scorecardresearch
 

पुलवामा के कुबूलनामे पर बोले रविशंकर- सबूत गैंग को PAK ने दिखा दिया आईना

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सबूत गैंग को अब पाकिस्तान ने सबूत दे दिया है. इस गैंग को न तो भारत की सुरक्षा की चिंता है, न भारत की सामरिक नीति की चिंता है, केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीचा दिखाने की चिंता है.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो-PTI) केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर साधा निशाना
  • कहा- राहुल हर घटना का सबूत मांग रहे थे
  • बीजेपी नेताओं की हत्या पर दुख जाहिर किया

पुलवामा को लेकर पाकिस्तान के कुबूलनामे पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सबूत गैंग को अब पाकिस्तान ने सबूत दे दिया है. उन्होंने कहा कि सबूत गैंग को न तो भारत की सुरक्षा की चिंता है, न भारत की सामरिक नीति की चिंता है, इनको चिंता सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीचा दिखाना है. 

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि उरी में सेना की शहादत का सबूत किसने मांगा था, पुलवामा अटैक नरेंद्र मोदी को जिताने के लिए किया गया था, यह ट्वीट किसने किया था. बालाकोट के एयरस्ट्राइक पर सबूत किसने मांगा था. पुलवामा पर तो पाकिस्तान ने माना है. अगर अभिनंदन को नहीं छोड़ते तो पाकिस्तान को पता था कि भारत में नरेंद्र मोदी की सरकार है. 

चुनाव में पाकिस्तान के कुबूलनामे का मसला उठाने के सवाल केंद्रीय रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अगर कोई सवाल उठाता है तो उसको जवाब देना पड़ेगा. अगर इमरान खान, यूएन में राहुल गांधी के बयान का जिक्र करते हैं तो यह विषय बनेगा ही. राफेल पर स्तरहीन टिप्पणी की गई. सच्चाई सामने आ जाती है.

देखें: आजतक LIVE TV

कश्मीर में तीन बीजेपी नेताओं की हत्या पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ये बौखलाहट है. पाकिस्तान से आए आतंकियों के दिन तय हैं. नरेंद्र मोदी सरकार का आदेश है कि आतंकी (चाहे पाकिस्तान के हो) पर पहली गोली तुम नहीं चलाओगे, लेकिन फिर हाथ खोलकर जवाब दोगे.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जिन बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है, उनका हमें भी दुख है, लेकिन मैं बीजेपी कार्यकर्ताओं के साहस की तारीफ करता हूं कि कितने हिम्मत के साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा कि कश्मीर की राजनीति की बुनियाद बदल गई है. अभी तक दो परिवार थे, अब वहां के लोग सरकार में हिस्सेदारी चाहते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें