scorecardresearch
 

'मेरी मां कइयों से ज्यादा भारतीय', राहुल की प्रेस कॉन्फ्रेंस की 10 बड़ी बातें

राहुल गांधी ने कहा, '' मेरी मां इटली से हैं, लेकिन उन्होंने अपनी जिंदगी का काफी हिस्सा भारत में बिताया है. वो किसी और भारतीय नागरिक की तरह एक भारतीय ही हैं. राहुल गांधी ने कहा, ''मेरी मां ने इस देश के लिए बलिदान दिया है''.

फाइल फोटो फाइल फोटो

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक चुनाव प्रचार के आखिरी दिन बेंगलुरु में प्रेस कॉन्फ्रेंस की. राहुल गांधी ने इस दौरान भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला. उनकी मां सोनिया गांधी पर लगातार इटैलियन होने को लेकर किए जा रहे हमले पर राहुल गांधी ने पलटवार किया.

राहुल गांधी ने कहा, '' मेरी मां इटली से हैं, लेकिन उन्होंने अपनी जिंदगी का काफी हिस्सा भारत में बिताया है. वो कई भारतीयों से ज्यादा भारतीय हैं. राहुल गांधी ने कहा, ''मेरी मां ने इस देश के लिए बलिदान दिया है''. इस देश के लिए उन्होंने काफी कुछ सहा है. राहुल बोले, ''अगर प्रधानमंत्री मेरी मां के बारे में कुछ कमेंट करते हैं, तो वह उनका स्तर बताता है.''

राहुल गांधी के प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें...

1. जब रोहित वेमुला को मारा गया, ऊना में दलितों को पीटा गया तो मोदी जी ने एक शब्द भी नहीं कहा

2.  हम तो दलितों के मुद्दे उठायेंगे वो हमारा काम है, हमारा ये सवाल है कि प्रधानमंत्री दलितों के मुद्दे क्यों नहीं उठाते हैं?

3.  मोदी जी लोगों को गुमराह करना चाहते हैं. ये कर्नाटक का चुनाव है, नरेन्द्र मोदी जी या राहुल गांधी का नहीं है.

4.  रफेल की डील बीजेपी नेताओं और उनके मित्रों के लिए बेहतर डील थी.

5.  PM कर्नाटक के लोगों के मुद्दों पर बात नहीं करते, बल्कि लोगों को भटका रहे हैं. वे बुलेट ट्रेन, सी-प्लेन की बात करते हैं. जबकि आम लोगों की समस्याएं शिक्षा, रोजगार, महिलाओं की सुरक्षा, खेती के लिए पानी आदि तमाम मुद्दों पर पीएम मोदी चुप रहते हैं.

6. राहुल ने ये भी कहा कि हमने कर्नाटक में घूमकर जनता से पूछा और उनकी आवाज को घोषणापत्र में शामिल किया. उन्होंने दावा किया कि बीजेपी ने हमारे घोषणापत्र की नकल की है.

7. मंदिर और मठ जाने पर राहुल ने जवाब दिया कि बीजेपी वाले हिंदू शब्द का मतलब नहीं समझते हैं और उन्हें मेरे मंदिर जाने से दिक्कत होती है.

8. राहुल ने कहा कि कर्नाटक की जनता से उन्होंने काफी कुछ सीखा है. उन्होंने ये भी कहा कि हम मुद्दों पर चुनाव लड़ रहे हैं और वह राज्य में अपनी जीत को लेकर आश्वस्त हैं.

9. ये कर्नाटक और आरएसएस की विचारधारा के बीच लड़ाई है, असलियत तो ये है कि वे अब बुरी तरह घबरा चुके हैं और उनको कर्नाटक में अपनी हार का अहसास हो गया है.

10. मोदी जी के भीतर काफी गुस्सा है और वो सिर्फ मेरे लिए नहीं है सभी के लिए है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें