scorecardresearch
 

शाहीन बाग से लोगों को परेशानी जायज? मनोज तिवारी ने राहुल-केजरीवाल से पूछा सवाल

दिल्ली विधानसभा चुनाव में शाहीन बाग में जारी प्रदर्शन एक मुद्दा बनता दिख रहा है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने शाहीन बाग प्रदर्शन के कारण हो रही लोगों को परेशानी के मुद्दे पर अरविंद केजरीवाल और राहुल गांधी से सवाल पूछा है.

X
दिल्ली के शाहीन बाग में जारी है विरोध प्रदर्शन (फोटो: PTI) दिल्ली के शाहीन बाग में जारी है विरोध प्रदर्शन (फोटो: PTI)

  • शाहीन बाग पर प्रदर्शन को 39 दिन पूरे
  • मनोज तिवारी ने विपक्ष से पूछा सवाल
  • प्रदर्शन की वजह से हो रहा नुकसान

नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में पिछले करीब 40 दिनों से विरोध प्रदर्शन जारी है. प्रदर्शन के कारण दिल्ली-नोएडा के रास्ते में अड़चन पैदा हो रही है, जिसको लेकर भारतीय जनता पार्टी के सांसद मनोज तिवारी ने विपक्ष पर निशाना साधा है. दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने बुधवार सुबह ट्वीट कर लिखा कि इस प्रदर्शन के कारण लाखों लोगों को परेशानी हो रही है, क्या ये जायज है? मनोज तिवारी ने ट्वीट में राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल को टैग कर सवाल पूछा है.

बीजेपी नेता मनोज तिवारी ने ट्वीट कर लिखा, ‘शाहीन बाग में प्रदर्शन को 39 दिन हो गए, इससे यातायात ठप है और लाखों लोग परेशान हैं. बच्चे परीक्षा के वक्त भी 2-2 घंटे सड़कों पर बर्बाद कर रहे हैं, ऑफिस जाने वाले लोगों, व्यापारियों को इससे परेशानी हो रही है.’

दिल्ली-नोएडा के रास्ते पर पड़ रहा फर्क

गौरतलब है कि दिल्ली के शाहीन बाग में जारी प्रदर्शन के कारण दिल्ली से नोएडा जाने वाला कालिंदी कुंज का रास्ता बंद है. इसकी वजह से लोगों के DND एक्सप्रेस-वे से होकर गुजरना पड़ रहा है. इसी परेशानी को भाजपा की ओर से दिल्ली चुनाव में भुनाया जा रहा है और शाहीन बाग के विरोध पर निशाना साधा जा रहा है.

CAA, NRC के विरोध में शाहीन बाग में जो लोग प्रदर्शन कर रहे हैं, उनमें अधिकतर मुस्लिम महिलाएं हैं. यहां 15 दिसंबर से ही लोग बैठे हैं और लगातार सरकार के खिलाफ बयान दे रहे हैं. प्रदर्शनकारियों का साथ देने कई बार कांग्रेस, लेफ्ट पार्टियों के नेता, फिल्म अभिनेता वहां पर पहुंचे हैं.

शाहीन बाग में जारी प्रदर्शन से जुड़ी तस्वीरों के लिए क्लिक करें...

कोर्ट तक पहुंचा था प्रदर्शन का मामला

कांग्रेस के कई नेता शाहीन बाग जाकर विरोध प्रदर्शन का सपोर्ट कर चुके हैं हालांकि कोई बड़ा नेता अभी तक वहां नहीं पहुंचा है. दूसरी ओर अमित शाह कह चुके हैं कि CAA का कोई कितना भी विरोध कर ले, लेकिन ये कानून लागू होकर रहेगा.

बता दें कि प्रदर्शन का मसला दिल्ली हाई कोर्ट तक भी पहुंचा था, जहां कोर्ट ने पुलिस को कानून के मुताबिक एक्शन लेने की बात कही थी. दिल्ली पुलिस की ओर से इसके बाद प्रदर्शनकारियों से हटने की अपील की गई थी, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने पीछे हटने से इनकार कर दिया. इस मसले को लेकर अब सुप्रीम कोर्ट में भी अपील दाखिल की गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें