scorecardresearch
 

बेदी पर मनोज तिवारी के वार से BJP आलाकमान नाराज, राम माधव ने लगाई फटकार

किरण बेदी पर मनोज तिवारी के तीखे हमले से बीजेपी आलाकमान ने नाराजगी जाहिर की है. बीजेपी जनरल सेक्रेटरी राम माधव ने इस बाबत मनोज तिवारी को फटकार लगाते हुए कहा है कि पार्टी के फैसले के खिलाफ नहीं बोलना चाहिए.

किरण बेदी पर मनोज तिवारी के तीखे हमले से बीजेपी आलाकमान ने नाराजगी जाहिर की है. बीजेपी जनरल सेक्रेटरी राम माधव ने इस बाबत मनोज तिवारी को फटकार लगाते हुए कहा है कि पार्टी के फैसले के खिलाफ नहीं बोलना चाहिए. पार्टी से जुड़ी कोई बात मीडिया में करने का कोई मतलब नहीं है. अगर कोई बात है तो उसे पार्टी के अंदर सुलझाना चाहिए. अपनी बात पार्टी के फोरम में रखनी चाहिए. हालांकि तिवारी का कहना है कि मैंने कुछ भी गलत नहीं बोला. मैंने उन्हें थानेदार नहीं कहा.

किरण बेदी को बीजेपी दिल्ली में विरोधियों को शांत करने के लिए लाई थी लेकिन पार्टी अंदरूनी फूट से ही उबर नहीं पा रही है. ताजा मामले में दिल्ली में नॉर्थ-ईस्ट से बीजेपी के सांसद मनोज तिवारी ने किरण बेदी पर हमला बोला है.

मनोज तिवारी ने आजतक से बातचीत में बहुत बेबाक तरीके से अपनी बात रखी. किरण बेदी के CM पद की उम्मीदवारी पर उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति दो दिन पहले पार्टी में आया है वह कैसे CM का उम्मीदवार हो सकता है. मनोज तिवारी यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा दिल्ली में हम चुनाव मोदी के नेतृत्व में लड़ेंगे.

किरण बेदी के रवैये पर सवाल उठाते हुए मनोज तिवारी ने कहा, हमें थानेदार की नहीं नेता की जरूरत है. थानेदार और नेता में फर्क होना चाहिए. किरण तानाशाह की तरह बात करती हैं. हमें विधानसभा चुनाव मोदी के नाम पर लड़ना चाहिए. उन्होंने कहा, मुझे खुशी है कि हमारे विरोधी भी अब पार्टी में शामिल हो रहे हैं.

गौरतलब है कि बीजेपी में कई वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार करके एक समय पार्टी की विरोधी रहीं किरण बेदी को पार्टी में शामिल किया गया. पार्टी में यह माहौल तैयार किया गया कि किरण बेदी दिल्ली में बीजेपी के लिए CM की उम्मीदवार होंगी. इस माहौल से बीजेपी के कई नेता खुश नहीं है. पार्टी के कई नेताओं का कहना है किरण बेदी CM उम्मीदवार की तरह व्यवहार भी कर रही हैं.

बेदी ने शनिवार को दिल्ली में पार्टी के सभी सांसदों को अपने घर चाय पर बुलाया था. मनोज तिवारी इस चाय पार्टी में भी नहीं पहुंचे थे. तिवारी ने कहा कि किरण ने हमें चाय पर बुलाया लेकिन मैं वरिष्ठ नेताओं के निर्देश के बिना चाय पर कैसे जाता.

तिवारी ने रविवार को दिए अपने बयान को दोहराते हुए कहा कि किरण बेदी को दिल्ली का मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित नहीं किया गया है. किरण बस दो दिन पहले ही पार्टी में शामिल हुई हैं. अगर वह CM की उम्मीदवार हैं तो फिर शाजिया इल्मी क्यों नहीं?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें