scorecardresearch
 

पूर्व सांसद आनंद मोहन की रिहाई के लिए सड़क पर उतरे समर्थक

जेल में बंद आनंद मोहन के समर्थन में सोमवार की शाम सैकड़ों करणी सेना के कार्यकर्ता और फ्रैंड्स ऑफ आनंद मोहन के समर्थकों ने पूरे शहर में मशाल जुलूस निकाल कर उनकी रिहाई की मांग की.

पूर्व सांसद आनंद मोहन (फाइल फोटो) पूर्व सांसद आनंद मोहन (फाइल फोटो)

बिहार में विधानसभा चुनाव के ऐलान से पहले ही सियासी सरगर्मियां तेज हो गई है. अब पूर्व सांसद आनंद मोहन की रिहाई की मांग एक बार फिर शुरू हो गई है. जेल में बंद आनंद मोहन के समर्थन में सोमवार की शाम सैकड़ों करणी सेना के कार्यकर्ता और फ्रैंड्स ऑफ आनंद मोहन के समर्थकों ने पूरे शहर में मशाल जुलूस निकाल कर उनकी रिहाई की मांग की.

इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की तो लोगों ने धज्जियां उड़ायी, साथ ही सैकड़ों की भीड़ में शायद ही किसी ने मास्क तक पहना हो. बावजूद इसके इन्हें कोई रोकने वाला नजर नहीं आया. इसका प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे फ्रैंड्स ऑफ आनंद मोहन के संरक्षक अमिताभ गुंजन ने नीतीश सरकार पर झूठे वादे का आरोप लगाया.

फ्रैंड्स ऑफ आनंद मोहन के संरक्षक अमिताभ गुंजन ने आनंद मोहन की रिहाई की मांग करते हुए देवी आंदोलन से भी बड़े आंदोलन की धमकी दे दी और कहा कि हर घर से आनंद मोहन के समर्थक निकलेंगे. करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने बिहार सरकार एवं केंद्र सरकार से हस्तक्षेप कर अविलंब बिहार विधानसभा चुनाव से पूर्व आनंद मोहन की रिहाई की मांग की.

मशाल जुलूस में विध्यसनी कुंवर, प्रदेश उपाध्यक्ष अभय सिंह, मुकेश सिंह ,सुधीर रामपुरी ,डॉ अमर नाथ सिंह उपाध्यक्ष बसंत सिंह,प्रीतेश सिंह पिटू,आयुष सिंह,अशोक सिंह अमरेश मुखिया, रोहित सिंह सूर्यवंशी,प्रभास सिंह बिट्टू सिंह मुकेश सिंह रौशन सिंह ,रुषु सिंह आदर्श सिंह, राणा सिंह ,अमलेश सिंह समेत करणी सेना के दर्जनों कार्यकर्ता शामिल थे.

गौरतलब है कि पूर्व सांसद आनंद मोहन, गोपालगंज के पूर्व डीएम जी क्रिसनैया हत्याकांड में सहरसा जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं. हालांकि, आनंद मोहन के बेटे अंशुमन आनंद का कहना है कि जेल में बंद पूर्व सांसद आनंद मोहन को पिछले 14 वर्षों से निर्दोष होने के बावजूद भी सरकार ने सलाखों में रखा है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें