scorecardresearch
 

‘जंगलराज के युवराज’ पर तेजस्वी का जवाब- वो देश के पीएम, कुछ भी बोल सकते हैं

पहले चरण का मतदान होने के बाद अब बिहार में दूसरे चरण की तैयारी पूरी है. तेजस्वी यादव ने इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान पर जवाब दिया है, जिसमें पीएम ने उन्हें 'जंगलराज का युवराज' कहा था.

राजद नेता तेजस्वी यादव ने दिया जवाब राजद नेता तेजस्वी यादव ने दिया जवाब
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तेजस्वी यादव का पीएम मोदी के बयान पर जवाब
  • बेरोजगारी, किसान, मजदूरों पर नहीं बोले पीएम: तेजस्वी

बिहार विधानसभा चुनाव में अब दूसरे चरण के लिए जंग शुरू हो गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते दिन अपनी सभा में राजद नेता तेजस्वी यादव पर हमला बोला था, जिसपर अब तेजस्वी ने जवाब दिया है. तेजस्वी ने कहा कि बिहार के लोगों को उम्मीद थी कि पीएम मोदी विशेष पैकेज, बेरोजगारी और भूखमरी पर बोलेंगे लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा. 

पीएम मोदी द्वारा ‘जंगलराज के युवराज’ वार पर तेजस्वी यादव ने कहा कि वो देश के पीएम हैं, कुछ भी बोल सकते हैं. मुझे इसपर कोई भी टिप्पणी नहीं करनी है. 

देखें: आजतक LIVE TV

तेजस्वी यादव ने निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने किसान, मजदूर की भी बात नहीं की. केंद्र और राज्य की सरकारें चुनाव में मेरे खिलाफ काम कर रही हैं, लोगों को सच्चाई पता है. लोग अब विकास, नौकरी के मसले पर ही बात कर रहे हैं. ये चुनाव मोदी-नीतीश-चिराग-राहुल का नहीं बल्कि असली मुद्दों का चुनाव है. 

इस बयान से इतर तेजस्वी यादव ने गुरुवार को मधुबनी में सभा को संबोधित किया. तेजस्वी यादव ने यहां कहा कि सबसे बड़ा दुश्मन बेरोजगारी है लेकिन डबल इंजन की सरकार में एक इंजन बेरोजगारी में तो एक भ्रष्टाचार में संलिप्त है. तेजस्वी बोले कि मिथिला में बहुत कुछ है लेकिन फूड प्रोसेसिंग यूनिट नहीं है. यदि मौका मिला तो पहली कैबिनेट की मीटिंग के बाद ही दस लाख नौकरियां दी जाएगी. 



आपको बता दें कि बुधवार को पीएम मोदी ने बिहार में तीन सभाओं को संबोधित किया था, जिसमें पीएम के निशाने पर लालू परिवार रहा. इसी दौरान पीएम मोदी ने कहा था कि ‘जंगलराज के युवराज’ से बिहार की जनता पुराने ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर और क्या अपेक्षा कर सकती है? 

पीएम मोदी ने लोगों से अपील की थी कि जंगलराज वालों के ट्रैक रिकॉर्ड को याद रखिएगा. ये वो लोग हैं जिनके राज में बिहार में अपराध इतना फला-फूला कि लोगों का जीना मुहाल हो गया था. ये वो लोग हैं जो किसान कर्जमाफी का बात करके, कर्जमाफी के पैसे में भी घोटाला कर जाते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें