scorecardresearch
 

शाह के बाद पीएम मोदी ने भी झारखंड में उठाया राम मंदिर का मुद्दा

पीएम मोदी ने कहा कि भगवान राम की जन्मभूमि का विवाद कांग्रेस ने लटकाया था. अगर वे चाहते तो इसका समाधान बहुत पहले मिल जाता लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. उन्हें अपने वोट बैंक की परवाह थी. कांग्रेस की ऐसी सोच ने देश और समाज का नुकसान हुआ.

X
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (ANI) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (ANI)

  • आज राम जन्मभूमि से जुड़ा विवाद हल हो चुका है: PM
  • कांग्रेस चाहती तो उसका समाधान निकाल सकती थी: PM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड में अपने चुनाव अभियान की शुरुआत कर दी है. झारंखड के डाल्टनगंज में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भगवान राम की जन्मभूमि का विवाद कांग्रेस ने लटकाया था. अगर वे चाहते तो इसका समाधान बहुत पहले मिल जाता लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. उन्हें अपने वोट बैंक की परवाह थी. कांग्रेस की ऐसी सोच ने देश और समाज का नुकसान हुआ. समाज में दरारें बनीं, दीवारें बनीं. हमने वादा किया था कि इसका हम जल्द से जल्द समाधान निकालेंगे. आज राम मंदिर का विवाद हल हो चुका है.

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत में कहा, झारखंड के लिए ये गौरव की बात है कि पूरे देश को आयुष्मान बनाने के लिए शुरू की गई ऐतिहासिक आयुष्मान योजना की शुरुआत झारखंड से ही की गई थी. झारखंड की धरती और उसमे भी पलामू बीजेपी के लिए एक मजबूत किला रहा है. उन्होंने कहा, आज अगर पूरे भारत में कमल शान से खिला है तो इसमें बहुत बड़ी भूमिका यहां की जनता की है. यहां का आदिवासी समाज, पिछड़े, दलित, व्यापारी सभी वर्ग के लोग कमल के साथ खड़े रहे हैं.

ओबीसी आयोग की बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, उसको (ओबीसी आयोग) संवैधानिक दर्जा देने के लिए तब भी कोई पहल नहीं हुई जब आरजेडी के सहयोग से दिल्ली में कांग्रेस की सरकार चलती थी. ये बीजेपी की सरकार ही है जिसने ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया. आजादी के बाद पांच दशक तक, देश की एक बड़ी आबादी से जुड़े मामलों की देखरेख के लिए अलग मंत्रालय तक नहीं था.

प्रधानमंत्री ने कहा, इतना ही नहीं, आजादी के इतने वर्षों तक पिछड़ों के लिए, ओबीसी के लिए जो आयोग बना था, वो भी सिर्फ नाममात्र का था. अटल जी ने आदिवासी समाज को, पिछड़े, वंचित समाज को झारखंड दिया. और इसी कमिटमेंट के कारण उन्होंने पहली बार अलग से जनजातीय मंत्रालय बनाया ताकि जंगलों में रहने वाले हर साथी की समस्याओं का समाधान हो सके.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, बीजेपी कोई संकल्प लेती है, तो उसे सिद्ध करती है. गरीब-आदिवासी-पिछड़े, देश के लिए जीने वाले एक-एक व्यक्ति की मान मर्यादा, सामाजिक न्याय, बीजेपी की प्राथमिकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें