scorecardresearch
 

BJP का चुनावी दांव, जम्मू-कश्मीर का नाम बदलने का वादा कर सकती है पार्टी

जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनाव में कमल खिलाने के मकसद से बीजेपी एक नया शगूफा छोड़ने की तैयारी में है. 'आज तक' को उच्चस्तरीय सूत्रों से खबर मिली है कि बीजेपी अपने चुनावी घोषणा पत्र में जम्मू कश्मीर का नाम बदलने का वादा कर सकती है. बीजेपी इसका नाम जम्मू, कश्मीर और लद्दाख करना चाहती है.

Amit Shah Amit Shah

जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनाव में कमल खिलाने के मकसद से बीजेपी एक नया शगूफा छोड़ने की तैयारी में है. 'आज तक' को उच्चस्तरीय सूत्रों से खबर मिली है कि बीजेपी अपने चुनावी घोषणा पत्र में जम्मू कश्मीर का नाम बदलने का वादा कर सकती है. बीजेपी इसका नाम जम्मू, कश्मीर और लद्दाख करना चाहती है.

बीजेपी काफी पहले से सार्वजनिक तौर पर यह चर्चा करती रही है लेकिन इस बार लग रहा है कि उसके घोषणापत्र में इसको जगह मिलेगी. साथ ही, धारा 370 को हटाने का मुद्दा पार्टी अपने मेनिफेस्टो में नहीं रख सकती है. बीजेपी की कोशिश फिलहाल धारा 370 पर व्यापक बहस चलाने की हो सकती है, जैसा लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था और हाल ही में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी इसकी वकालत की.

अगला CM BJP से होगा: शाह
इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को कहा कि जम्मू और कश्मीर का अगला मुख्यमंत्री उनकी ही पार्टी से होगा. जम्मू क्षेत्र के बनिहाल और रामबन विधानसभा क्षेत्र में जनसभाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, 'बीजेपी का 44 प्लस का चुनावी कार्यक्रम विधानसभा चुनावों में सिद्ध होगा. जम्मू-कश्मीर का अगला मुख्यमंत्री हमारी पार्टी का होगा.' उन्होंने कांग्रेस के 60 साल के वंशवादी आंदोलन की आलोचना की और जोर देते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर की विधानसभा ही वंशवादी शासन की इन सभी बीमारियों को दूर करेगी. उन्होंने कहा, हम वंशवाद को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध हैं ताकि राज्य में प्रगति और विकास का युग शुरू किया जा सके.' पांच चरण के विधानसभा चुनाव में बनिहाल और रामबान विधानसभा सीट पर 25 नवंबर के पहले चरण में मतदान होना है.

किनारे नहीं किया धारा 370 का मुद्दा: बीजेपी
बीजेपी ने आज कहा कि उसने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को हटाने के अपने रुख को इस विधानसभा चुनाव के प्रचार अभियान में न तो कमतर किया है और न ही इस मुद्दे को दरकिनार किया है. पार्टी ने कहा कि वह राज्य में भ्रष्टाचार मुक्त और वंशवाद मुक्त शासन मुहैया कराने तथा विकास के वादों के साथ चुनाव लड़ रही है. बीजेपी की ओर से यह टिप्पणी उस वक्त की गई है जब विपक्षी दलों ने विधानसभा चुनाव के प्रचार में धारा 370 हटाने के मुद्दे पर अपने रुख को कमतर करने को लेकर उस पर निशाना साधा है.

बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि धारा 370 एक राष्ट्रीय मुद्दा है इसीलिए इसे जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान नहीं उठाया गया है. हुसैन ने कहा, ‘धारा 370 पर बहुत चर्चा हुई है और इस चर्चा में हमारे विरोधी भी शामिल रहे. हमने न तो कोई मुद्दा छोड़ा है और न ही दरकिनार किया है. हम सभी मुद्दों के साथ चुनाव में जा रहे हैं.’ उन्होंने कहा, ‘इस विधानसभा चुनाव में धारा 370 की बजाय मुद्दा राज्य में भ्रष्टाचार मुक्त और वंशवाद मुक्त सरकार मुहैया कराने का है जो राज्य का विकास सुनिश्चित कर सके. इसलिए हम इन मुद्दों को ज्यादा उठा रहे हैं.’

परिवारों से परेशान है जम्मू-कश्मीर
शाहनवाज हुसैन ने कहा कि धारा 370 न सिर्फ जम्मू-कश्मीर, बल्कि पूरे देश के लिए महत्वपूर्ण मुद्दा है क्योंकि इसके साथ पूरे देश की भावनाएं जुड़ी हैं. उन्होंने कहा, ‘हमने इस मुद्दे को न तो छोड़ा है और न ही इससे अलग हुए हैं. सवाल यह है कि जम्मू-कश्मीर का चुनाव एक अच्छा शासन मुहैया कराने के लिए लड़ा जा रहा है. यह कहना सही नहीं है कि हमने एक मुद्दा छोड़ दिया और दूसरों को नहीं छोड़ा. हम सभी मुद्दों पर चुनाव लड़ रहे हैं.’

बीजेपी प्रवक्ता ने दावा किया कि राज्य के लोग तीन परिवारों-नेहरू, अब्दुल्ला और मुफ्ती से परेशान हो चुके हैं और वे नरेंद्र मोदी के नाम पर पार्टी का समर्थन कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर के लोगों को नरेंद्र मोदी में विश्वास है और आप इस बार विधानसभा चुनाव के चौंकाने वाले नतीजे देखेंगे.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें