scorecardresearch
 

बिहारः 2015 में भारतीय, राष्ट्रीय, इंडिया, नेशनल नाम के दलों की रही भरमार, इंटरनेशनल पार्टी भी थी मैदान में

2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में एक दल ऐसा भी था जिनके नाम में इंटरनेशनल शब्द जुड़ा हुआ था. उस पार्टी का नाम था इंटरनेशनल पार्टी. इसी तरह बिहार में हुए चुनाव में 157 दलों में से सिर्फ एक दल का नाम बिहार से जुड़ा था और उस दल का नाम था बिहार जनता पार्टी.

पिछले चुनाव में सबसे ज्यादा भारत या भारतीय शब्द वाली पार्टी थी मैदान में (सांकेतिक) पिछले चुनाव में सबसे ज्यादा भारत या भारतीय शब्द वाली पार्टी थी मैदान में (सांकेतिक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2015 के चुनाव में 157 में से थी 6 राष्ट्रीय पार्टी
  • चुनाव में एक पार्टी का नाम था इंटरनेशनल पार्टी
  • गरीब नाम से 3 पार्टियां उतरी थी चुनाव मैदान में
  • 19 पार्टियों के नाम में लिखा था 'राष्ट्रीय' शब्द

कोरोना संकट के बीच बिहार में विधानसभा चुनाव जोर पकड़ता जा रहा है. कई दलों में आपसी गठबंधन होने के बाद उम्मीदवारों के नामों के ऐलान का सिलसिला शुरू हो चुका है. पहले चरण के चुनाव के लिए गुरुवार को नामांकन प्रक्रिया खत्म हो गई. इस बार कितने दल विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाते हैं ये तो वक्त ही बताएगा लेकिन 5 साल पहले 2015 के चुनाव में 6 राष्ट्रीय दलों के साथ कुल 157 दलों ने चुनाव लड़ा जिसमें सबसे ज्यादा भारत या भारतीय शब्द वाले दल चुनाव में शामिल हुए थे. इसके बाद राष्ट्रीय शब्द का नंबर रहा.

चुनाव लड़ने वाले 157 दलों में 6 राष्ट्रीय दर्जे की पार्टी शामिल थीं, इसके अलावा 4 राज्य स्तरीय पार्टी भी चुनाव में शामिल हुई थीं. 9 दल ऐसे थे जिन्हें अन्य राज्यों में राज्यस्तरीय पार्टी का दर्जा हासिल था और यहां पर चुनाव लड़े. शेष दल रजिस्टर्ड तो थे लेकिन उन्हें मान्यता नहीं मिली थी.

दलित के नाम पर एक पार्टी

शुरुआत अनोखे नामों वाले दलों से करते हैं. विधानसभा चुनाव में एक दल ऐसा भी था जिनके नाम में इंटरनेशनल शब्द जुड़ा हुआ था. उस पार्टी का नाम था इंटरनेशनल पार्टी. इसी तरह बिहार में हुए चुनाव में 157 दलों में से सिर्फ एक दल का नाम बिहार से जुड़ा था और उस दल का नाम था बिहार जनता पार्टी. इसी तरह दलित शब्द से जुड़ी एक पार्टी थी जिसका नाम था दलित समाज पार्टी.

चुनाव में कई बेहद दिलचस्प नाम की पार्टियां शामिल हुई थीं. इन्हीं में एक पार्टी का नाम जो आम आदमी पार्टी के नाम से मिलती जुलती थी और यह पार्टी थी गरीब आदमी पार्टी. वैसे गरीब नाम से 2 अन्य दल भी थे गरीब जनता दल (सेकुलर) और गरीब जनशक्ति पार्टी. एक अन्य पार्टी का नाम था द नेशनल रोड मैप पार्टी ऑफ इंडिया. एक और अनोखा नाम था राजनीतिक विकल्प पार्टी. 

ऐसे ही रजिस्टर्ड एक और अनोखा नाम था 'साथी और आपका फैसला पार्टी.'

नेशनल या नेशनलिस्ट नाम की 12 पार्टियां

आइए, अब बात करते हैं ऐसे नामों वाले दलों की जिनकी संख्या ज्यादा थी. कांग्रेस नाम से सिर्फ सोनिया गांधी की अगुवाई वाली कांग्रेस ही नहीं थी बल्कि कुल मिलाकर 6 दल ऐसे थे जिनके नाम में इंडियन नेशनल कांग्रेस शब्द जुड़ा हुआ था. कांग्रेस नाम से 2 दल जिन्हें राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिला हुआ है और वो हैं कांग्रेस और नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP).

चुनाव लड़ने वालों में 12 पार्टियां ऐसी थीं जिनके नाम में नेशनल या नेशनलिस्ट शब्द जुड़ा हुआ था. इसमें सबसे बड़ा नाम इंडियन नेशनल कांग्रेस और नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी का था. नेशनल टाइगर पार्टी और नेशनल यूथ पार्टी, नेशनल टॉरगेट पार्टी 
  
14 दल ऐसे थे जिनके नाम में समाज शब्द जुड़ा हुआ था. इनमें बहुजन समाज पार्टी का नाम सबसे प्रमुख है क्योंकि इसे राष्ट्रीय दल का दर्जा हासिल है. समाजवादी पार्टी दूसरा अहम नाम था. दलित समाज पार्टी, जय हिंद समाज पार्टी, लोकप्रिय समाज पार्टी, लोकतांत्रिक सर्वजन समाज पार्टी, मूलनिवासी समाज पार्टी, प्रगतिशील मगही समाज, राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी, समरस समाज पार्टी, समाजवादी जनता दल डेमोक्रेटिक, शोषित समाज दल, स्वतंत्र समाज पार्टी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी अन्य समाज शब्द वाले दल शामिल थे. 

राष्ट्रीय नाम से 19 दल

अब बात करते हैं इंडिया या इंडियन शब्द वाले ऐसे दल जिन्होंने 2015 बिहार चुनाव में भाग लिया, इनमें इंडियन नेशनल कांग्रेस के अलावा कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) 3 राष्ट्रीय स्तर की पार्टियां थीं. ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक, एआईएमईआईएम, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, न्यू ऑल इंडिया कांग्रेस पार्टी, ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक (सुभाषवादी) और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी-लेनिन, लिबरेशन) समेत 18 दल ऐसे थे जिनके नाम में इंडिया या इंडियन शब्द जुड़ा हुआ था.

आइए, अब बात दूसरे सबसे ज्यादा एक शब्द वाली पार्टी की और यह शब्द है राष्ट्रीय. राष्ट्रीय नाम से कुल 19 दलों ने चुनाव में किस्मत आजमाई और इसी नाम से जुड़ी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल 2015 के चुनाव में जीत के आधार पर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. वैसे तो राष्ट्रीय दल का दर्जा हासिल करने वाले 6 दलों में से किसी भी दल के नाम में राष्ट्रीय शब्द जुड़ा नहीं था. हालांकि राज्य में राज्य स्तरीय 2 दलों के नाम राष्ट्रीय शब्द से जुड़े थे और ये नाम थे राष्ट्रीय जनता दल और राष्ट्रीय लोक जन समता पार्टी.

इनके अलावा चुनाव में कुछ अन्य राष्ट्रीय नाम से शामिल दल थे, आम जनता पार्टी राष्ट्रीय, भारतीय लोकमत राष्ट्रवादी पार्टी, जनता दल राष्ट्रवादी, राष्ट्रीय अहिंसा मंच, राष्ट्रीय इंसाफ पार्टी, राष्ट्रीय जनक्रांति पार्टी, राष्ट्रीय गरीब दल, राष्ट्रीय जन जागरम मंच, राष्ट्रीय जन जन पार्टी, राष्ट्रीय जनविकास पार्टी (डेमोक्रेटिक), राष्ट्रीय जागृति पार्टी, राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी, राष्ट्रीय महान गणतंत्र पार्टी, राष्ट्रीय प्रगति पार्टी और राष्ट्रीय सदाबहार पार्टी ऐसे प्रमुख नाम थे.

भारत ने मारी बाजी 

सबसे ज्यादा 'भारत या भारतीय शब्द के नाम वाले दलों ने इस चुनाव में किस्मत आजमाई थी. 'भारत या भारतीय' शब्द से जुड़े 1, 2 नहीं बल्कि 30 दलों के नाम थे. इनमें सबसे बड़ा नाम था भारतीय जनता पार्टी. शेष 29 दल रजिस्टर्ड पार्टियां थी लेकिन उन्हें मान्यता नहीं मिली थी. 

भारत या भारतीय से जुड़े कुछ अन्य दलों के नाम हैं अखिल भारतयी हिंद क्रांति पार्टी, अखिल भारत हिंदू महासभा, अखिल भारतीय जनसंघ, अखिल भारतीय राजआर्य सभा, अखिल भारतीय मिथिला पार्टी, अतुल्य भारत पार्टी, भारतीय जागरण पार्टी, भारतीय बहुजन कांग्रेस, भारत भ्रष्टाचार मिटाओ पार्टी, भारतीय देशभक्त पार्टी, भारतीय एकता दल, बिहार जनता पार्टी और भारतीय मित्र पार्टी. 

एक बार चुनाव की बिसात बिछ चुकी है और पहले दौर के नामांकन दाखिल की प्रक्रिया खत्म हो चुकी है. इस बार 3 दौर में होने वाली चुनावी प्रक्रिया 10 नवंबर को खत्म होगी. तब पता चलेगा कि इस बार किस शब्द और नाम के साथ कितने दलों ने चुनाव में हिस्सा लिया. साथ ही पता चलेगा कि इस बार बाजी 'राष्ट्रीय' मारता है या फिर 'इंडिया' या फिर 'नेशनल.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें