scorecardresearch
 

बंगाल: लव जिहाद पर बोलीं नुसरत जहां- प्यार निजी मामला, देश में इस तरह कोई हुक्म नहीं चला सकता

तृणमूल कांग्रेस की सांसद और अभिनेत्री नुसरत जहां ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने लव जिहाद, राज्यपाल समेत कई अन्य मसलों पर राय रखी.

टीएमसी सांसद नुसरत जहां (फाइल: PTI) टीएमसी सांसद नुसरत जहां (फाइल: PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लव जिहाद पर बोलीं टीएमसी सांसद नुसरत जहां
  • लव निजी मामला, जिहाद से ना जोड़ें: नुसरत

पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव होना है और उसके लिए अभी से ही राजनीतिक सरगर्मी शुरू हो गई है. तृणमूल कांग्रेस की ओर से अभी से ही आक्रामक प्रचार शुरू कर दिया गया है और भारतीय जनता पार्टी को काउंटर किया जा रहा है. सोमवार को टीएमसी सांसद और अभिनेत्री नुसरत जहां ने पार्टी दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की. 

नुसरत जहां ने इस दौरान लव जिहाद के मसले पर बात की. नुसरत ने कहा कि प्यार निजी मामला होता है और ऐसे में उसके साथ जिहाद नहीं हो सकता है. हम कभी धर्म, जाति के आधार पर किसी को नहीं बांटते हैं, ऐसे में लोगों को ऐसे मुद्दों के बचना चाहिए और धर्म को किसी का हिस्सा नहीं बनाना चाहिए. 

नुसरत ने कहा कि क्या इस तरह के मुद्दे उठाकर लोगों की निजी च्वाइस पर हमला नहीं किया जा सकता है, भारत में कोई इस तरह हुक्म नहीं चला सकता है. गौरतलब है कि लव जिहाद को लेकर बीते कुछ दिनों में काफी बयानबाजी हुई है, कई बीजेपी शासित राज्य इसको लेकर कानून ला रहे हैं. जबकि जहां बीजेपी विपक्ष में है, वहां की सरकार से कानून बनाने की मांग कर रही है.

टीएमसी सांसद ने इस दौरान केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा, उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने हर साल दो करोड़ नौकरी देने का वादा किया था, इस हिसाब से अबतक 12 करोड़ नौकरी मिल जानी चाहिए थी. लेकिन हमें अबतक तो 12 लाख नौकरी भी नहीं दिखती हैं.

देखें: आजतक LIVE TV 


राज्यपाल की ओर से लगातार हो रही बयानबाजी पर नुसरत जहां ने कहा कि राज्य सरकार चुनकर आई है, जबकि राज्यपाल को नियुक्त किया गया है. ऐसे में उनके पास सरकार के खिलाफ एक्शन लेने का अधिकार नहीं है. राजभवन सिर्फ बीजेपी प्रवक्ता का दफ्तर बन गया है. 

टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने कहा कि हमने अपने कार्यकाल में युवाओं को नौकरी देने का काम किया और उनके लिए अवसर पैदा किए. राज्य में यूनिवर्सिटी की संख्या को बढ़ाया गया है, साथ ही स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी को भी जोड़ा गया है. राज्य सरकार के कार्यकाल में अगले तीन साल में 35 लाख से अधिक नौकरियां दी जाएंगी. 

गौरतलब है कि बंगाल में मई 2021 के आसपास चुनाव होना है. बीजेपी की ओर से लगातार प्रचार किया जा रहा है और बड़े नेता बंगाल में डेरा डाल रहे हैं. जवाब में टीएमसी ने भी अब आक्रामक रुख अपनाया, सोमवार को ममता बनर्जी ने भी कहा कि बंगाल में उनकी पार्टी ही दोबारा सत्ता में आएगी. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें