scorecardresearch
 

पश्चिम बंगाल: BJP प्रत्याशी पायल सरकार के ​काफिले पर हमला, TMC समर्थकों पर आरोप

पश्चिम बंगाल के चुनावी महासंग्राम में जुबानी जंग के साथ हिंसा भी देखने को मिल रही है. ताजा मामले में बीजेपी प्रत्याशी के काफिले पर हमला किए जाने की खबर मिली है. इस मामले में अभी तक बीजेपी द्वारा कोई बयान जारी नहीं किया गया है.   

BJP प्रत्याशी पायल सरकार के ​काफिले पर हमला (Photo: Prema Rajaram) BJP प्रत्याशी पायल सरकार के ​काफिले पर हमला (Photo: Prema Rajaram)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दक्षिण 24-परगना जिले की घटना 
  • बीजेपी समर्थक हुए हमले में चोटिल
  • चुनाव प्रचार के दौरान हुआ हमला 
  • टीएमसी समर्थकों पर हमले का आरोप

पश्चिम बंगाल में दूसरे चरण के मतदान के बाद तीसरे चरण के लिए प्रत्याशियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. चुनावी महासंग्राम के इस रण में जहां जुबानी तीर चल रहे हैं, तो आज बड़ी खबर पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24-परगना जिले के  ठाकुरपुकुर इलाके की है. यहां चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी प्रत्याशी पायल सरकार के काफिले पर हमला किया गया. कथित तौर पर आरोप लगाया गया कि हमलावर टीएमसी समर्थक थे. इस हमले में बीजेपी समर्थकों को चोटें भी आई हैं.  

पश्चिम बंगाल की बेहला पूर्व से बीजेपी ने पायल सरकार को चुनाव मैदान में उतारा है. नेता से अभिनेता बनीं पायल सरकार इस चुनाव को लेकर काफी उत्साहित हैं. उनके द्वारा दिन-रात एक कर जनता से समर्थन जुटाने के लिए क्षेत्र में प्रचार किया जा रहा है. ऐसे में रविवार को जब प्रचार चल रहा था, ​तब कथित तौर पर टीएमसी समर्थकों द्वारा उनके काफिले पर हमला किया गया.

इस हमले में काफिले में शामिल ​बीजेपी कार्यकर्ताओं को चोटें आई हैं. इस हमले के बाद बीजेपी प्रत्याशी कार्यकर्ताओं को संभालते हुए नजर आईं. चोटिल हुए कार्यकर्ताओं को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया है. वहीं बीजेपी द्वारा इस मामले में अभी कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है. वहीं इस घटना के बाद ठाकुरपुकुर इलाके में तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है. 

बता दें कि अभिनेता से नेता बनीं पायल सरकार इसी वर्ष फरवरी में बीजेपी में शामिल हुई थीं. बीजेपी में शामिल होने के फैसले के बारे में पूछे जाने पर पायल सरकार ने कहा, “मुझे राजनीति में दिलचस्पी रही है, लेकिन कभी भी इसमें सक्रिय रूप से भाग नहीं लिया. भाजपा में शामिल होने के पीछे का कारण सिर्फ यह है. क्योंकि मैं भाजपा की विचारधारा से प्रभावित हूं.”

बता दें कि पायल सरकार उन पांच भाजपा नेताओं में शामिल थीं, जिन्हें इस साल मार्च में गृह मंत्रालय द्वारा CISF सुरक्षा कवच प्रदान किया गया. पायल सरकार को केंद्र सरकार द्वारा ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई. पायल सरकार को तृणमूल कांग्रेस के रत्न चटर्जी के खिलाफ खड़ा किया गया है. (Input-Prema Rajaram)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें