scorecardresearch
 

Delhi Elections 2020: विवादित ट्वीट पर कपिल मिश्रा का EC को जवाब- नहीं लिया किसी जाति-धर्म का नाम

Delhi Elections 2020: दिल्ली के मॉडल टाउन से बीजेपी के उम्मीदवार कपिल मिश्रा ने विवादित ट्वीट पर चुनाव आयोग को जवाब दे दिया है. कपिल मिश्रा का कहना है कि उनके ट्वीट को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है.

X
Delhi Elections 2020: बीजेपी नेता कपिल मिश्रा के ट्वीट पर विवाद Delhi Elections 2020: बीजेपी नेता कपिल मिश्रा के ट्वीट पर विवाद

  • चुनाव आयोग के नोटिस पर कपिल मिश्रा का जवाब
  • मेरे ट्वीट को गलत तरीके से पेश किया गया: BJP नेता
  • चुनाव आयोग ने दिया है ट्वीट हटाने का निर्देश

दिल्ली विधानसभा चुनाव में पाकिस्तान का मुद्दा उछालने वाले भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार कपिल मिश्रा ने चुनाव आयोग को अपना जवाब दे दिया है. विवादित ट्वीट पर आयोग ने उन्हें नोटिस थमाया था, जिसपर अब बीजेपी नेता ने कहा कि उनके ट्वीट को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया. उन्होंने किसी की धर्म, जाति या विशेष समुदाय को निशाने पर नहीं लिया था.

कपिल मिश्रा ने अपने जवाब में चुनाव आयोग को लिखा है कि मैंने जो बयान दिया उसमें किसी पर निशाना नहीं साधा गया है. मेरा ट्वीट दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के उस बयान का जवाब था, जो उन्होंने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के पक्ष में दिया था.

कपिल मिश्रा ने लिखा कि मेरा बयान किसी राजनीतिक रैली में नहीं दिया गया है, सिर्फ एक राय है. जिससे चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन नहीं होता है. उन्होंने लिखा कि मनीष सिसोदिया ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों का समर्थन किया है, इस प्रदर्शन में महिलाओं को आगे रखा गया है. साथ ही नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ माहौल बनाने का काम किया जा रहा है.

इसे पढ़ें... चुनाव आयोग का ‘पाकिस्तान’ वाला ट्वीट हटाने का निर्देश, कपिल मिश्रा बोले- क्या सच बोलना गुनाह?

बता दें कि कपिल मिश्रा ने एक ट्वीट में दिल्ली चुनाव की तुलना भारत बनाम पाकिस्तान के मैच से की थी. इसके अलावा उन्होंने अपने एक ट्वीट में शाहीन बाग को मिनी पाकिस्तान बताया था. कपिल मिश्रा ने अपने ट्वीट में लिखा था कि AAP और कांग्रेस ने शाहीन बाग जैसे मिनी पाकिस्तान खड़े किए हैं, जवाब में 8 फरवरी को हिंदुस्तान खड़ा होगा, जब जब देशद्रोही भारत मे पाकिस्तान खड़ा करेंगे, तब तब देशभक्तों का हिंदुस्तान खड़ा होगा.

इसपर विपक्षी पार्टियों ने आपत्ति जताई थी और चुनाव आयोग में शिकायत की थी. चुनाव आयोग ने एक्शन लेते हुए कपिल मिश्रा को नोटिस थमाया था.

इतना ही नहीं चुनाव आयोग की ओर से ट्विटर को कपिल मिश्रा का विवादित ट्वीट हटाने के निर्देश दे दिए गए हैं. कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया है कि चुनाव में हिंदू-मुस्लिम कौन कर रहा है? वो सिसोदिया जो कहते हैं शाहीन बाग के साथ खड़े है, वो प्रियंका गांधी जो तुर्कमान गेट में गाड़ियां जलाने वालों का साथ देती हैं, वो केजरीवाल जो दंगाइयों को 5- 5 लाख रुपये बांट रहे हैं,  जो अमानतुल्ला, शुएब इकबाल जैसे भड़काऊ लोगों को टिकट दे रहे हैं.

इसे पढ़ें: कपिल मिश्रा की मुश्किलें बढ़ीं, 'मिनी पाकिस्तान' पर चुनाव आयोग का नोटिस

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें