scorecardresearch
 

ममता बनर्जी चुनी गईं विधायक दल की नेता, 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ

ममता बनर्जी ने कहा कि हम एक साधारण शपथ ग्रहण का कार्यक्रम रखेंगे. उन्होंने कहा कि जब तक कोरोना की लड़ाई से देश जीत नहीं जाता, हम किसी भी प्रकार का जश्न नहीं मनाएंगे.  

ममता बनर्जी (फाइल फोटो) ममता बनर्जी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शपथ ग्रहण का कार्यक्रम साधारण रखा जाएगा
  • बंगाल की जनता शांति बनाए रखे: ममता

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस को प्रचंड बहुमत हासिल हुआ है. यही नहीं ममता की इस हैट्रिक के बाद उन्होंने साबित कर दिया है कि भारत में विपक्षी खेमे में उनकी टक्कर का कोई नेता फिलहाल नहीं है. वहीं TMC मीटिंग में भी सभी की सर्वसम्मति से ममता बनर्जी को विधायक दल का नेता चुना गया है. जिसके बाद खबर आ रही है कि ममता, आगामी 5 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगी. इसके अलावा अन्य लोगों का शपथ ग्रहण 6 मई को होगा. शपथ समारोह को लेकर ममता का कहना है कि हम एक साधारण शपथ ग्रहण का कार्यक्रम रखेंगे. उन्होंने कहा कि जब तक कोरोना की लड़ाई से देश जीत नहीं जाता, हम किसी भी प्रकार का जश्न नहीं मनाएंगे.
  

इसी बीच ममता शाम 7 बजे राज्यपाल से मिलने के लिए गवर्नर हाउस पहुंचीं. वहीं इससे पहले अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी पार्टी दफ्तर पर अटैक को लेकर ममता ने कहा कि मुझे हिंसा पसंद नहीं. वो लोग पुरानी तस्वीरें दिखा रहे हैं. लेकिन मुझे यह समझ नहीं आ रहा है कि बीजेपी ऐसा क्यों कर रही है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि हम जानते हैं बीजेपी और केन्द्रीय बलों ने हमें परेशान करने में कोई कसर नहीं रखी, लेकिन मैं सभी बंगाल के निवासियों से शांति की अपील करती हूं. 

ममता ने कहा कि बीजेपी कोई शहंशाह नहीं है. हम 24 घंटे काम करते हैं और अपनी जनता से जुड़े रहते हैं. उन्होंने कहा कि हमने विनाश के रस्ते को रोका है. बंगाल की जनता ने रोका है. ममता ने अपनी जीत का क्रेडिट युवाओं और महिलाओं को दिया. नंदीग्राम में काउंटिंग के मामले को लेकर ममता ने कहा कि पार्टी इस बारे में विचार कर रही है. उन्होंने कहा कि मुझे कई तरह के मैसेज आ रहे हैं. कुछ मैसेज ऐसे हैं जिनके मुताबिक अगर मैं रीकाउंटिंग की बात करती हूं तो मेरी जान को खतरा है. 

वहीं वैक्सीन को लेकर ममता ने कहा कि हमने केंद्र से 3 करोड़ वैक्सीन की मांग की थी, लेकिन उन्होंने अनुमति नहीं दी. उन्होंने कहा कि केंद्र दो से तीन राज्यों को अधिक से अधिक वैक्सीन दे रहे हैं. इसके अलावा लेफ्ट को लेकर आने वाले नतीजों पर ममता ने कहा कि उन्होंने बीजेपी का काफी फेवर किया और उनका सूपड़ा साफ हो गया.  

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें