन दाखिल किया. इस मौके पर दोनों नेताओं ने एक दूसरे की जमकर तारीफ की. आडवाणी ने कहा बीजेपी जीतेगी और मोदी एक अच्छे प्रधानमंत्री साबित होंगे.

आडवाणी ने उनकी सीट संबंधी किसी भी विवाद को नकारते हुए कहा कि उन्होंने अपनी परंपरागत गांधीनगर लोकसभा सीट से चुनाव नहीं लड़ने के बारे में कभी नहीं सोचा.

आडवाणी ने कहा, ‘मध्य प्रदेश में मेरे मित्र चाहते थे कि मैं भोपाल से भी चुनाव लड़ूं. लेकिन मैंने गांधीनगर से चुनाव नहीं लड़ने की बात कभी नहीं की.’ ऐसी रिपोर्ट थीं कि पूर्व उप प्रधानमंत्री ने अपना निर्वाचन क्षेत्र गांधीनगर से भोपाल स्थानांतरित करने की इच्छा जाहिर की थी लेकिन बाद में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और पार्टी के हस्तक्षेप के बाद उन्हें गुजरात की राजधानी से चुनाव लड़ने को वस्तुत: मजबूर होना पड़ा.

उन्होंने कहा कि गांधीनगर से चुनाव लड़ना उनके लिए ‘खुशी’ की बात है. उन्होंने राज्य के साथ अपने दशकों पुराने संबंध की बात की. आडवाणी ने विभाजन का जिक्र करते हुए कहा, ‘आखिरकार, गांधीनगर और गुजरात के साथ मेरे संबंध यहां से चुनाव लड़ने के साथ शुरू नहीं हुए. ये संबंध भारत की आजादी से जुड़े दुर्भाग्यपूर्ण पहलू से शुरू हुए.’ विभाजन के बाद आडवाणी और उनका परिवार पाकिस्तान से भारत आ गया था.

आडवाणी ने कहा, ‘मेरे पिता कुछ समय के लिए आदिपुर (कच्छ का एक कस्बा जहां आडवाणी और उनका परिवार विभाजन के बाद आए थे) में रहे. इसके बाद वह काशी (बनारस या वाराणसी) गए जहां मेरी दादी अपने जीवन के आखिरी दिन बिताना चाहती थी.’ उन्होंने कहा, ‘वह वहां 3-4 साल रहे और फिर आदिपुर चले गए. यह मेरे परिवार की पृष्ठभूमि और गुजरात के साथ मेरे परिवार के संबंध हैं.’ आडवाणी के नामांकन भरने के दौरान मोदी भी उनके साथ होंगे.

मोदी ने की आडवाणी की तारीफ
इस मौके पर मोदी ने गांधीनगर की जनता से आडवाणी को भारी मतों से विजयी बनाने की अपील की. उन्होंने कहा, 'मुझे आडवाणी जी की उंगली पकड़कर चलने का सौभाग्य मिला. जीवन में हर कदम पर उन्होंने मेरा साथ दिया.'

मोदी ने कहा कि हम गुजरात की सभी सीटों पर चुनाव जीतेंगे. इस देश को कांग्रेस मुक्त बनाना है. हमें हर पोलिंग बूथ जीतना है. कांग्रेस किसी भी प्रदेश में 10 सीट जीत नहीं पाएगी. हर छोटा कार्यकर्ता पोलिंग बूथ संभाले तो हम चुनाव जीतेंगे.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें