scorecardresearch
 

क्या Mamata Banerjee का पारंपरिक वोट बैंक इस बार भी देगा उनका साथ? देखिए रिपोर्ट

क्या Mamata Banerjee का पारंपरिक वोट बैंक इस बार भी देगा उनका साथ? देखिए रिपोर्ट

ममता बनर्जी की सरकार बनने के पीछे हमेशा से मुस्लिम वोटरों की निर्णायक भूमिका होती रही है. लेकिन अब असदुद्दीन ओवैसी के बंगाल चुनाव में उतरने और फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दकी के कांग्रेस और लेफ्ट के साथ जाने बाद अब यह सवाल उठने लगा है कि क्या मुस्लिम वोटर्स पूरी तरह से ममता के साथ है. इसी सिलसिले में उन्होंने बंगाल के मुसलमान मतदाताओं से टीएमसी के पक्ष में एकजुटता दिखाने की अपील की है. ममता बनर्जी के इस अपील से मुस्लिम मतदाताओं पर कितना होगा असर, क्या वह वोटों के बिखराव को रोक पाएंगी. देखें वीडियो.

Muslim voters have always played a decisive role behind Mamata Banerjee's government. But now, with Asaduddin Owaisi entering the Bengal election and Pirzada Abbas Siddiqui joining the Congress and the Left, the question arises that whether this time the traditional vote bank will support Mamata Banerjee? In this connection, she appealed to Muslim voters of Bengal to show solidarity in favour of TMC. Watch video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें