scorecardresearch
 

Saran: चोकर बाबा को मिला झारखंड बीजेपी के बागी नेता सरयू राय का साथ

बिहार के जिला सारण की अमनौर विधानसभा से निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरे बीजेपी के बागी विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा को झारखंड बीजेपी के बागी नेता सरयू राय ने समर्थन दिया है. बुधवार को अमनौर में सरयू राय ने चोकर बाबा के समर्थन में जनसभा को संबोधित करते हुए बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व पर निशाना साधा.

बीजेपी के बागी विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा (फोटो आजतक) बीजेपी के बागी विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा (फोटो आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • निर्दलीय चुनाव में उतरे हैं चोकर बाबा
  • सरयू राय ने आमनौर में की जनसभा

बिहार के जिला सारण की अमनौर विधानसभा से निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरे बीजेपी के बागी विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा को झारखंड बीजेपी के बागी नेता सरयू राय ने समर्थन दिया है. बुधवार को अमनौर में सरयू राय ने चोकर बाबा के समर्थन में जनसभा को संबोधित करते हुए बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पार्टी में टिकट बांटने वाला नेतृत्व अनैतिक सत्ता के नशे में आ गया है.

सारण जिले की अमनौर विधानसभा में पूर्व मंत्री और तीन मुख्यमंत्रियों को सत्ता से हटाकर जेल की हवा खिलाने वाले निर्दलीय विधायक सरयू राय ने चोकर बाबा के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया. सरयू राय ने कहा कि सप्ताह में कम से कम तीन दिन क्षेत्र में रहकर लोगों से मिलता हूं, लेकिन यहां चोकर बाबा जिस तरह जनता के दुख दर्द में उनके साथ खड़े रहते हैं, उससे बेहद प्रभावित हूं. यही कारण रहा कि चोकर बाबा के आज साथ खड़ा हो गया हूं. 


बिहार विधानसभा चुनाव 2020

सरयू राय ने कहा कि जिस तरह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने सविनय अवज्ञा आंदोलन चलाया था, उसी तरह चोकर बाबा ने THE TIME COMES WHEN DISOBEDIENCE TO LAW BECOMES DUTY (जब नाइंसाफी करना कानून बन जाए तो विरोध करना हमारा कर्तव्य बन जाता है) की तर्ज पर पार्टी की इच्छा के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ने का निश्चय किया है. सरयू राय ने कहा कि पार्टी में टिकट बांटने वाला नेतृत्व अनैतिक सत्ता के नशे में आ गया है. 

देखें: आजतक LIVE TV

वहीं चोकर बाबा ने कहा कि कभी भी कोई भेदभाव किसी के साथ नहीं किया. न जाति के नाम पर, नाहीं धर्म के नाम पर, न अमीर गरीब के नाम पर. लोग चाहते हैं कि मुझे राजनीति से हटा दें. आप लोगों को तय करना है कि मुझे रखना है या नहीं, गरीब की सेवा करनी है या नहीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें