scorecardresearch
 

असम के इस बूथ पर गड़बड़ी, वोटर लिस्ट में 90 मतदाता, लेकिन पड़े 171 वोट

असम के दूसरे चरण के दौरान दीमा हसाओ जिले में एक मतदान केंद्र में गड़बड़ी की बात सामने आ रही है. बताया जा रहा है कि इस पोलिंग बूथ पर सिर्फ 90 मतदाता हैं जबकि यहां मतदान के दौरान 171 वोट पड़े हैं.

असम विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में गड़बड़ी पाई गयी है (सांकेतिक तस्वीर) असम विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में गड़बड़ी पाई गयी है (सांकेतिक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 90 मतदाताओं के केंद्र पर पड़े 171 वोट
  • पांच अधिकारी निलंबित

असम विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में गड़बड़ी सामने आई है. हाल ही में एक बीजेपी नेता की गाड़ी में ईवीएम मिलने पर काफी हंगामा हुआ था वहीं अब एक 90 मतदाताओं वाले बूथ पर 171 वोट पड़ने की खबर आ रही है. इस खबर के सामने आते ही चुनाव अधिकारियों में भी हड़कंप मचा हुआ है, जानकारी के मुताबिक पांच अफसरों को निलंबित कर दिया गया है.  

असम के दूसरे चरण के दौरान दीमा हसाओ जिले में एक मतदान केंद्र में गड़बड़ी की बात सामने आ रही है. बताया जा रहा है कि इस पोलिंग बूथ पर सिर्फ 90 मतदाता हैं जबकि यहां मतदान के दौरान 171 वोट पड़े हैं. यह मतदान केंद्र हाफलोंग विधानसभा में आता है. 74 प्रतिशत का मतदान प्रतिशत दर्ज करने वाले इस केंद्र की खबर सामने आने पर पांच मतदान अधिकारीयों को निलंबित कर दिया गया है. वहीं इस पोलिंग बूथ पर अब दोबारा से मतदान होने की बात चल रही है. 

खबर है कि गड़बड़ी की जानकारी मिलते ही दीमा हसाओ के पुलिस उपायुक्त सह जिला निर्वाचन अधिकारी पॉल बरुआ ने दो अप्रैल को हो निलंबन के आदेश दे दिए थे. यह मामला सोमवार को सामने आया है. अधिकारियों ने बताया है कि इस मतदान केंद्र पर सिर्फ 90 मतदाताओं के नाम ही लिस्ट में हैं, लेकिन यहां 171 वोट पड़ गए. हालांकि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं. 

रिपोर्ट्स का कहना है कि गांव के प्रधान ने आयोग की वोटर लिस्ट को मानने से इनकार कर दिया वहीं वह अपनी एक लिस्ट लेकर आया जिसके तहत लोगों ने अपना मतदान किया. ऐसे में जांच के आदेश दे दिए गए हैं कि मतदान बूथ पर सुरक्षा वगैरह को भी जांचा जाए. साथ ही प्रधान को ऐसा क्यों करने दिया गया इस सवाल को भी पता लगाएं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें