scorecardresearch
 

बलरामपुर विधानसभा सीटः CPI-ML के महबूब आलम ने दी थी बीजेपी को पटखनी

2010 में यहां पहली बार चुनाव हुआ था, जिसमें निर्दलीय उम्मीदवार दुलाल चंद्र गोस्वामी की जीत हुई थी. 2015 के चुनाव में CPI-ML के महबूब आलम ने बीजेपी के वरुण कुमार झा को 20,419 वोटों से पटखनी दी थी.

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (फाइल फोटो) बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इस सीट पर मुस्लिम निर्णायक भूमिका में हैं
  • इस सीट पर अब तक दो बार चुनाव हुए हैं
  • 2010 में निर्दलीय प्रत्याशी को मिली थी जीत

बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं. कोरोना काल के बीच राजनीतिक दल पूरे दमखम के साथ मैदान में उतर चुके हैं. वहीं, कटिहार जिले की बलरामपुर विधानसभा सीट की बात की जाए तो यहां अब तक दो बार चुनाव हुए हैं.

2010 में यहां पहली बार चुनाव हुआ था, जिसमें निर्दलीय उम्मीदवार दुलाल चंद्र गोस्वामी की जीत हुई थी. 2015 के चुनाव में CPI-ML के महबूब आलम ने बीजेपी के वरुण कुमार झा को 20,419 वोटों से पटखनी दी थी. 

इस सीट पर मुस्लिम निर्णायक भूमिका में हैं और यादव की संख्या भी अच्छी है. महानंदा नदी से घिरे इस क्षेत्र का कुछ हिस्सा पश्चिम बंगाल क्षेत्र में भी पड़ता है. इस कारण दोनों प्रदेशों की संस्कृति यहां पर मिली-जुली हुई है. 

विधायक- महबूब आलम
पार्टी-  CPI-ML  
वोटरों की संख्या-  2,97,552
पुरुष वोटर - 1,58,619
महिला वोटर-  1,38,919
वोटर टर्नआउट- 66.3%

कृषि आधारित उद्योग में से एक मखाना है

जिले में जीविका का प्रमुख स्रोत कृषि और कुछ उद्योग हैं. यहां उद्योग मुख्य रूप से कृषि आधारित है. कटिहार जिले के किसानों की मुख्य नकदी फसल केला, जूट, मक्का हैं. समूह में शामिल होने के लिए कृषि आधारित उद्योग में से एक मखाना है. मुख्य फसलें धान, जूट, केले, गेहूं, मक्का और दलहन हैं.

कटिहार जिले का इतिहास

कटिहार 1973 में पूर्णिया जिले से विभाजित होकर एक संपूर्ण जिला बना था. पूर्व में कटिहार जिले में चौधरी परिवार का प्रभुत्व था, जो कोसी क्षेत्र के सबसे बड़े जमींदार थे. चौधरी परिवार के संस्थापक खान बहादुर मोहम्मद बक्श थे, जिनके पास कटिहार जिले में लगभग 15000 एकड़ और 8500 एकड़ जमीन पूर्णिया जिले में थी.

इन उम्मीदवारों पर रहेगी नजर 

इस सीट से 30 नामांकन दाखिल हुए हैं. इसमें 26 स्वीकार किया गया है, जबकि 2 रिजेक्ट और 2 उम्मीदवारों ने नामांकन वापस ले लिया है. 

1 - महबूब आलम- CPI (ML)(L)
2 - वरुण कुमार झा पार्टी- VIP
3 - संगीता देवी- LJP

वोटिंगः 7 नवंबर-शनिवार

10 नवंबर को आएंगे चुनाव के नतीजे

बिहार विधानसभा चुनाव तीन चरणों में होंगे. 28 अक्टूबर को पहले चरण की वोटिंग, 3 नवंबर को दूसरे चरण की वोटिंग और 7 नवंबर को तीसरे चरण की वोटिंग होगी. इसके बाद 10 नवंबर को बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आएंगे. बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें