scorecardresearch
 

राहुल बोले- बीजेपी भी कम नहीं, पर उम्मीद है कि अय्यर माफी मांगेंगे

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ''बीजेपी और पीएम लगातार कांग्रेस पार्टी पर हमला बोलने के लिए गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं. कांग्रेस का एक अलग कल्चर और विरासत है. मैं मणिशंकर अय्यर द्वारा पीएम के लिए इस्तेमाल की गई भाषा का समर्थन नहीं करता हूं. कांग्रेस और मैं उम्मीद करते हैं कि अय्यर ने जो कहा है, वो उसके लिए माफी मांगेंगे.''

X
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी

गुजरात में पहले दौर के प्रचार का आज आखिरी दिन है. 9 दिसंबर को पहले चरण के मतदान है, जिसमें मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघानी की किस्मत का फैसला होना है. लेकिन इससे पहले नेता बदजुबानी में उतर आए. कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की है. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री रविशंकर ने अय्यर की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस पर पलटवार किया.

वहीं, अय्यर के विवादित बयान पर कांग्रेस राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी और पीएम भी कम नहीं हैं. उन्होंने ट्वीट किया, ''बीजेपी और पीएम लगातार कांग्रेस पार्टी पर हमला बोलने के लिए गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं. कांग्रेस का एक अलग कल्चर और विरासत है. मैं मणिशंकर अय्यर द्वारा पीएम के लिए इस्तेमाल की गई भाषा का समर्थन नहीं करता हूं. कांग्रेस और मैं उम्मीद करते हैं कि अय्यर ने जो कहा है, वो उसके लिए माफी मांगेंगे.''

उधर, अय्यर की आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर बीजेपी लगातार हमलावार है. केंद्रीय मंत्री रविशंकर ने कहा कि राहुल गांधी के सिर्फ असहमति जताने से पीएम मोदी का अपमान हुआ है. पीएम मोदी ने खुद कह डाला कि ये गुजरात की जनता का अपमान है. पीएम ने जनता से कहा, ''आपने मुझे प्रधानमंत्री के तौर पर देखा है. आपने कभी ऐसा देखा है कि मैंने कभी कोई नीच काम किया है. कांग्रेस के लोगों आप मानसिक संतुलन गंवा चुके हैं. मुझे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता इस देश के ग़रीबों के साथ बैठने में. मुझे गर्व है कि भले ही मैं नीच जाति का हूं, लेकिन उच्च काम करना मेरे संस्कार है.''

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने भी अय्यर के बयान को लेकर कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि यह सिर्फ गंदी भाषा इस्तेमाल करने का मामला नहीं है, बल्कि यह कांग्रेस की सोच है. कांग्रेस का कहना है कि सिर्फ एक परिवार ही इस देश में शासन कर सकता है और अगर कोई कमजोर वर्ग से पीएम बनता है, तो ये उनको चायवाला और नीच कहते हैं.''

इसके अलावा बीजेपी ने कहा कि ये सिर्फ गुजरात का ही नहीं,  बल्कि पूरे देश की जनता अपमान है और इससे कांग्रेस की अहंकारी सोच की पोल खुलती है. अय्यर के बयान पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर ने कहा कि दरबार जैसा चाहता है, दरबारी वैसा ही करते हैं. राहुल की सहमति के बाद पीएम का अपमान किया.

लालू ने बोले- मणिशंकर दिमागी रूप से ठीक नहीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहने वाले कांग्रेस मणिशंकर अय्यर की राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने भी निंदा की है. उन्होंने कहा कि मणिशंकर दिमागी रूप से ठीक नहीं हैं.

राहुल के ट्वीट के बाद अय्यर ने कहा- Low का नीच में अनुवाद कर दिया था

जब अय्यर से सवाल किया गया कि राहुल गांधी ने उम्मीद जताई है कि आप पीएम पर की गई विवादित टिप्पणी के लिए माफी मांगेंगे, तो उन्होंने कहा कि ''हां मैंने नीच शब्द इस्तेमाल किया. मैं हिंदी भाषी नहीं हूं और अंग्रेजी से ट्रांसलेट करता हूं. मेरे दिमाग में अंग्रेजी थी और मैंने Low शब्द का हिंदी में अनुवाद करके 'नीच' कह दिया. अगर इसका कोई और अर्थ निकलता हो, तो माफी चाहूंगा.'' उन्होंने कहा, ''पीएम को नीच कहने का मेरा कोई इरादा नहीं था. पीएम हमारे नेता के लिए गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं. मैं कांग्रेस का औपचारिक नेता भी नहीं हूं.''

पहले क्या कहा था अय्यर ने

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने मोदी पर बेहद विवादित टिप्पणी करते हुए कहा, ''ये आदमी बहुत नीच किस्म का आदमी है. इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके  पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है.''

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें