scorecardresearch
 

गुजरात से क्या था रवींद्र नाथ टैगोर का खास कनेक्शन? पीएम मोदी ने बताया

बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले विश्व भारती यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में पीएम मोदी ने अपना संबोधन दिया. इस दौरान उन्होंने रवींद्र नाथ टैगोर का गुजरात से खास कनेक्शन बताया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विश्व भारती यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में पीएम का संबोधन
  • रवींद्र नाथ टैगोर के गुजरात कनेक्शन की दी जानकारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को पश्चिम बंगाल की विश्वभारती यूनिवर्सिटी के शताब्दी कार्यक्रम में हिस्सा लिया. पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले हुए पीएम के संबोधन पर हर किसी की निगाहें थीं. इस दौरान पीएम मोदी ने गुरुदेव रवींद्र नाथ टैगोर की जमकर तारीफ की, उनके संदेशों पर चर्चा की और उनका गुजरात से खास कनेक्शन भी बताया.

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि गुरुदेव रवींद्र नाथ टैगोर के बड़े भाई सत्येंद्र नाथ टैगोर की नौकरी के दौरान गुजरात में नियुक्ति हुई थी. तब रवींद्र नाथ टैगोर उनसे मिलने अहमदाबाद में आते थे, वहां पर ही उन्होंने अपनी दो कविताओं को लिखा था. 

पीएम मोदी ने बताया कि गुजरात की बेटी भी गुरुदेव के घर बहू बनकर आई थी. सत्येंद्र नाथ टैगोर की पत्नी ज्ञानेंद्री देवी जब अहमदाबाद में रहती थीं, तब उन्होंने देखा कि वहां महिलाएं साड़ी का पल्लू दाईं ओर रखती थीं, तब उन्होंने बाएं कंधे पर साड़ी का पल्लू रखने की सलाह दी जो अबतक जारी है.

देखें: आजतक LIVE TV


पीएम मोदी पर भड़की टीएमसी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन के तुरंत बाद तृणमूल कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. TMC की ओर से कहा गया कि पीएम मोदी बार-बार रवींद्र नाथ टैगोर के गुजरात कनेक्शन की क्यों बात कर रहे हैं. टैगोर ने हमेशा ऐसे राष्ट्रवाद का विरोध किया, जो हिंसा को बढ़ावा देता हो.

बंगाल सरकार में मंत्री बी. बासु ने कहा कि पीएम मोदी ने जाधवपुर यूनिवर्सिटी का जिक्र नहीं किया और लगातार बंगाल को नीचा दिखाने की कोशिश की. टीएमसी ने कहा कि अगर आज टैगोर जिंदा होते तो उन्हें भी उसी प्रकार निशाने पर लिया जाते, जैसे ममता बनर्जी को लिया जाता है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें