scorecardresearch
 

...इस राष्ट्रपति ने रखी थी जामिया की नींव

वह पहले मुसलमान राष्ट्रपति थे, जिन्होंने जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय की नींव रखी. जानें उनके बारे में. 

Dr. Zakir Hussain Dr. Zakir Hussain

जाकिर हुसैन भारत के तीसरे राष्ट्रपति थे. जिनका कार्यकाल 13 मई 1967 से 3 मई 1968 तक रहा. आज ही के दिन जाकिर हुसैन का इंतकाल हुआ. वह भारत के पहले राष्ट्रपति थे जिनकी मौत ऑफिस में हुई. जानते हैं उनकी जिंदगी के अहम पहलू के बारे में.

1. डॉ. जाकिर हुसैन का जन्म 8 फरवरी, 1897 में हैदराबाद, आंध्र प्रदेश के धनाढ्य पठान परिवार में हुआ था.

2. कुछ समय बाद उनके पिता उत्तर प्रदेश में रहने आ गये थे. केवल 23 साल की उम्र में वे 'जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय' की स्थापना दल के सदस्य बने.

ऐसा कलाकार जिसने न्यूड तस्वीर बनाकर भी बनाई हर घर में जगह

3. जाकिर हुसैन भारत के तीसरे राष्ट्रपति और प्रमुख शिक्षाविद थे.

4. वह अर्थशास्त्र में पीएच. डी की डिग्री के लिए जर्मनी के बर्लिन विश्वविद्यालय गए और वहां से लौट कर जामिया के वाइस चांसलर का पद संभाला.

कॉस्‍ट्यूम‍ डिजाइन में इनका कोई तोड़ नहीं, दिलाया देश को पहला OSCAR

5. उन्होंने 1920 में अलीगढ़ में जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय की नींव रखी जो बाद में दिल्ली आ गया.

6. डॉ. जाकिर हुसैन भारत के राष्ट्रपति बनने वाले पहले मुसलमान थे. उन्होंने देश के युवाओं से सरकारी संस्थानों का बहिष्कार कर गांधी की अपील का हुसैन ने पालन किया.

7. साल 1963 में उन्हें भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'भारत रत्न' से नवाजा गया .

8. डॉ. जाकिर हुसैन के पूरे जीवन काल को 'दा फिलॉस्फर प्रेसिडेंट स्पीक्स' पुस्तक के जरिए व्यक्त किया गया है.

...जब करियर बीच में छोड़ 'सेक्सी संन्यासी' बन गए थे विनोद खन्ना

9. भारत के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के दो साल के बाद ही 3 मई, 1969 को डॉ. जाकिर हुसैन का निधन हो गया. उन्हें नई दिल्ली में जामिया मिलिया इस्लामिया (केन्द्रीय विश्वविद्यालय ) के परिसर में दफनाया गया.

10. वह हमेशा एक बात कहते थे. 'मैं मजबूती से इस सच के साथ खड़ा हूं, कि तालीम से ही राष्ट्र के उद्देश्य पूरे किए जा सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें