scorecardresearch
 

बंगाल: अमित शाह का ममता पर निशाना, कहा- कोच बिहार की हिंसा दीदी के भाषण का नतीजा

अमित शाह ने कहा कि बंगाल के चुनाव में एक बहुत ही दुखद घटना हुई. कल सीआरपीएफ के असलहे छीनने का प्रयास किया गया जिसमें सीएपीएफ को गोली चलानी पड़ी. जिसमें चार लोगों की मौत हो गई. यह एक दुखद घटना है. 

कोच बिहार में हुई हिंसा के मामले पर अमित शाह ने ममता पर निशाना साधा (फाइल फोटो) कोच बिहार में हुई हिंसा के मामले पर अमित शाह ने ममता पर निशाना साधा (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमित शाह ने कोच बिहार घटना पर जताया दुख
  • 'आनंद बर्मन की मौत पर भी दुख व्यक्त करें ममता'
  • शेष 4 चरण में भी शांतिपूर्ण तरीके से मतदान करेंः शाह

पश्चिम बंगाल में चुनावी रैली के लिए पहुंचे अमित शाह ने कोच बिहार में हुई हिंसा को लेकर ममता बनर्जी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि कोच बिहार की हिंसा ममता दीदी के भाषण का नतीजा है. उन्हें बंगाल की जनता से माफी मांगनी चाहिए.

अमित शाह ने आज रविवार को कहा कि बंगाल के चुनाव में एक बहुत ही दुखद घटना हुई. कल सीआरपीएफ के असलहे छीनने का प्रयास किया गया जिसमें सीएपीएफ को गोली चलानी पड़ी. इस फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई. यह एक दुखद घटना है. जिसका हमे अफसोस है. मैंने ममता बनर्जी के बयान सुने. उसी बूथ पर एक युवक आनंद बर्मन हत्या हुई. लेकिन ममता बनर्जी ने उनकी मौत पर कोई अफसोस या दुख नहीं व्यक्त किया.

उन्होंने कहा कि हम उन चार लोगों की मौत पर भी दुख प्रकट करते हैं, और आनंद बर्मन की मौत पर भी दुख प्रकट करते हैं. मैं कहना चाहता हूं कि ममता बनर्जी मौत को भी तुष्टिकरण की नजर से न देखें. आनंद बर्मन की मौत पर भी दुख व्यक्त करें.

वाम दल और टीएमसी पर साधा निशाना

नदिया में अमित शाह ने सीपीआई और टीएमसी पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगाल में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान हुए हैं. कुछ जगहों पर हिंसा की घटना सामने आई है लेकिन राज्य में शांतिपूर्ण चुनाव नई शुरुआत है. पहले वामदल और फिर टीएमसी ने बंगाल में राजनीति हिंसा को बढ़ावा दिया है. बंगाल इससे बाहर आ रहा है.

शांतिपूर्ण चुनाव की अपील

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि बंगाल के लोगों से निवेदन है कि बाकी के चार चरण में भी शांतिपूर्ण तरीके से मतदान करें. अपने पसंदीदा प्रत्याशी को जिताएं. दो मई के बाद जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी तो बंगाल में चुनावी हिंसा और राजनीतिक हिंसा हमेशा के लिए छोड़कर चली जाएगी. मैं सभी से अपील करता हूं कि चुनाव आयोग के बनाए हुए नियमों का पालन करें. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें