scorecardresearch
 

बंगाल: ममता सरकार को बड़ा झटका, शुभेंदु अधिकारी ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा

तृणमूल कांग्रेस के नेता शुभेंदु अधिकारी ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. लंबे वक्त से उन्होंने बगावती तेवर अपनाए हुए हैं और उनके भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के कयास लगाए जा रहे हैं.

शुभेंदु अधिकारी ने मंत्री पद छोड़ा शुभेंदु अधिकारी ने मंत्री पद छोड़ा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बंगाल चुनाव से पहले ममता सरकार को झटका
  • शुभेंदु अधिकारी ने मंत्री पद से इस्तीफा दिया
  • काफी दिनों से अपनाए हैं बगावती तेवर

पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सियासी हलचल तेज हो गई है. शुक्रवार को ममता बनर्जी की TMC को बड़ा झटका लगा है. पार्टी नेता शुभेंदु अधिकारी ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है, बीते कई दिनों से उन्होंने बगावती रुख अपनाया हुआ था.

आपको बता दें कि शुभेंदु अधिकारी ममता सरकार में परिवहन मंत्री के पद पर तैनात थे और बंगाल की राजनीति में बड़ा रुतबा रखते हैं. लेकिन बीते कुछ दिनों से उनके भारतीय जनता पार्टी में जाने की अटकलें तेज थीं, इस बीच आज मंत्री पद से इस्तीफे की खबर आ गई है. मंत्री पद के साथ शुवेंदु अधिकारी ने हल्दिया डेवलेपमेंट अथॉरिटी के पद से भी इस्तीफा दिया है.

गुरुवार को ही शुभेंदु अधिकारी ने पहले हुगली रिवर ब्रिज कमीशन से अपना इस्तीफा सौंपा था और अब मंत्री पद भी त्याग दिया है. ममता बनर्जी को अपना इस्तीफा भेजते हुए शुभेंदु ने लिखा कि मैं मंत्री पद से इस्तीफा देता हूं, मैंने राज्यपाल को इस बारे में जानकारी दे दी है. आपने मुझे राज्य की सेवा करने का मौका दिया, इसके लिए आपका आभार.

देखें: आजतक LIVE TV

आपको बता दें कि बंगाल में होने वाले चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी राज्य में एक्टिव हो गई है. बीजेपी का दावा है कि बड़ी संख्या में टीएमसी के नेता, कार्यकर्ता उनके साथ आना चाहते हैं. ऐसे में शुभेंदु अधिकारी के इस्तीफे को उसी से जोड़कर देखा जा रहा है.

सांसद के तौर पर लो-प्रोफाइल रहे शुभेंदु अपने सांगठनिक कौशल की वजह से TMC में एक वैकल्पिक पावर सेंटर के तौर पर उभरे हैं. दो बार सांसद रह चुके शुभेंदु नंदीग्राम आंदोलन के दौरान सुर्खियों में आए थे.

शुक्रवार को ही टीएमसी के विधायक मिहिर गोस्वामी भारतीय जनता पार्टी में शामिल होंगे. मिहिर दिल्ली में हैं और बीजेपी सांसद निशित की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता लेंगे. बीते मिहिर 1998 से ही टीएमसी के साथ रहे हैं, लेकिन अब उन्होंने पार्टी छोड़कर बीजेपी का दामन थामने की ठानी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें