scorecardresearch
 

'राउर गोड़वा धोके पीयतीं...', देखें बिहार के महादलितों का दर्द

'राउर गोड़वा धोके पीयतीं...', देखें बिहार के महादलितों का दर्द

बिहार में जाति कभी राजनीति से अलग नहीं हो पाई. इस राज्य ने कई अलग-अलग जातिय संघर्ष देखे हैं. त्रिवेणी संघ से जनेऊ आंदोलन तक बिहार ने कई संघर्ष देखे हैं. वहीं महादलितों की स्थिति आज भी राज्य में खराब है. आजादी के 70 साल बीत जाने के बाद भी स्थिति खराब है. देखें महादलितों का दर्द इस खास रिपोर्ट में.

Caste could never have been separate from the politics in Bihar. This state has seen many different ethnic conflicts. Even after 70 years of freedom, the situation is not good for Mahadalits. They have to struggle a lot even for their basic needs. Watch this ground report for more details.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें