scorecardresearch
 

बंगालः रोड शो के बाद वैन ड्राइवर के यहां लंच करने पहुंचे अमित शाह, जानें क्या चाहता है परिवार

गृह मंत्री अमित शाह आज पश्चिम बंगाल में हैं. उनके चार रोड शो हैं. एक रोड शो डोमजुर में भी था, जो खत्म हो चुका है. यहां से अमित शाह अब वैन ड्राइवर के घर लंच पर पहुंचे हैं. उनके परिवार ने बताया कि वो अमित शाह से क्या चाहते हैं.

इसी घर में लंच करेंगे शाह. यहां खाना बनाने की तैयारियां चल रही हैं इसी घर में लंच करेंगे शाह. यहां खाना बनाने की तैयारियां चल रही हैं
स्टोरी हाइलाइट्स
  • डोमजुर में रोड शो के बाद लंच करने पहुंचे शाह
  • वैन ड्राइवर शिशिर साना के यहां कर रहे हैं लंच
  • मेनू में कई तरह की सब्जी, मिठाई शामिल है

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के चौथे फेज के लिए प्रचार तेज हो गया है. गृह मंत्री अमित शाह आज पश्चिम बंगाल में चार रोड शो कर रहे हैं. अमित शाह के सिंगूर, डोमजुर, हावड़ा और बेहाला पुर्वा में रोड शो हैं, जिसमें से सिंगूर का रोड शो हो चुका है. अमित शाह डोमजुर में रोड शो करने के बाद वैन ड्राइवर के घर लंच करने पहुंचे हैं.

अमित शाह वैन ड्राइवर शिशिर साना के घर लंच करने पहुंचे हैं. शिशिर वैन चलाकर ही अपने परिवार का पेट पालते हैं. गृह मंत्री के आने से पहले शिशिर की मां से जब पूछा गया कि आज आपके यहां खाने पर गृह मंत्री अमित शाह आ रहे हैं, क्या आप उनके सामने कोई मांग रखेंगी? तो उन्होंने कहा कि मेरा बेटा पढ़ा-लिखा नहीं है. अगर उसके लिए कुछ हो जाता तो मेरे लिए बहुत ही बेहतर होता. बता दें कि जिस परिवार में अमित शाह आज लंच करने जा रहे हैं वो परिवार बहुत ही गरीब है. घर भी काफी बुरी हालत में है. शिशिर की मां सिर्फ बंगाली ही बोल पाती हैं.

मेनू में क्या-क्या है?

हावड़ा के डोमजुर इलाके में चमरेल जगह पर रहने वाले शिशिर के घर पर जब आजतक की टीम पहुंची तो वहां खाना बनाया जा रहा था. शिशिर की मां सुमित्रा साना ने बताया कि अमित शाह के लंच में आज दाल-चावल, रोटी, लौकी की सब्जी, लाल साग, भिंडी-आलू की सब्जी, कटहल की सब्जी, चटनी, पापड़, मिठाई और दही रहेगा. ये सभी बंगाली वेज आइटम हैं.

बंगाल में अब 5 फेज की वोटिंग बची
बंगाल की 294 सीटों के लिए 8 फेज में वोटिंग होनी है. पहले फेज की वोटिंग 27 मार्च, दूसरे फेज की वोटिंग 1 अप्रैल और तीसरे फेज की वोटिंग 6 अप्रैल को हो चुकी है. अब 5 फेज की वोटिंग बाकी है. चौथे फेज में 44 सीटों के लिए 10 अप्रैल को वोटिंग होगी. 2016 के चुनाव में टीएमसी ने यहां की 211 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी. 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यहां की 42 में से 18 सीटें जीती थीं. इसलिए इस बार भाजपा और टीएमसी के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिल रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें