scorecardresearch
 
विवादित बयान

JDU एमएलसी ने कहा- राजकुमार न बनें चिराग, जनता का पत्थर पड़ेगा तब समझ आएगा

JDU MLC Ghulam Gaus said Chirag Paswan Don't try to become prince
  • 1/5

हाजीपुर में JDU के एमएलसी गुलाम गौस ने जमुई से सांसद और लोजपा नेता चिराग पासवान को आड़े हाथों लिया. गुलाम गौस ने कहा कि चिराग राजकुमार न बनें. जनता से पत्थर पड़ेगा तब समझ में आएगा. बहुत सारे राजकुमार राजनीति में आए लेकिन टिके नहीं. जदयू एमएलसी गुलाम गौस ने कहा कि दूसरे के सहारे कोई बहुत बड़ा नेता नहीं बन सकता. (रिपोर्टः संदीप आनंद)

JDU MLC Ghulam Gaus said Chirag Paswan Don't try to become prince
  • 2/5

गुलाम गौस ने चिराग पासवान पर निशाना साधते हुए कहा कि ऐसे कई राजकुमार एक पार्टी में नहीं कई पार्टियों में हैं. दूसरे के कंधे पर खड़े होते हैं तो उनको लगता है कि हमारा कद बहुत लंबा है. जब नीचे वाला अपना कंधा हटा लेता है तो ऊपर वाले का दांत, नाक, मुंह सब टूट जाता है. 

JDU MLC Ghulam Gaus said Chirag Paswan Don't try to become prince
  • 3/5

चिराग पासवान को लेकर गुलाम गौस ने आगे कहा कि ऐसे लोगों का सहारा हटता है तो औकात समझ में आ जाती है. ऐसे लोगों को चाहिए कि जनता के बीच में जाएं धूप, पानी, हवा, गोला और पत्थर खाएं. तब उनकी राजनीति परिपक्व होगी. इसके बाद गुलाम गौस ने एक शेर कहा - ना खाई हो जिगर पर चोट जिसने जिंदगानी में.... उसे क्या गम-ए-शीश किसी के दिल टूट जाने में.

JDU MLC Ghulam Gaus said Chirag Paswan Don't try to become prince
  • 4/5

बिहार चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर जेडीयू और लोजपा के बयानबाजी के बीच अब व्यक्तिगत हमले भी शुरू हो गए हैं. लोजपा और चिराग के रवैये को लेकर जेडीयू एमएलसी गुलाम गौस काफी तल्ख दिखे. गुलाम गौस में चिराग पासवान के रवैये को राजकुमारों वाला बताया. साथ ही कहा की यही रवैया रहा तो लोजपा नेताओं को जनता के पत्थर खाने पड़ेंगे.

JDU MLC Ghulam Gaus said Chirag Paswan Dont try to become prince
  • 5/5

हाजीपुर में अल्पसंख्यकों के एक कार्यक्रम में पहुंचे गुलाम गौस ने तो यहां तक कह दिया कि चिराग पासवान भाजपा के कंधे पर सवार होकर जेडीयू पर हमला कर रहे हैं. गिरेंगे तो कहीं के ना रहेंगे. औकात में रहें चिराग पासवान. हालात ऐसे बनते दिख रहे हैं कि चुनाव में विरोधियों से लड़ाई बाद में दिखेगी लेकिन पहले गठबंधन के घटक दल आपस में ही मोर्चा खोल देंगे.