scorecardresearch
 

बंगाल में हिंसा का 'खेला', बर्दवान में भिड़े बीजेपी-TMC कार्यकर्ता, तीन की मौत

पश्चिम बंगाल में नतीजे आने के बाद से ही हिंसा का दौर भी शुरू हो गया है. पुलिस ने बताया कि सोमवार को बर्दवान जिले में टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई. इसमें टीएमसी के तीन कार्यकर्ताओं की मौत हो गई.

कल से अब तक बंगाल में कई लोगों की जान जा चुकी है. (प्रतीकात्मक तस्वीर) कल से अब तक बंगाल में कई लोगों की जान जा चुकी है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इस झड़प में तीन की मौत, दो घायल
  • जान गंवाने वाले तीनों टीएमसी कार्यकर्ता
  • हिंसा में अब तक कई लोगों की जान गई

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे आते ही हिंसा का दौर शुरू हो गया है. सोमवार को बर्दवान जिले में बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हो गई. इस झड़प में तीन लोगों की मौत हो गई और दो घायल हैं. पुलिस ने बताया कि जान गंवाने वाले सभी टीएमसी के कार्यकर्ता हैं.

पुलिस ने बताया कि सोमवार शाम को बर्दवान जिले में बीजेपी और टीएमसी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. इस भिड़ंत में तीन की मौत हो गई और दो लोग घायल हो गए. पुलिस के मुताबिक, इस झड़प में जान गंवाने वाले और घायल वाले, सभी लोग टीएमसी के कार्यकर्ता हैं. 

इस बीच हुगली के खानाकुल में भी टीएमसी के एक कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. टीएमसी ने बीजेपी पर हत्या का आरोप लगाया है. जान गंवाने वाले टीएमसी कार्यकर्ता का नाम देबु प्रमाणिक है, जो खानाकुल में ही रहता था.

वहीं, बीजेपी ने भी शाम को हिंसा में मारे गए अपने 6 कार्यकर्ताओं के नाम जारी किए. बीजेपी का कहना है कि पिछले 24 घंटे में उसके 6 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई. बीजेपी ने बताया कि जगद्दाल में शोवा रानी मंडल, रानाघाट में उत्तम घोष, बेलेघाटा में अभिजीत सरकार, सोनारपुर दक्षिण में होरोम अधिकारी, सितलकुची में मोमिक मोइत्रा और बोलपुर में गौरव सरकार की हत्या हुई है. इसी बीच 4 और 5 मई को बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा बंगाल का दौरा करेंगे. इस दौरान वो हिंसा में मारे गए कार्यकर्ताओं के परिजनों से मुलाकात करेंगे. सूत्रों की मानें तो जेपी नड्डा कोलकाता और आसपास के उन जिलों का दौरा करेंगे जहां बीजेपी दफ्तरों पर हमला किया गया है और कार्यकर्ता मारे गए हैं. 

हालांकि, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया है कि कल से अब तक हिंसा में उनके 9 कार्यकर्ता मारे गए हैं. उन्होंने ट्वीट कर रहा कि जीत के बाद ममताजी के कार्यकर्ता जश्न मना रहे हैं और बीजेपी कार्यकर्ताओं के घर तोड़ रहे हैं. उन्होंने ये भी दावा किया कि नंदीग्राम में भी टीएमसी ने बीजेपी दफ्तर और कार्यकर्ताओं पर हमला किया.

रविवार को नतीजे आते ही बंगाल में जगह-जगह से हिंसा की खबरें आने लगी हैं. इस मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है. सूत्रों से पता चला है कि बंगाल के गवर्नर जगदीप धनकड़ चुनाव के बाद हो रही हिंसा को लेकर सीनियर अधिकारियों को तलब कर सकते हैं. इससे पहले हिंसा को लेकर बीजेपी बंगाल के अध्यक्ष दिलीप घोष ने राज्यपाल से मुलाकात भी की.

चुनाव के बाद भड़की हिंसा में अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है. सोमवार को ही बेलेघाटा के बीजेपी कार्यकर्ता अभिजीत सरकार की पत्थरों से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. बीजेपी ने टीएमसी पर इस हत्या का आरोप लगाया है. 

इससे पहले कोलकाता में बीजेपी की स्टूडेंट्स यूनियन एबीवीपी के ऑफिस पर भी हमला हुआ. एबीवीपी ने इसके लिए टीएमसी पर आरोप लगाया है. एबीवीपी का कहना है कि 20 से ज्यादा टीएमसी के गुंडे ऑफिस में घुस आए और तोड़फोड़ शुरू कर दी. 

बंगाल में कल से लेकर हिंसा में कई लोगों की मौत हो चुकी है. दक्षिण 24 परगना और नदिया जिले में बीजेपी कार्यकर्ता की मौत हो चुकी है. वर्दमान में टीएमसी कार्यकर्ता जान गंवा चुके हैं. वहीं, उत्तर 34 परगना में इंडियन सेक्युलर फ्रंट के एक कार्यकर्ता की भी जान जा चुकी है.

बंगाल की 292 विधानसभा सीटों के नतीजे रविवार को आ गए. चुनावों में सीएम ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी ने 213 सीटें हासिल की हैं. हालांकि, ममता बनर्जी खुद नंदीग्राम से बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी से करीब दो हजार वोटों से हार गईं. वहीं, बीजेपी ने 77 सीटों पर जीत दर्ज की है. अन्य के खाते में दो सीटें आई हैं. लेफ्ट और कांग्रेस का तो सूपड़ा साफ हो गया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें