scorecardresearch
 

बिहार में RJD की मांग- महामारी का खतरा नहीं तो परंपरागत तरीके से हो चुनाव

बिहार में समय पर चुनाव करवाने के चुनाव आयोग के फैसले को लेकर आरजेडी ने यह भी सवाल उठाया कि जब राज्य सरकार की पूरी मशीनरी अगले कुछ महीनों के दौरान चुनाव करवाने में व्यस्त हो जाएगी तो महामारी से कैसे लड़ा जाएगा?

आरजेडी की चुनाव आयोग से मांग (तेजस्वी यादव की फाइल फोटो) आरजेडी की चुनाव आयोग से मांग (तेजस्वी यादव की फाइल फोटो)

  • वर्चुअल रैलियों पर तुरंत रोक लगाने की मांग
  • कोरोना में चुनाव कराने पर RJD का सवाल

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने चुनाव आयोग पर तंज कसते हुए कहा है कि अगर बिहार में कोविड-19 महामारी का खतरा खत्म हो गया है और विधानसभा चुनाव कराया जा सकता है तो फिर चुनाव आयोग को परंपरागत तरीके से चुनाव करवाने चाहिए.

आरजेडी ने कहा कि बिहार में बीजेपी और जेडीयू के द्वारा जो वर्चुअल रैली का आयोजन करवाया जा रहा है, उस पर चुनाव आयोग को तुरंत बैन लगाना चाहिए और परंपरागत तरीके से चुनाव करवाया जाना चाहिए ताकि सभी राजनीतिक दलों को बराबर का मौका मिले. पार्टी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा, “आरजेडी समेत सभी विपक्षी दल और लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) ने भी महामारी के दौरान बिहार में चुनाव कराने को लेकर सवाल खड़े किए थे और इसे टालने की बात कही थी. अब अगर चुनाव आयोग को लगता है कि महामारी का खतरा कम हो गया है और चुनाव करवाए जा सकते हैं तो फिर परंपरागत तरीके से बिहार में चुनाव होने चाहिए.”

बिहार में समय पर चुनाव करवाने के चुनाव आयोग के फैसले को लेकर आरजेडी ने यह भी सवाल उठाया कि जब राज्य सरकार की पूरी मशीनरी अगले कुछ महीनों के दौरान चुनाव करवाने में अब व्यस्त हो जाएगी तो महामारी से कैसे लड़ा जाएगा? हालांकि, जनता दल यूनाइटेड ने चुनाव आयोग के समय पर बिहार में चुनाव कराने के फैसले का स्वागत किया है. जनता दल यूनाइटेड ने कहा है कि पार्टी चुनाव में जाने के लिए पूरी तरीके से तैयार है. जदयू ने आरजेडी पर भी निशाना साधते हुए कहा है कि आरजेडी विधानसभा चुनाव में अपनी संभावित हार को देखते हुए बिहार में चुनाव टालने की वकालत कर रही है.

जनता दल यूनाइटेड प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा, “चुनाव आयोग ने कहा है कि बिहार में समय पर चुनाव होगा और महामारी के खतरे को देखते हुए उसके लिए वह सभी प्रकार की तैयारियां कर रहे हैं. आरजेडी जानती है कि चुनाव में उसका क्या हश्र होने वाला है इसी वजह से वह चुनाव टालना चाहती है. मगर अब चुनाव आयोग के फैसले के बाद पार्टी को चुनाव में आना ही पड़ेगा.” भारतीय जनता पार्टी ने भी बिहार में समय पर चुनाव कराने का स्वागत किया है. भारतीय जनता पार्टी प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा, “बिहार में जब भी चुनाव होंगे भारतीय जनता पार्टी उसके लिए तैयार है. यह चुनाव आयोग का क्षेत्राधिकार है कि बिहार में चुनाव कब और कैसे कराने हैं. किसी भी राजनीतिक दल को इसमें हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए.”

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें