scorecardresearch
 

Delhi Elections 2020: ओवैसी का वार- शाहीन बाग को जलियांवाला बाग बना देगी बीजेपी

Delhi Elections 2020: AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का मोदी सरकार पर हमला लगातार जारी है. शाहीन बाग के प्रदर्शन पर ओवैसी का कहना है कि बीजेपी वाले 8 फरवरी के बाद इसे जलियांवाला बाग बना सकते हैं.

Delhi Elections 2020: ओवैसी का बीजेपी पर बड़ा हमला Delhi Elections 2020: ओवैसी का बीजेपी पर बड़ा हमला

  • AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का हमला
  • ‘शाहीन बाग बन सकता है जलियांवाला बाग’
  • बीजेपी नेताओं के बयानों को बनाया आधार

दिल्ली के विधानसभा चुनाव में शाहीन बाग में जारी विरोध प्रदर्शन बड़ा मुद्दा बन गया है. भारतीय जनता पार्टी की ओर से इसे राजनीतिक बताकर आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा जा रहा है. हैदराबाद से सांसद और AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी इस मसले पर बीजेपी को घेर रहे हैं. ओवैसी ने अंदेशा जताया है कि 8 फरवरी के बाद शाहीन बाग को जलियांवाला बाग बना दिया जाएगा.

समाचार एजेंसी ANI की खबर के अनुसार, असदुद्दीन ओवैसी ने कहा,  ‘8 फरवरी के बाद बीजेपी की ओर से शाहीन बाग में गोलियां भी चलाई जा सकती हैं. शाहीन बाग को जलियांवाला बाग बनाया जा सकता है. ऐसा हो सकता है क्योंकि बीजेपी के मंत्री ने गोली मारने की बात की है. सरकार को इस मसले पर जवाब देना चाहिए.’

नागरिकता संशोधन एक्ट के मसले पर असदुद्दीन ओवैसी बोले कि सरकार को साफ कहना चाहिए कि 2024 तक देश में एनआरसी लागू नहीं होगा. एनपीआर को लेकर 3900 करोड़ क्यों जारी किए गए हैं. बता दें कि 10 अप्रैल 1919 को अंग्रेजों ने अमृतसर के जलियांवाला बाग में हजारों सिखों का नरसंहार किया था.

यह भी पढ़ें- शाहीन बाग फायरिंगः कपिल के पिता बोले- पुलिस का दावा गलत, हम AAP के सदस्य नहीं

बीजेपी ने शाहीन बाग को बनाया मुद्दा

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से ही विरोध प्रदर्शन हो रहा है. इस प्रदर्शन में हिस्सा लेने वालों में अधिकतर मुस्लिम महिलाएं शामिल हैं. भारतीय जनता पार्टी की ओर से दिल्ली के चुनाव में इसे मुद्दा बनाया जा रहा है और प्रदर्शन को राजनीतिक बताया है.

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, बीजेपी के सांसद प्रवेश वर्मा समेत कई अन्य नेताओं ने बयान दिया है कि दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनते ही शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी उठ जाएंगे. प्रवेश वर्मा ने एक सभा में कहा था कि 11 फरवरी को बीजेपी की सरकार बनने के एक घंटे बाद ही शाहीन बाग को खाली करा दिया जाएगा.

सिर्फ सांसद या मंत्री ही नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपनी सभाओं में शाहीन बाग को मुद्दा बनाया. पीएम मोदी ने शाहीन बाग के प्रदर्शन की तुलना अराजकता से की थी.

यह भी पढ़ें- शाहीन बाग के हमलावर का AAP कनेक्शन! मई 2019 का ट्वीट हटाया

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें